युसुफ पठान को होंग कॉंग टी20 लीग में नही खेलने देगी बीसीसीआई (Yusuf Pathan denied permission to play in Hong Kong T20 league)

Yusuf Pathan denied permission to play in Hong Kong T20 league

यूसुफ़ पठान हांगकांग टी20 लीग में नहीं खेलेंगे जैसा पहले बताया गया था.

इससे पहले इस सप्ताह यूसुफ़ ने कहा कि उन्होंने टूर्नामेंट के दूसरे संस्करण में कोलून कैंटंस की तरफ़ से खेलने के लिए बीसीसीआई से अनापत्ति प्रमाण पत्र प्राप्त किया था. हालांकि, बीसीसीआई ने अब कहा है कि उसने यूसुफ़ को कभी अनापत्ति प्रमाण पत्र दिया ही नहीं था.

” तथ्य यह है कि यूसुफ़ भाग लेना चाहते थे जैसा कि उन्होंने यूसुफ़ को एक ब्रांड एंबेसडर के रूप में आमंत्रित किया था,” एक बीसीसीआई अधिकारी ने बताया. “यदि यह एक टी20 लीग थी, हमने उसे बताया की वह नहीं खेल सकते हैं. हमने यह मुद्दा बंद कर दिया है और वह नहीं जा रहे हैं.”

यूसुफ़ ने इस नवीनतम विकास का कोई जवाब नहीं दिया है. इसी बीच यह समझा जा रहा है कि हांगकांग क्रिकेट को बीसीसीआई से अब तक कोई सूचना प्राप्त नहीं हुई है..

11 फ़रवरी को यूसुफ़ ने कहा था की उन्हे बीसीसीआई से एक ईमेल के ज़रिए अनापत्ति प्रमाण पत्र प्राप्त हुआ था हालांकि उन्होंने वह मेल खोला नहीं था. यूसुफ़ ने कहा कि बड़ोदा क्रिकेट संघ, उनकी राज्य क्रिकेट संघ,ने भी उन्हे टूर्नामेंट में खेलने की अनुमति दे दी थी, जो कि 8 से 12 मार्च तक खेला जाएगा.

संयोग से, टिम कटलर, हांगकांग क्रिकेट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने यूसुफ़ को रिहा करने के लिए बीसीसीआई को धन्यवाद दिया था. ” यह बहुत ही गजब की खबर है और हम बीसीसीआई की अनापत्ति प्रमाण पत्र देने के लिए सराहना करते हैं,” कटलर ने पिछले हफ्ते एक मीडिया विज्ञप्ति में यह बात कही. ”यह इस क्षेत्र में खेल के विकास में बहुत दूर तक सहायक होगा और भी अधिक सितारों की घोषणा बाकी होने के साथ ही यह टूर्नामेंट एक शानदार आकार ले रहा है जिसका लुफ्त पूरी दुनिया में लाखों लोग उठाएँगे.”

इंडियन एक्सप्रेस ने यहाँ तक क़ि एम वी श्रीधर,बीसीसीआई के महाप्रबंधक(क्रिकेट संचालन), को यूसुफ़ को लीग में खेलने की मंज़ूरी मिलने पर मिलीं प्रतिक्रियाओं के लिए ज़िम्मेदार ठहराया.

” यह एक टूर्नामेंट है, ना कि एक लीग. दोनों में साफ अंतर है,” श्रीधर के कथन का उद्धरण करते हुए इंडियन एक्सप्रेस ने लिखा . ” लीग एक हर साल होने वाला प्रसंग है जैसे कि बिग बॅश. यह( हांगकांग टी20) एक आईसीसी द्वारा अनुमोदित टूर्नामेंट है . उन्होंने( क्रिकेट हांगकांग) हमें बताया और हमने यह जाँचा भी की इसका बड़ोदा क्रिकेट संघ के किसी भी कार्यक्रम से टकराव नहीं है. बड़ोदा क्रिकेट संघ इससे ठीक था और केवल तभी हमने कहा,” आप(यूसुफ़) यह एक टूर्नामेंट खेल सकते हैं.”

”लीग का मतलब होगा फ्रेंचाइजी, लीग का मतलब होगा नीलामी,लीग का मतलब होगा खिलाड़ियों से अनुरोध एवम् उनकी क्षमतानुसार उनको वेतन देना–इसमें बहुत अंतर है.”

श्रीधर टिप्पणी के लिए उपलब्ध नहीं थे. बीसीसीआई हमेशा से ही अपने खिलाड़ियों को लेकर रक्षात्मक रहा है और उन्हें विदेशी टी20 लीग खेलने से रोकता रहा है इस डर से कि कहीं आईपीएल की ब्रांड वॅल्यू को कोई हानि ना पहुँचे. मगर खिलाड़ियों को बीसीसीआई द्वारा भारत से बाहर 50 ओवर वाले लिस्ट ए टूर्नामेंट खेलने की अनुमति दी गयी है. यूसुफ़ उस 22 सदस्यीय भारतीय दल का हिस्सा थे जिसने पिछले वर्ष ढाका प्रीमियर लीग में हिस्सा लिया था.

Leave a Response

share on: