5 कारण जो बताते हैं कि भुवनेश्वर कुमार वास्तविकता से कम आंके जाने वाले खिलाड़ी हैं

5 Reasons Why Bhuvneshwar Kumar Is India’s Most Underrated Cricketer

जो लोग भारतीय क्रिकेट के प्रशंसक हैं उन्हें भुवनेश्वर कुमार का पहला एकदिवसीय मैच याद होगा। उन्होंने स्विंग गेंदबाज़ी के ज़रिये बल्लेबाज़ों को परेशानी में डाला। उन्होंने बल्लेबाज़ को पहली दो गेंदे बाहर की तरफ स्विंग कराई और उसके बाद एक गेंद अंदर की तरफ स्विंग करा अपना पहला विकेट झटका। उसके बाद से भुवनेश्वर कुमार का खेल सुधारता गया और वह एक शानदार क्रिकेटर बन चुके हैं।

5 कारण जो बताते हैं कि भुवनेश्वर कुमार वास्तविकता से कम आंके जाने वाले खिलाड़ी हैं –

भुवनेश्वर कुमार चमक धमक से दूर रहते हैं
भुवनेश्वर कुमार चमक धमक से दूर रहते हैं

वह चमक धमक से दूर रहते हैं

तेज़ स्विंग गेंदबाज़ आमतौर पर आक्रामक प्रवृत्ति के होते हैं उदहारण के तौर पर हेडली, ब्रेट ली, शोएब अख्तर और यहाँ तक कि ज़हीर खान भी कुछ हद तक उसी प्रवृत्ति के थे। तेज़ गेंदबाज़ को नई गेंद से शुरुआती विकेट लेने की ज़िम्मेदारी सौंपी जाती है।

जसप्रीत बुमराह के बारे में ये 14 तथ्य नहीं जानते होंगे आप

भुवनेश्वर कुमार अलग प्रवृत्ति के हैं। वह शांत स्वभाव के हैं और सिर्फ अपने प्रदर्शन से जवाब देते हैं। वह कभी भी गुस्सा होते या झगड़ा करते नहीं देखे गए जो कि उन्हें एक शानदार खिलाड़ी बनाता है।

भुवनेश्वर कुमार गेंद को दोनों तरफ घुमा सकते हैं
भुवनेश्वर कुमार गेंद को दोनों तरफ घुमा सकते हैं

भुवनेश्वर कुमार गेंद को दोनों तरफ घुमा सकते हैं

हालाँकि एक तेज़ गेंदबाज़ से यह आशा की जाती है कि वह गेंद को दोनों तरफ घुमा सके लेकिन सभी तेज़ गेंदबाज़ ऐसा नहीं कर पाते। भुवी पहली गेंद से ही बल्लेबाज़ पर दबाव बनाना शुरू कर देते हैं। उनकी स्विंग इतनी ज़बरदस्त है कि कभी कभी बल्लेबाज़ उनकी गेंद को छोड़ देता है और गेंद बल्लेबाज़ का स्टंप ले उड़ती है।

दोनों तरफ गेंद घुमाने की उनकी योग्यता ने बल्लेबाज़ों को खासा परेशान किया है।

पारी के दौरान किसी भी समय गेंदबाज़ी कर सकते हैं

भुवनेश्वर की बहुमुखी प्रतिभा ही उनकी सबसे बड़ी शक्ति है। पिछले कुछ वर्षों में उन्होंने डेथ ओवरों में गेंदबाज़ी के गुर सीखे हैं और इसे अपना एक बड़ा हथियार बनाया।

शीर्ष 10 क्रिकेटर जिनपर मैच फिक्सिंग की वजह से आजीवन प्रतिबंध लगाया गया

वह शुरुआती दस ओवरों में अपनी स्विंग से बल्लेबाज़ों को परेशान करते हैं उसके बाद पारी के मध्य में 2-3 ओवरों के दौरान बल्लेबाज़ की लय बिगाड़ सकते हैं। आखिरी ओवरों के दौरान सटीक यॉर्कर गेंदों से बल्लेबाज़ को हाथ खोलने का मौका नहीं देते।

भुवनेश्वर कुमार सीमित ओवरों का कोई भी मैच खेल सकते हैं
भुवनेश्वर कुमार सीमित ओवरों का कोई भी मैच खेल सकते हैं

भुवनेश्वर कुमार सीमित ओवरों का कोई भी मैच खेल सकते हैं

भले ही भुवनेश्वर टेस्ट मैचों में उतने प्रभावशाली न हों लेकिन सीमित ओवरों के मैचों के लिये वह एक बेहतरीन खिलाड़ी हैं और आँकड़े भी यही बयां करते हैं। आई पी एल के दो संस्करणों में उन्होंने पर्पल कैप हासिल की और भारत के लिये भी लगातार विकेट लिए हैं।

वह एक विश्व स्तरीय गेंदबाज़ बनने की दिशा में अग्रसर हैं और उनकी योग्यता उन्हें सामान्य गेंदबाज़ों से ऊपर की श्रेणी में ले जाती है।

आँकड़े कैसे भी हों लेकिन उमेश यादव हैं एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी

भुवनेश्वर कुमार बल्लेबाज़ी भी कर सकते हैं
भुवनेश्वर कुमार बल्लेबाज़ी भी कर सकते हैं

भुवनेश्वर कुमार बल्लेबाज़ी भी कर सकते हैं

भुवनेश्वर कुमार एक उपयोगी बल्लेबाज़ भी सिद्ध हो सकते हैं जैसा कि उन्होंने श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दिखाया। श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने शानदार अर्धशतक लगाया और भारत को एक बड़ी हार से बचा लिया।

Source: 5 Reasons Why Bhuvneshwar Kumar Is India’s Most Underrated Cricketer

Summary
Review Date
Reviewed Item
5 Reasons Why Bhuvneshwar Kumar Is India’s Most Underrated Cricketer
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: