आईसीसी द्वारा स्टीव स्मिथ पर लगाए गए ‘विनम्र’ प्रतिबंध का हरभजन सिंह और बाकी क्रिकेटरों ने किया कड़ा विरोध!

Harbhajan blasts ICC for just 1 match ban on Steve Smith

विगत कई वर्षों में ऑस्ट्रेलिया ने खुद को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सबसे मजबूत पक्षों में से एक के रूप में स्थापित किया है। इस देश ने खेल को कई सफल एवं आक्रामक खिलाड़ी दिए हैं और उन्हें इस बात का बेहद गर्व है कि उनकी टीम खेल में आक्रामकता और उच्च दर्जे की प्रतिस्पर्धा पर बल देती है। उनके लिए जीतना ही सब कुछ है। उन्हें बाकी चीजों से कोई फर्क नहीं पड़ता और खेल में जीत हासिल करने के लिए वे किसी भी हद तक जाने को तैयार दिखाई देते हैं।

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट में जो हुआ, उसने इन सारे तथ्यों की गवाही भी दे दी। चार मैचों की टेस्ट सीरीज़ को 1-1 से बराबर करने के बाद यह लग रहा था कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई टीम पूरी प्रतिस्पर्धा के साथ खेलेगी। लेकिन, अपने क्रिकेट कौशल का उपयोग करने के बजाय, आगंतुकों ने दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से अपने विरोधियों को हराने के लिए गलत तरीकों का सहारा लिया।

कैसे ग्रेग चैपल ने की थी सौरव गांगुली के कैरियर को खत्म करने की कोशिश !

कैमरून बैन्क्रॉफ्ट के द्वारा खेल के तीसरे दिन गेंद से छेड़छाड़ करने के सनसनीखेज वीडियो के सामने आने के बाद जहाँ सब कुछ बिगड़ता हुआ नजर आ रहा था, वहीं कप्तान स्टीव स्मिथ ने भी यह बात स्वीकार कर ली कि ऑस्ट्रेलिया के कप्तानी समूह ने ही इस साजिश को पहले से अंजाम देने की फैसला कर लिया था। इन सारी बातों ने क्रिकेट के मैदान में ऑस्ट्रेलिया की छवि को काफी धूमिल कर दिया। इस घटना पर प्रशंसकों और क्रिकेटरों ने समान प्रतिक्रिया व्यक्त की और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) से कठोर कार्रवाई की मांग करते नज़र आये।



ऑस्ट्रेलिया के इन खिलाड़ियों ने खेल की छवि को अब धूमिल तो कर ही दिया था, लेकिन उनके कारनामे पर आईसीसी ने जो उन्हें सजा दी, वह काफी हास्यास्पद थी, और सभी लोगों ने इसका कड़ा विरोध भी किया। उनके अप्रासंगिक कार्यों के लिए आईसीसी ने बैंकरॉफ्ट पर केवल 75 प्रतिशत मैच फीस का जुर्माना लगाया और उनको तीन दोषपूर्ण अंक मिले। वहीं ऑस्ट्रेलियाई कप्तान पर एक मैच का प्रतिबंध लगा और मैच फीस का 100 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया।

हसीन जहान: मोहम्मद शमी की पत्नी के बारे में 5 दिलचस्प तथ्य!

जाहिर सी बात है कि आईसीसी की सजा न्यूलैंड्स में अंजाम दिए गए इस बड़े अपराध के लिए काफी कम है। क्रिकेट के बड़े खिलाड़ियों ने उनके “कमजोर” और “हास्यास्पद” निर्णय के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद को खूब खरी खोटी सुनाई।

हरभजन सिंह, केविन पीटरसन और माइकल वॉन जैसे खिलाड़ियों ने सोशल मीडिया पर स्मिथ और बैनक्रॉफ्ट के साथ विनम्र होने के लिए आईसीसी की कड़ी आलोचना की।

Source: Harbhajan Singh & Other Cricketers Blast ICC Over ‘Farcical’ Ban On Steve Smith

Summary
Review Date
Reviewed Item
Harbhajan blasts ICC for just 1 match ban on Steve Smith!
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: