पाकिस्तान क्रिकेट 2 वर्षों से संघर्ष की स्थिति में – वसीम अकरम

Wasim Akram says Pakistan struggling for over 2 years

50 ओवर के विश्व कप के दो वर्ष दूर होने के बावजूद, कई टीमें इस पर से अपना ध्यान हटा नहीं सकती। टूर्नामेंट की भव्यता की वजह से नहीं, लेकिन क्योंकि उनकी प्रत्यक्ष योग्यता एक धागे से लटकी है। शीर्ष सात टीमें टूर्नामेंट के लिए सीधे क्वालीफाई करेंगी जबकि इंग्लैंड मेजबान देश होने के आधार पर योग्यता अर्जित करेगा. शेष तीन टीमों को अगले साल बांग्लादेश में एक योग्यता टूर्नामेंट में खेल कर अपनी जगह हासिल करनी होगी।

पाकिस्तान, वेस्टइंडीज और बांग्लादेश प्रत्यक्ष योग्यता के लिए दो स्थानों के लिए आपस में मैच खेलेंगे। बांग्लादेश वर्तमान में पाकिस्तान और वेस्टइंडीज को पिछाड़ते हुए सातवें पायदान पर है।

वसीम अकरम का मानना ​​है कि अगर टीमें सीधे टूर्नामेंट के लिए योग्य नहीं है, तो यह खिलाड़ियों और प्रशासकों पर बहुत दबाव डाल देता है। “एक खिलाड़ी के रूप में मैं अर्हता प्राप्त करने के बजाय सीधे क्वालीफायर खेलना पसंद करूँगा – यह हर किसी पर दबाव डालता है – खिलाड़ियों, चयनकर्ताओं, प्रशासकों,” उन्होंने बुधवार(1 मार्च) को आईसीसी-क्रिकेट.कॉम के लिए अपने कॉलम में लिखा था। “एक कमेंटेटर के रूप में मैं बहुत, बहुत उत्साहित हूँ क्योंकि दबाव क्रिकेट के खेल में सुधार लाता है और दर्शकों में रुचि जगाता है। अगर आप इसके बारे में सोचे, तो ये सभी मैच वनडे क्रिकेट में ऐसे सन्दर्भ जोड़ देते है जो खेल के लिए जरूरी है और आईसीसी इसके लिए पूर्ण प्रशंसा का हकदार है।”

वसीम अकरम – पाकिस्तान – रिकॉर्ड

“आने वाले हफ्तों में बहुत सारा एक दिवसीय क्रिकेट दिखेगा, और सार्थक रूप से, वहाँ भी इसके साथ जाने के लिए बड़ा संदर्भ होगा। इन मैचों पर दारोमदार होगा की कौन सी टीमें आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 के लिए क्वालीफाई करेंगी और कम से कम दो पूर्व विश्व चैंपियन (पाकिस्तान और वेस्टइंडीज) का भाग्य इस पर टिक हुआ है।”

अकरम ने महसूस किया कि पाकिस्तान को चैंपियंस ट्राफी में शीर्ष गुणवत्ता वाला क्रिकेट खेलना पड़ेगा ताकि वह प्रत्यक्ष योग्यता की अपनी उम्मीदें जिंदा रख सके।”अगर पाकिस्तान की बात की जाये, तो उसे अपना ‘ए’ खेल सभी मैचों में लाना पड़ेगा, जिसमे चैंपियंस ट्रॉफी भी शामिल है, योग्यता को ध्यान में रखते हुए। “पाकिस्तान इंग्लैंड के अपने पिछले साल जुलाई के दौरे से लगभग बिना रुके क्रिकेट खेल रहा है, जिसके दौरान उसने 197 दिनों में से लगभग 74 दिनों का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला, और यह किसी भी टीम के लिए चीज़ें आसान नही कर सकता।

वसीम अकरम के बारे में 17 तथ्य: 1984 के बाद से स्विंग के बादशाह

“पाकिस्तान वनडे क्रिकेट में न सिर्फ पांच-छह महीनों के लिए, लेकिन पिछले दो साल से संघर्ष कर रहा है – यही वजह है कि वे जहां है वही रह गए हैं, अब उन्हें अजहर अली से सरफराज अहमद, कप्तान के इस परिवर्तन का सामना भी करना पड़ेगा। यह भी एक अनुभवहीन दल है लेकिन मुझे यकीन है कि चयन समिति इंजमाम-उल-हक की अध्यक्षता में सबसे बढ़िया दल चुनेंगी। मैंने पाकिस्तान सुपर लीग में काफी प्रतिभावान खिलाड़ी देखे है और लेग स्पिनर ओसामा मीर (कराची किंग्स) और बाएं हाथ के बल्लेबाज हुसैन तलत (इस्लामाबाद यूनाइटेड) पर विचार किया जाना चाहिए।”

Leave a Response

share on: