लसिथ मलिंगा से जुड़े 11 अल्पज्ञात तथ्य

Lasith Malinga Records

लसिथ मलिंगा मुख्यतः अपने ‘टो-क्रशर्स’ और घातक योर्करों के लिए जाने जाते है, एक आधुनिक युग के वक़ार यूनिस की तरह | 28 अगस्त 1983 को जन्मे, यह 34-वर्षीय खिलाड़ी विश्व क्रिकेट के सबसे भयानक गेंदबाज़ों में उभर कर आये है | इस श्रीलंकाई ‘स्लिंगर’ ने अपने अजीब एक्शन से बल्लेबाज़ों को बहुत से मौकों पर खौफ में रखा है और नतीजतन कई सारे खतरनाक स्पेल डाले है |

यहां पर हम लसिथ मलिंगा से जुड़े 11 अल्पज्ञात तथ्य रख रहे हैं |

1. बचपन में मलिंगा की ज़बान से निकले पहले शब्द ‘मौमी’ नहीं थे | वे, “व्हूज़ योर डैडी” थे |

2. मलिंगा ने क्रिकेट खेलना 11 वर्ष की उम्र से अपने गाँव राथगामा से शुरू किया, जो कि गाले के पास स्थित है | बीच पर वे सॉफ्ट-बॉल से क्रिकेट खेलते थे, और यह दावा करते थे कि उनका अजीबोगरीब एक्शन सामान्य है | किशोरावस्था के आखिरी भाग में ही उन्होंने आखिरकार क्रिकेट की गेंद से गेंदबाज़ी करना प्रारम्भ किया |

3. 2005 में न्यू ज़ीलैंड के दौरे पर, मलिंगा इतने खौफनाक थे कि घरेलु टीम को गेंद को देखने तक में परेशानी आ रही थी | स्टीफेन फ्लेमिंग, न्यू ज़ीलैंड के कप्तान ने अम्पायरों को अपनी टाई हटाने का आग्रह किया था क्योंकि वे गेंद के एक अनाड़ी कोण पर आने के कारण उसे खो दिया करते थे | अम्पायरों को अपनी कमर पर सफेद जर्सी बाँधने का निवेदन किया गया था ताकि बल्लेबाज़ सही तरह से देख पाए | हालाँकि स्टीव बकनर तो तैयार हो गए थे, डैरेल हेयर ने साफ़ इंकार कर दिया था |

4. एक बार लसिथ ने लगातार दो मैचों में अपने सनसनाते योर्करों से कोई विकेट नहीं लिया | उसके बाद उन्होंने उस प्लेस्टेशन 3 के बक्से को तहस-नहस कर दिया |

5. ये कहा जाता है कि मलिंगा को श्रीलंकाई नेट्स पर गेंदबाज़ी करने के लिए 2001 में ले जाया गया था, लेकिन बल्लेबाज़ों को चोट पहुंचाने के डर से उन्हें गेंद डालने से रोक दिया गया था |अरविंद डि सिल्वा ने द गार्डियन को बताया था, ” उस समय के आस-पास जब हम 2003 विश्व कप की तैयारी कर रहे थे, मेरे यह सुनने में आया था कि कोलम्बो में एक ऐसा नौजवान पेस-गेंदबाज़ है, कोई भी जिसके सामने बल्लेबाज़ी नहीं करना चाहता, खासकर के वरिष्ठ खिलाड़ी | इसलिए मुझे उन्हें देखने की उत्सुकता हुई |

6. मलिंगा ऐसे इकलौते गेंदबाज़ है जिन्होंने एकदिवसीय मैचों में 3 हैट-ट्रिक ली है, जिनमे से 2 विश्व कप मैचों में आयी है, जो कि एक विश्व रिकॉर्ड है | 2007 में उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध 4 गेंदों पर 4 विकेट लिए थे | ऐसा करने वाले वे इकलौते गेंदबाज़ है |

7. लसिथ ने एक बार एक बाउंसर फेंकी | नहीं सच में | बॉल बाउंस हुई, नीचे की ओर डुबकी लगाई और बल्लेबाज़ के पैरों की उँगलियों को कुचल दिया, और उनके पैर हमेशा के लिए पिच के अंदर ही गाड़ दिए |अभी भी उन्हें गाले के मैदान पर देखा जा सकता है |

8. मलिंगा ने 7 बल्लेबाज़ों को, अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 6 बार आउट किया है | इस सूची में कई बड़े नाम, जैसे कि सचिन तेंदुलकर, शाहिद अफरीदी, गौतम गंभीर, वीरेंद्र सहवाग और शेन वाटसन शामिल है |हालाँकि, उनका सबसे बढ़िया अनुभव बांग्लादेशी बल्लेबाज़ों शहरयार नफीस और जावेद ओमर के साथ रहा है | नफीस 11 मैचों में 6 बार मलिंगा का शिकार बने है, तो वहीं ओमर 7 मैचों में उनकी गेंदों पर 6 बार चलते बने है |

9. मलिंगा को एक बारबाडोस-आधारित पत्रिका ईज़ी ने क्रिकेट का सेक्सिएस्ट में घोषित किया हुआ है |

10. लसिथ वास्तविकता में अपने हाई स्कूल में एक मिडिल स्टंप को डेट किया करते थे, जिससे कि स्टंप देखकर उनको मारने की उनकी चाहत समझ में आती है |

11. मलिंगा एकदिवसीय क्रिकेट में नवें विकेट के लिए की गयी सबसे बड़ी साझेदारी का हिस्सा थे | एंजेलो मैथ्यूस के साथ मिलकर, उन्होंने 2010 में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध मेलबोर्न के मैदान पर 132 रन जोड़े और एक आशाहीन परिस्थिति से श्री लंका को जीत की ओर ले गए | 240 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए श्री लंका 8 विकेट खोकर 107रनों के स्कोर पर था जब यह जोड़ी क्रीज़ पर आयी | मलिंगा ने 56 रन बनाये और जब जीत के लिए एक रन की आवश्यकता थी, तब वे आउट हो गए |

Summary
Review Date
Reviewed Item
Facts to know about Lasith Malinga | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: