यूसुफ पठान के बारे में 17 दिलचस्प तथ्य – द पावर हिटर

17 facts to know about Yusuf Pathan in Hindi

एक समय था जब दोनों पठान भाई युवा खिलाड़ियों की एक पूरी पीढ़ी को प्रेरित करते थे। दोनों में बड़े यूसुफ, एक हमलावर बल्लेबाज़ थे। इरफान अपनी स्विंग गेंदबाजी के साथ बल्लेबाजों को परेशान करने पर ध्यान देते थे। यूसुफ का गेंदबाजों के प्रति हमेशा क्रूर रवैया रहता था। वह अपनी हार्ड हिटिंग क्षमताओं के लिए जाने जाते थे और वास्तव में उन्होंने अपने दिनों में गेंदबाज़ों के काफी छक्के छुड़ाए हैं।

यहां युसूफ के बारे में कुछ तथ्य दिए गए हैं

1. प्रारंभिक दिन:

यूसुफ पठान 17 नवंबर 1982 को पठान परिवार में पैदा हुए थे। गुजरात से वास्ता रखने वाले पठान, पश्तून (पठान) वंश के थे। उनके पिता महमूद खान पठान ने म्यूज़ीन के रूप में सेवा की। यद्यपि उनके माता-पिता चाहते थे कि वे इस्लामिक विद्वान बन जाएं, लेकिन यूसुफ पठान और उनके भाई ने क्रिकेट में रुचि ली।

2. प्रशिक्षण:

सफलता कभी आसान नहीं होती है। यूसुफ पठान भी उसी का एक उदाहरण हैं। उन्होंने प्रत्येक दिन 6 घंटे के कठोर प्रशिक्षण में भाग लिया और फिर पूर्व भारतीय कप्तान दत्ता गायकवाड़ के मार्गदर्शन में प्रशिक्षण भी प्राप्त किया। 2001-2002 सीज़न में उन्होंने प्रथम श्रेणी करियर की शुरुआत की।

3. करियर:

यूसुफ पठान के छोटे भाई, इरफान ने विशाल छलांग लगाई और उन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर काफी नाम कमाया और उनके नाम एक हैट-ट्रिक भी दर्ज है। यूसुफ पठान ने हालांकि धीरे धीरे प्रगति की। यूसुफ पठान ने 2007 के देवधर ट्रॉफी में अपने शानदार प्रदर्शन से चयनकर्ताओं को प्रभावित किया, जिसके कारण वह 2007 में टी20 विश्व कप के उद्घाटन संस्करण में भारतीय टीम में शामिल हो गए। यूसुफ पठान ने 10 जून 2008 को ढाका में पाकिस्तान के खिलाफ भारत के लिए अपने एकदिवसीय करियर की शुरुआत की। यूसुफ पठान टेस्ट कैप हासिल करने में अभी तक कामयाब नहीं हो पाए हैं।

4. एक अनदेखा पदार्पण:

बहुत से लोगों ने नहीं गौर किया लेकिन यूसुफ पठान ने 2007 में पाकिस्तान के खिलाफ टी20 विश्वकप के फाइनल में अपना पदार्पण किया था। यूसुफ पठान ने 15 रनों की पारी खेली और एक विशाल छक्का भी मारा।

5. जब पठान भाइयों ने जीत दिलायी:

2009 में श्रीलंका के खिलाफ एक टी20 मैच में भारत हार की कगार पर आ गया था, जब पठान भाइयों ने एक यादगार जीत हासिल कराने के लिए हाथ मिला लिया। भारत जीत के लिए चुनौतीपूर्ण 172 रनों का पीछा कर रहा था और भारत 115-7 पर लड़खड़ा रहा था। ऐन वक़्त पर यूसुफ और इरफान के बीच 25 गेंदों में 59 रनों की साझेदारी हुई जिसने भारत को चार गेंद शेष रहते ही जीत दिला दी।

6. सबसे तेज आईपीएल शतक:

आईपीएल के शुरुआती संस्करण के दौरान यूसुफ पठान अपने फॉर्म के शीर्ष पर थे। युसूफ पठान ने राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ सिर्फ 37 गेंदों में शतक लगाया। यूसुफ पठान ने सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड भी बनाया। क्रिस गेल ने चार साल बाद 30 गेंदों में शतक ठोक कर युसूफ का रिकॉर्ड तोड़ा।

7. 22 गेंदों में 72 रन:

आईपीएल के 2014 संस्करण में पठान अपनी पूरी कोशिश कर रहे थे। युसूफ पठान ने 22 गेंदों पर कोलकाता नाइट राइडर्स की तरफ से 72 रनों की पारी खेली। उसकी बदौलत सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ टीम ने शानदार जीत दर्ज की। केकेआर उस वर्ष आईपीएल जीतने में भी कामयाब हुआ। उन्होंने 15 गेंदों में आईपीएल में सबसे तेज अर्धशतक भी लगाया।

8. रणजी ट्रॉफी में सबसे तेज 50:

रणजी ट्रॉफी में यूसुफ पठान ने 2015 के सीजन में सबसे तेज अर्धशतक (18 गेंदों में) का रिकॉर्ड बनाया। उनका रिकॉर्ड बन्दीप सिंह ने तोड़ा, जिन्होंने 15 गेंदों में अर्धशतक बनाया।

9. विवादस्पद परिस्थितियों में आउट:

यूसुफ पठान भी एक विवादास्पद परिस्थिति में जाने अनजाने में शामिल थे। 15 मई 2013 को पुणे वारियर्स इंडिया के खिलाफ पेप्सी आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए खेलते हुए यूसुफ पठान टी20 क्रिकेट मैदान में फील्डिंग को बाधित करते हुए आउट होने वाले पहले बल्लेबाज बने।

10. विवाद:

यूसुफ पठान ने 2014 में बड़ौदा और जम्मू और कश्मीर के बीच हुए रणजी ट्रॉफी मैच के दौरान एक प्रशंसक को थप्पड़ मार दिया क्योंकि वह उनपर अशिष्ट टिप्पणियाँ कर रहा था। यूसुफ पठान को इस विवाद की वजह से मैच प्रतिबंध का सामना भी करना पड़ा।

11. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शतक:

2011 के विश्व कप से पहले दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एमटीएन वनडे सीरीज़ में उन्होंने प्रिटोरिया में एक मैच में शानदार प्रदर्शन किया, जिसमें उन्होंने 70 गेंदों में शानदार 105 रन बनाए। इसमें 8 चौके और 8 छक्के भी शामिल थे। हालांकि भारत ने मैच गंवा दिया, लेकिन उनके प्रदर्शन को काफी सराहा गया था। उन्होंने 68 गेंदों में शतक बनाया, जो भारतीय उपमहाद्वीप के बाहर दूसरा सबसे तेज शतक था।

12. न्यूजीलैंड के खिलाफ पारी:

यूसुफ पठान ने 2010 में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना पहला शतक बेंगलुरु के चिन्नास्वामी स्टेडियम में बनाया। यूसुफ पठान ने 96 गेंदों में 123 रन बनाए और भारत ने श्रृंखला में 4-0 की बढ़त बना ली।

13. प्रथम श्रेणी के इतिहास में सबसे सफल रन चेज़:

दिलीप ट्रॉफी 2010 के फाइनल में पठान ने पहली पारी में 108 और दूसरी पारी में 190 गेंदों में 210 रन बनाए और दक्षिण जोन पर पश्चिम जोन को तीन विकेट से जीत दिलायी। यह प्रथम श्रेणी क्रिकेट के इतिहास में सर्वाधिक सफल रन चेज़ का विश्व रिकॉर्ड बन गया।

14. वैवाहिक जीवन:

यूसुफ पठान ने 27 मार्च 2013 को आफरीन से शादी की। उनकी पत्नी आफरीन, पेशे से एक फिजियोथेरेपिस्ट हैं।

15. जूनियर पठान:

यूसुफ पठान और उनकी पत्नी आफरीन का पहला बच्चा 17 अप्रैल 2014 को हुआ। वह एक लड़के के पिता बन गए।

16. पठान क्रिकेट अकादमी:

यूसुफ और इरफान ने हाल ही में अपने सपनों को पूरा किया जब उन्होंने क्रिकेट अकादमी ऑफ पठान्स का उद्घाटन किया, जो उनके घर बड़ौदा में कार्यरत है।

17. प्रशंसकों का प्यार:

सूत्रों के अनुसार, यूसुफ पठान नैरोबी-केन्या में त्रिकोणीय सीरीज़ में खेले। वह बड़ौदा की टीम की तरफ से गुजरात और केन्या के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों के विरुद्ध खेले, जहां उन्हें एक स्थानीय प्रशंसक ने सम्मानित किया। उसने कहा, “महान सचिन तेंदुलकर के बाद यूसुफ क्रिकेट में नंबर एक खिलाड़ी हैं।”

Summary
Review Date
Reviewed Item
17 facts to know about Yusuf Pathan | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: