वो बातें जो अक्टूबर से लागू होने जा रहे आईसीसी के नए क्रिकेट नियमों के बारे में आपको जाननी चाहिए

Things to know about new ICC cricket rules

बीतते समय के साथ क्रिकेट का खेल भी बदल गया है। 60 ओवर के मैच से लेकर टी20 तक, टोपी से हेलमेट तक, पतलून से ट्रैक पैंट तक, सब नया सा हो गया है। एक समय था जब कोई तीसरा अम्पायर नहीं होता था और आज मैदान पर अंपायर छोटी से छोटी बातों के लिए भी मदद को तैयार रहते हैं।

तो स्वाभाविक रूप से जैसे खेल विकसित हुआ है, उसी हिसाब से नियमों को भी बदलने की जरूरत है। यथासंभव खेल को उचित बनाने के लिए ही नए नियम लागू किये जाते हैं। इस साल की शुरुआत में एक बैठक के बाद आईसीसी कुछ नियमों में परिवर्तन करने के लिए सहमत हुई और सभी सदस्य उन परिवर्तनों का पालन करने के लिए भी सहमत हुए।

1 अक्टूबर 2017 से नए क्रिकेट नियम लागू होंगे और उन परिवर्तनों के बारे में आपको जानने की जरूरत है

1. नया रन-आउट नियम

अनगिनत बार हमने देखा है कि पहले बल्ला क्रीज के अंदर होता है, फिर जैसे ही वह जमीन छोड़ कर हवा में उठता है और उसी समय गिल्लियाँ बिखेर दी जाती हैं, तो बल्लेबाज़ को आउट करार दे दिया जाता है। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।

33 क्रिकेट से जुड़ी यादें जो आपको आपकी उम्र का एहसास करा देंगी

नए नियम के अनुसार एक बार जमीन को छूने के बाद बल्ला अगर क्रीज़ के अंदर आ गया है, तो इसका मतलब है कि बल्लेबाज़ अंदर है। इसके उपरांत यदि बल्ला किसी कारणवश हवा में चला जाता है और उसी वक़्त गिल्लियाँ बिखेर दी जाती हैं, तो इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा। बल्लेबाज को क्रीज़ के अंदर माना जायेगा और आउट नहीं करार दिया जा सकेगा।

नया रन-आउट नियम
नया रन-आउट नियम

2. लाल कार्ड

फ़ुटबॉल की तरह यहाँ भी अंपायर मैदान पर गंभीर कदाचार अथवा हिंसा के लिए खिलाड़ियों को बाहर भेज सकता है। इससे यह सुनिश्चित होगा कि सज्जनों का खेल सज्जनों की भांति ही खेला जाय।

पहले से स्थापित आईसीसी नियमों के अनुसार कदाचार के अन्य मुद्दे से भी निपटा जाएगा

लाल कार्ड
लाल कार्ड

3. नया डीआरएस

अब तक यदि डीआरएस का फैसला अंपायर के निर्णय को बरक़रार रखने का होता है, तो टीम वो रिव्यु खो देती है , लेकिन 1 अक्टूबर से ऐसा नहीं होगा। अम्पायर का निर्णय तब प्रभाव में आता है जब किसी को संदेह का लाभ मिल रहा होता है। कभी-कभी बॉल ट्रैकिंग तकनीक यह स्थापित नहीं कर पाती है कि गेंद पूरी तरह से स्टंप को उखाड़ रही है या सिर्फ छू कर निकल रही है। उस मामले में, मैदान के अंपायर पर निर्णय वापस चला जाता है। अब यदि ऐसा होता है, तो टीम कोई रिव्यु नहीं खोएगी।

क्रिकेट से जुड़े 25 ऐसे तथ्य जो आपको हैरान कर देंगे!

टेस्ट मैचों में, 80-ओवर के बाद फिर से समीक्षा का मौका मिलता। अब तक एक टीम को दो असफल समीक्षाओं को कराने का मौका मिलता है और पारी के अंत तक 80 ओवरों के बाद दो और समीक्षाओं की अनुमति दी जाती है। लेकिन अब से 80 ओवरों के बाद ऐसे कोई मौके नहीं मिलेंगे।

आईसीसी ने इस बात पर भी सहमति व्यक्त की है कि डीआरएस का उपयोग सभी टी -20 मैचों में भी किया जाएगा।

नया डीआरएस
नया डीआरएस

4. नए बल्ले का आकार

टी20 की शुरुआत ने क्रिकेट को बल्लेबाज प्रधान खेल बना दिया है। वनडे मैचों में भी रनों की बढ़ोतरी हुई है। बल्लेबाज़ अधिक मोटे और चौड़े बल्लों के खेल रहे हैं और उन्हें काफी फायदा भी मिल रहा है। इसलिए यह रोकने के लिए आईसीसी ने बल्ले के लिए नए आयाम पेश किए हैं। बल्ले की चौड़ाई 108 मिमी तक सीमित हो सकती है, 40 मिमी के किनारे हो सकते हैं और गहराई 67 मिमी की हो सकती है।

नए बल्ले का आकार
नए बल्ले का आकार

1 अक्टूबर से क्रिकेट में एक नया युग देखने को मिल सकता है। आइये देखते हैं कि इन नए नियमों से खेल में कितना अंतर आएगा।

लेकिन ये नियम ऑस्ट्रेलिया के आगामी भारत दौरे के दौरान काम नहीं करेंगे। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह दौरा सितंबर के मध्य में शुरू हो रहा है।

Source: Everything You Need To Know About ICC’s New Cricket Rules That’ll Come Into Play From October

Summary
Review Date
Reviewed Item
Things to know about new ICC cricket rules | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: