भारत बनाम पाकिस्तान क्रिकेट इतिहास की 8 बड़ी नोकझोंक

8 biggest India vs Pakistan fights

भारत बनाम पाकिस्तान निःसंदेह विश्व क्रिकेट की सबसे बड़ी प्रतिद्वंद्विता है। जब दोनों पड़ोसी मिलते हैं तो प्रतिक्रिया में कोई कमी नहीं होती। इतना कुछ दांव पर लगा होता है कि दोनों टीमों के खिलाड़ियों के पास हार का विकल्प होता ही नहीं है।

मैच के दौरान भावनाएं इतनी चरम पर होती हैं कि कभी कभी यह नोकझोंक, झगड़े तथा वाद विवाद के रूप में सामने आती हैं।

यहाँ हम बताएंगे भारत बनाम पाकिस्तान क्रिकेट इतिहास की 8 बड़ी नोकझोंक:

1- कपिल देव बनाम माजिद खान 1978

कपिल देव और पाकिस्तानी बल्लेबाज़ माजिद खान के बीच विवाद तब हुआ जब कपिल देव ने गेंदबाज़ी की अलग लाइन चुनी।

भारत को 1978 के दूसरे टेस्ट मैच को ड्रॉ करने के लिये पाकिस्तान को 25 ओवर में 125 रन बनाने से रोकना था। कप्तान बिशन सिंह बेदी ने अपने गेंदबाज़ों को रक्षात्मक गेंदबाज़ी करने को कहा। कपिल ने लगातार लेग साइड पर गेंदे डालनी शुरू की और इससे माजिद इतना नाराज़ हुए कि उन्होंने लेग स्टंप उखाड़ कर दूर लेग साइड में लगा दिया और दर्शाया कि गेंद कहाँ फेंकी जा रही है।

2. किरण मोरे बनाम जावेद मियांदाद 1992

विश्व कप के एक मुकाबले में जब जावेद मियांदाद बल्लेबाज़ी कर रहे थे उस समय भारतीय विकेट कीपर किरण मोरे बार बार अपील कर रहे थे। मियांदाद इससे इतने नाराज़ हुए कि उन्होंने गेंदबाज़ को रोका और कीपर की तरफ घूम कर उनसे कुछ बात की। लेकिन अपील जारी रही और अगली तीन गेंदे खेलने के बाद मियांदाद दोनों हाथों से बल्ला पकड़ कर हवा में तीन बार उछले और मोर की अपील का मज़ाक उड़ाया।

    क्रिकेट से जुड़े 25 ऐसे तथ्य जो आपको हैरान कर देंगे!

3. वेंकटेश प्रसाद बनाम आमिर सोहैल 1996

विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में जीत के लिये पाकिस्तान को बड़े लक्ष्य का पीछा करना था। सलामी बल्लेबाज आमिर सोहैल अच्छा खेल रहे थे और उन्होंने वेंकटेश प्रसाद की गेंद पर कवर पर चौका लगाया। इसके बाद पाकिस्तानी बल्लेबाज़ ने प्रसाद की तरफ देखा और इशारे से उन्हें गेंद वापस लाने को कहा। अगली ही गेंद पर प्रसाद ने शानदार वापसी की और सोहैल का स्टंप उखाड़ दिया।

4. वीरेंद्र सहवाग बनाम शोएब अख्तर 2003

शोएब अख्तर, वीरेंद्र सहवाग को पुल शॉट खेलने पर मजबूर करने के लिये लगातार बाउंसर गेंद फेंक रहे थे और सहवाग उससे सहज नहीं थे। उन्होंने गेंदबाज़ से वैसी ही गेंदबाज़ी मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को करने को कहा, जिस पर सचिन ने आराम से छक्का जड़ दिया। सहवाग अख्तर के पास गए और कहा “बाप बाप होता है और बेटा बेटा होता है।”

5. गौतम गंभीर बनाम शाहिद अफरीदी 2007

भारत बनाम पाकिस्तान मैच के बड़े विवादों में से यह एक था। गौतम गंभीर शॉट खेल कर एक रन लेने के लिये तेज़ी से भागे और शाहिद अफरीदी से टकरा गए। इस टक्कर के चलते दोनों के बीच तीखी नोकझोंक हुई और एक दूसरे को गालियाँ भी दीं। अंत में अंपायरों को दोनों को अलग करना पड़ा। इस घटना के बाद दोनों खिलाड़ियों पर मैच रेफरी ने जुर्माना लगाया।

    क्यों विराट को सचिन से कम मानते हैं ये पाकिस्तानी दिग्गज?

6. गौतम गंभीर बनाम कामरान अकमल 2010

गौतम गंभीर पीछे हटने वालों में से नहीं हैं।

2010 एशिया कप के दौरान पाकिस्तानी विकेट कीपर कामरान अकमल लगातार असफल अपीलें करते रहे जिससे बल्लेबाज़ ने उन्हें सबक सिखाने का मन बनाया। ड्रिंक्स ब्रेक के दौरान तीखी बहस हुई। गौतम गंभीर ने अकमल पर खेल भावना के उल्लंघन का आरोप लगाया। बहस तेज़ होती गयी और अंत में भारतीय कप्तान एम एस धोनी को बीच बचाव करना पड़ा और विवाद ख़त्म करने के लिये गंभीर को वह अलग ले गए।

7. हरभजन सिंह बनाम शोएब अख्तर 2010

बल्लेबाज़ को रोकने के कारण हरभजन सिंह ने पाकिस्तानी तेज़ गेंदबाज़ शोएब अख्तर से जम कर बहस की। भारत को जीत के लिये 7 गेंदों पर 7 रनों की ज़रुरत थी और अपना ओवर डॉट गेंद से पूरा करने के बाद अख्तर ने हरभजन को चिढ़ाया जिसे लेकर दोनों के बीच वाद विवाद हुआ। बल्लेबाज़ ने अंतिम ओवर में मोहम्मद आमिर को छक्का जड़ कर भारत को जीत दिलाई।

    वर्जित प्रेम – पाकिस्तान से महेंद्र सिंह धोनी की वाहवाही एक जटिल काम हो सकता है!

8. इशांत शर्मा बनाम कामरान अकमल 2012

इस टी20 मैच में अकमल और इशांत के बीच मामला इतना संजीदा हो गया कि अंपायर को बीच बचाव करना पड़ा। अकमल नो बॉल पर आउट होने के बाद बच गए थे, उसके बाद इशांत की अगली गेंद उनकी समझ नहीं आयी और वह खेल नहीं सके। इसके बाद ही दोनों एक दूसरे पर चिल्लाने लगे। अंत में खिलाड़ियों और अंपायर को बीच में कूदना पड़ा।

Source: 8 Of The Biggest Cricket Fights In The History Of India vs Pakistan

Summary
Review Date
Reviewed Item
8 biggest India vs Pakistan fights | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: