सर विवियन रिचर्ड्स के बारे में 15 तथ्य: 20 वीं सदी के मास्टर ब्लास्टर

15 facts to know about Sir Viv Richards

शब्द, निबंध, लेख और यहां तक ​​कि किताबों में लिखी गयी बातें भी सर विवियन रिचर्ड्स की प्रतिभा के साथ बहुत कम न्याय ही करती हैं। हर बार जब वह अपने हाथ में एक बल्ला लिए मैदान पर आते थे तो एक अलग ही समां बंध जाता था। विशिष्ट दाढ़ी, सदाबहार रुख और मुँह में च्युइंग गम, विरोधी गेंदबाजों को अच्छी तरह से पता था कि इस दोस्ताना और हल्के दिल वाले बल्लेबाज को हल्के में नहीं लेना चाहिए। यदि क्रिकेट का कोई सम्राट था, तो असल मायने में वह विवियन रिचर्ड्स ही थे। निडर और आक्रामक रिचर्ड्स ने खुद को क्लाइव लॉयड की कप्तानी वाली वेस्टइंडीज के वर्चस्व वाले युग के अग्रणी खिलाड़ी के रूप में स्थापित किया। संक्षेप में, रिचर्ड्स 1970 के दशक के मध्य से 1990 के दशक के शुरूआती दौर तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का असली चेहरा बने रहे।

1. एंटीगुआ का गौरव:

सर आइज़ैक विवियन एलेक्जेंडर रिचर्ड्स का जन्म 7 मार्च 1952 को सेंट जोन्स, एंटीगुआ और बारबुडा में हुआ था।

2. गेंदबाजों की धज्जियाँ उड़ाने वाला खिलाड़ी:

अपने समय के सबसे ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ रिचर्ड्स ने अपनी उंगलियों पर दुनिया के हर गेंदबाज़ को नचाया। हालांकि उस ज़माने में वेस्टइंडीज की टीम में कई महारथी खिलाड़ी थे पर विवियन रिचर्ड्स एक अलग ही श्रेणी में आते थे। सबको पता होता था कि जैसे ही वह मैदान पर उतरेंगे, खेल का नज़ारा बदल कर रख देंगे। जब भी वह ड्रेसिंग रूम से मैदान की तरफ अपना रास्ता बना रहे होते थे, क्षेत्ररक्षकों के होश उड़ जाते थे और प्रशंशक उनकी एक झलक पाने के लिए उतावले नज़र आते थे। वह लगभग एक प्राचीन रोमन ग्लैडिएटर की तरह थे। ऑस्ट्रेलियाई हमले (लिली और थॉमसन) के अलावा, रिचर्ड्स को विश्व के बाकी सभी गेंदबाजी आक्रमणों को पूरी तरह से ध्वस्त करने के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है।

3. अपनी कहानी खुद लिखने वाला बल्लेबाज़:

विवियन रिचर्ड्स क्रिकेट की दुनिया के लिए एक अचंभे से कम नहीं हैं। सभी शॉट्स जिनकी केवल कल्पना ही की जा सकती है, वे महान रिचर्ड्स के बल्ले से आसानी से निकलते थे। हालांकी उनका वर्णन करने के लिए दर्जनों विशेषण हैं पर हमारे पास एक सबसे अच्छा उदाहरण है जो उनके रोमांचक कैरियर का एक चेहरा सा पेश करता है। यहां कुछ आंकड़े दिए गए हैं जो उन्हें बाकी के लोगों से बिलकुल अलग बनाते हैं:

1976 और 1988 के बीच रिचर्ड्स ने 92 मैचों में 55.39 के औसत से 7091 रन बनाए। इसमें 22 शतक और 34 अर्धशतक शामिल हैं

29 सीरीज जो उन्होंने खेले, उनमें लगभग 7 बार ही उन्होंने 30 से कम औसत से स्कोर किया है

नंबर 3 पर उनका बल्लेबाज़ी औसत तीसरा सबसे अधिक औसत है। वह डॉन ब्रैडमैन और वाल्टर हैमोंड के पीछे ही हैं

1980 के दशक में कप्तान के रूप में उनका सर्वश्रेष्ठ विजय प्रतिशत था। उन्होंने कप्तानी में 54% मैच जीते

4. सर्वकालिक महान एकदिवसीय पारी:

31 मई 1984, विशेष रूप से क्रिकेट और विवियन रिचर्ड्स के लिए एक ख़ास दिन है। 1983 के विश्व कप को खोने के लगभग एक वर्ष बाद रिचर्ड्स ने एक शानदार शतक के साथ इस अवसर को चिह्नित किया। ओल्ड ट्रैफर्ड के दर्शकों को पता नहीं था कि उस दिन हो क्या रहा है। एल्डिन बैप्टिस्ट और माइकल होल्डिंग केवल दो अन्य बल्लेबाज थे जो उस दिन दोहरा आंकड़ा पार कर सके थे। रिचर्ड्स ने 189 रनों की अपनी पारी में इंग्लैंड के गेंदबाजी आक्रमण, जिसमें बॉब विलिस, इयान बोथम और नील फोस्टर भी शामिल थे, की धज्जियाँ उड़ा दीं। उन्होंने 21 चौके और पांच छक्के जड़े और विंडीज ने 104 रनों के विशाल स्कोर से जीत हासिल की।

5. फुटबॉल खेलते रिचर्ड्स:

कुछ लेखकों का तर्क है कि रिचर्ड्स ने एंटीगुआ और बारबुडा के लिए अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल खेला था जब उन्होंने 1974 के विश्व कप के लिए क्वालीफाइंग मैचों में भाग लिया था। हालांकि वह इन मैचों के लिए दर्ज की गई लाइन-अप में प्रदर्शित नहीं होते हैं।

    सर विव रिचर्ड्स – वेस्टइंडीज़ – रिकॉर्ड

6. एक प्रस्ताव जो अस्वीकार कर दिया:

1982-83 में विवियन रिचर्ड्स को दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर गयी विद्रोही वेस्टइंडीज की टीम का हिस्सा बनने के लिए दक्षिण अफ़्रीकी क्रिकेट बोर्ड द्वारा रिक्त चेक सौंप दिया गया था। लेकिन रिचर्ड्स ने यह प्रस्ताव अस्वीकार कर दिया।

7. फायर इन बेबीलोन:

सबसे महान टेस्ट क्रिकेटिंग देश – वेस्टइंडीज की स्मृति में एक वृत्तचित्र बनी थी। वृत्तचित्र के अधिकांश भाग में रिचर्ड्स डेनिस लिली और जेफ थॉमसन की गति का सामना करने की बात करते हैं।

8. द गेम्स दैट पीपल प्ले:

पूर्व विकेटकीपर-बल्लेबाज जेफ डुजॉन बल्लेबाजी करते हुए ‘द गेम्स दैट पीपल प्ले’ गीत की सीटी बजाने के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं। एक मर्तबा विवियन रिचर्ड्स के साथ बल्लेबाजी करते समय डुजॉन सीटी नहीं बजा रहे थे। जब रिचर्ड्स ने उनसे पूछा कि वह गाना क्यों नहीं गा रहे हैं, तो डुजॉन ने उत्तर दिया, “यह थॉमसन इतनी तेज़ी से गेंद डालते हैं, कि मुझे गाने की सीटी बजाने का समय ही नहीं मिल पाता है।”

9. कमेंटरी और मार्गदर्शन:

रिचर्ड्स 2013 में इंडियन प्रीमियर लीग में दिल्ली डेयरडेविल्स के मेंटर के रूप में शामिल हुए थे। रिचर्ड्स 2016 के पाकिस्तान सुपर लीग में क्वेटा ग्लैडीएटर्स का भी मार्गदर्शन करेंगे।

10. बैंगलोर में उद्घाटन मैच:

विवियन रिचर्ड्स ने नवंबर 1974 में बंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में अपना पहला टेस्ट मैच खेला था। भागवत चंद्रशेखर ने रिचर्ड्स को दोनों पारियों में एकल अंकीय स्कोर पर आउट कर दिया था। इसके बावजूद विंडीज ने 267 रनों से जीत दर्ज की।

11. ओबीई और नाइटहुड:

1994 में क्रिकेट में उनकी सेवाओं के लिए रिचर्ड्स को ब्रिटिश एम्पायर (ओबीई) का अधिकारी नियुक्त किया गया था। 1999 में उन्हें अपने मूल देश एंटीगुआ और बारबुडा के द्वारा एक नाइट ऑफ़ द ऑर्डर ऑफ़ द नेशनल हीरो (केएनएच) बनाया गया था।

12. सर्वश्रेष्ठ:

अपने पसंदीदा बल्लेबाज के बारे में बात करते हुए सिलेड बेरी ने कहा, “रिचर्ड्स जिस तरह से मैदान में प्रवेश करते थे, वैसा कोई और नहीं कर पाया है। स्पॉटलाइट्स और ध्वनि प्रभाव से लैस कोई कोरियोग्राफर भी उनके प्राकृतिक प्रवेश से अच्छा उदहारण नहीं पेश कर सकता।”

    खिलाड़ियों का रण: वीरेंद्र सहवाग बनाम विव रिचर्ड्स

13. शतकों का शतक:

प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 100 शतक बनाने वाले वह पहले खिलाड़ी हैं।

14. वोट:

सन 2000 में, रिचर्ड्स को पांच विस्डेन क्रिकेटर्स ऑफ द सेंचुरी में से एक का नाम दिया गया था। विस्डेन क्रिकेटर्स अलमनैक द्वारा किये गए 100 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट विशेषज्ञों के सर्वेक्षण में सर डोनाल्ड ब्रैडमैन, सर गारफील्ड सोबर्स, सर जैक हॉब्स और शेन वॉर्न के बाद वह पांचवें स्थान पर रहे। इस चुनाव में बॉथम और वॉर्न दोनों ने रिचर्ड्स के लिए वोट किया और दोनों के विचारों में रिचर्ड्स उन सबसे महान बल्लेबाजों में से एक हैं जिन्हें उन्होंने कभी देखा था।

15. क्रिकेट के सम्राट:

बैरी रिचर्ड्स, रवि शास्त्री, शेन वॉर्न, इयान बॉथम, मार्टिन क्रो और मुथैया मुरलीधरन उन क्रिकेटरों में शामिल हैं जिन्होंने विवियन रिचर्ड्स को सबसे महान क्रिकेटर माना है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
15 facts to know about Sir Viv Richards | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: