शारजील खान पर पीसीबी ने पांच साल का प्रतिबंध लगाया

Sharjeel Khan banned for five years by PCB

स्पॉट फिक्सिंग स्कैंडल में उनकी भूमिका के लिए शारजील खान पर पांच साल तक सभी प्रकार का क्रिकेट खेलने से प्रतिबंध लगा दिया गया है। इस वर्ष की शुरूआत में पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) को इस घटनाक्रम ने शर्मसार कर दिया था। इस्लामाबाद यूनाइटेड के लिए खेल रहे शारजील पर पीसीबी के भ्रष्टाचार विरोधी संहिता के पांच प्रमुख नियमों के उल्लंघन का आरोप लगाया गया था और तीन व्यक्तियों के न्यायाधिकरण द्वारा सभी पांच मामलों में उन्हें दोषी पाया गया था। तत्काल उन्हें ढाई साल के लिए निलंबित कर दिया गया है, जिसका मतलब है कि 28 वर्षीय शारजील, 2019 की दूसरी छमाही से पहले क्रिकेट में वापसी नहीं कर सकते। शारजील अपनी सुनवाई पर उपस्थित थे लेकिन उन्होंने किसी सवाल का जवाब नहीं दिया।

    शरजील खान – पाकिस्तान – रिकॉर्ड

संभावित रूप से, उनका प्रतिबंध जीवन भर के लिए हो सकता था, लेकिन उन्हें सभी आरोपों के लिए न्यूनतम सजा दी गई। शारजील के वकील, शागन इजाज ने कहा कि वे प्रतिबंध के खिलाफ अपील करेंगे।

फैसले के तुरंत बाद इजाज ने कहा, “हम स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों में शारजील के निर्दोष साबित होने की उम्मीद कर रहे थे और हम इस फैसले के खिलाफ अपील करने जा रहे हैं। हम न्यायाधिकरण के सदस्यों के व्यवहार के खिलाफ शिकायत नहीं कर रहे हैं, लेकिन हमें इस फैसले पर आपत्ति है। जैसा कि हम समझते हैं, वे तीन गंभीर आरोप साबित नहीं हुए हैं। फिलहाल हम अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रहे हैं और अगले 14 दिनों में विस्तृत आदेश आ जाने के बाद हम अपील करेंगे।”

    भारत बनाम पाकिस्तान क्रिकेट क्यों है इतना रोमांचक?

इस मामले में पीसीबी के अभियोजक तफ़ाज़ुल रिजावी ने इसे “दुखद दिन” करार दिया और कहा कि खिलाड़ी को सभी मामलों में दोषी पाया गया है और उनके खिलाफ बोर्ड का मामला साबित हो चुका है। “निलंबन की अवधि को अभी तक पीसीबी भ्रष्टाचार विरोधी कोड में परिभाषित नहीं किया गया है क्योंकि इसके सीमित प्रावधान हैं। सिर्फ इसलिए कि उनकी सजा ढाई साल कम कर दी गयी है, इसका मतलब यह नहीं है कि वह अपनी सजा पूरी करने के तुरंत बाद खेलने लग जायेंगे। पुनर्वास की पूरी प्रक्रिया से उन्हें गुजरना होगा और पुनर्मिलन से पहले कई और शर्तें भी पूरी की जाएंगी।”

पीसीबी के अध्यक्ष नजम सेठी ने ट्रिब्यूनल के फैसले के बाद एक बयान में कहा, “शारजील खान के भ्रष्टाचार में लिप्त होने के खिलाफ आया फैसला क्रिकेट के खेल में भ्रष्ट व्यवहार के खिलाफ शून्य सहिष्णुता की हमारी नीति को सही साबित करता है। पीसीबी की भ्रष्टाचार और सतर्कता विभाग ने अपनी त्वरित कार्रवाई से सबको प्रभावित किया है। पीसीबी को उम्मीद है कि तीन शेष खिलाड़ियों को उनके अपराधों की आनुपातिकता के अनुसार पेश किया जाएगा। पीसीबी सभी के खिलाफ लड़ना जारी रखेगी और उन भ्रष्ट तत्वों को, जो खेल को घरेलू और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नष्ट करना चाहते हैं, उन्हें कतई नहीं छोड़ा जायेगा।”

    एन सी ए की सुविधाएं न मिलने पर भड़के उमर अकमल

शारजील का प्रतिबंध 10 फ़रवरी 2017 से प्रभावी माना जायेगा, जब उन्हें पहली बार निलंबित किया गया था।

यह फैसला 2019 के मध्य तक प्रभावी रहेगा और सबसे दुखद बात यह है कि एक होनहार खिलाड़ी के बढ़ते अंतरराष्ट्रीय करियर को बहुत बड़ा झटका लगा है। पिछले साल अगस्त में शारजील की वनडे में वापसी के बाद से सलामी बल्लेबाज के रूप में उनका 44 से अधिक का औसत रहा था। लेकिन इससे भी ज्यादा महत्वपूर्ण बात यह है कि पाकिस्तान की बल्लेबाजी की मौजूदा समस्याओं को धता बताते हुए उन्होंने 130.37 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए। इस साल के शुरूआती दौर में ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर वह टेस्ट टीम में भी शामिल हो गए थे और फिर तीन अर्धशतकों के साथ वह एकदिवसीय श्रृंखला में पाकिस्तान के दूसरे सबसे सफल बल्लेबाज़ रहे। पाकिस्तान के लिए एडिलेड में उनकी आखिरी पारी के करीब दो हफ्ते बाद ही उन्हें पीसीबी द्वारा अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया था।

शारजील उन छह मौजूदा या पूर्व पाकिस्तानी इंटरनेशनल क्रिकेटर्स में से एक हैं जो कि ऐसे मामलों में फंसे हैं। 2010 के लॉर्ड्स स्पॉट-फिक्सिंग घोटाले के बाद भ्रष्टाचार से लड़ने के पाकिस्तान बोर्ड के प्रयासों के लिए यह एक बड़ा झटका है। मोहम्मद इरफान और मोहम्मद नवाज़ को पहले ही दंडित किया गया है, क्योंकि वे भ्रष्ट खिलाड़ियों की रिपोर्ट करने में विफल रहे थे।

    आंकड़े: खिलाड़ी जो कि एकदिवसीय क्रिकेट में अफरीदी के सर्वाधिक छक्कों के कीर्तिमान को तोड़ सकते है

हालाँकि शारजील के इस्लामाबाद टीम के साथियों, खालिद लतीफ और पाकिस्तान के पूर्व ओपनर नासिर जमशेद और शाहजेब हसन पर ट्रिब्यूनल की कार्यवाही अभी भी चल रही है। ईद की छुट्टियों के बाद लतीफ पर कोई फैसला आने की उम्मीद है। साथ ही शाहजेब पर भी अगली सुनवाई होगी। पीसीबी का मानना ​​है कि जमशेद इस मामले में एक केंद्रीय भूमिका निभा रहे हैं, लेकिन फिलहाल वह जांच में सहयोग करने में असफलता के आरोपों का सामना कर रहे हैं। वह 19 सितंबर को न्यायाधिकरण के समक्ष पेश होंगे।

इस्लामाबाद यूनाइटेड ने अभी तक कोई टिप्पणी नहीं की है, जो कि पीएसएल की वह फ्रैंचाइजी है जिसमें से तीन खिलाड़ी- शारजील, लतीफ और इरफान- आरोपों का सामना कर रहे हैं। लेकिन यह समझा जाता है कि उनके द्वारा शारजील और लतीफ के अनुबंध को तब ही समाप्त कर दिया गया था जब उन्हें पीसीबी ने निलंबित कर दिया था।

    मिकी आर्थर – विश्व कप 2019 के लिए टीम को तैयार करना ही परम लक्ष्य है

Source: Sharjeel Khan banned for five years by PCB

Summary
Review Date
Reviewed Item
Sharjeel Khan banned for five years by PCB | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: