एडम गिलक्रिस्ट – ऑस्ट्रेलिया – रिकॉर्ड

Adam Gilchrist Records in Hindi

पूरा नाम – एडम क्रेग गिलक्रिस्ट

जन्म – 14 नवंबर, 1971 बेलिंगन, न्यू साउथ वेल्स

प्रमुख टीमें – ऑस्ट्रेलिया, डेक्कन चार्जर्स, आईसीसी वर्ल्ड इलेवन, किंग्स इलेवन पंजाब, मिडलसेक्स, न्यू साउथ वेल्स, वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया

उपनाम – गिली, चर्ची

भूमिका – विकेटकीपर बल्लेबाज

बल्लेबाजी शैली – बाएं हाथ के बल्लेबाज

गेंदबाजी शैली – दाएं हाथ के ऑफब्रेक

क्षेत्ररक्षण की स्थिति – विकेटकीपर

ऊँचाई – 1.86 मीटर

टेस्ट पदार्पण (कैप 381) – 5 नवंबर 1999 बनाम पाकिस्तान
अंतिम टेस्ट – 24 जनवरी 2008 बनाम भारत

एकदिवसीय पदार्पण (कैप 129) – 25 अक्टूबर 1996 बनाम दक्षिण अफ्रीका
अंतिम एकदिवसीय – 4 मार्च 2008 बनाम भारत

एडम गिलक्रिस्ट के बल्लेबाज़ी और विकेटकीपिंग कीर्तिमान:

Mat Inns NO Runs HS Ave BF SR 100 50 4s 6s Ct St
Tests 96 137 20 5570 204* 47.60 6796 81.95 17 26 677 100 379 37
ODIs 287 279 11 9619 172 35.89 9922 96.94 16 55 1162 149 417 55
T20Is 13 13 1 272 48 22.66 192 141.66 0 0 27 13 17 0
First-class 190 280 46 10334 204* 44.16 30 43 756 55
List A 356 343 19 11326 172 34.95 18 63 526 65
T20s 102 102 5 2622 109* 27.03 1869 140.28 3 13 296 120 74 22

एडम गिलक्रिस्ट के गेंदबाज़ी कीर्तिमान:

Mat Inns Balls Runs Wkts BBI BBM Ave Econ SR 4w 5w 10
Tests 96
ODIs 287
T20Is 13
First-class 190
List A 356 12 10 0 5.00 0 0 0
T20s 102 1 1 0 1 1/0 1/0 0.00 0.00 1.0 0 0 0

14 नवंबर, 1971 को जन्मे एडम गिलक्रिस्ट, जिन्हें गिली या चर्ची भी कहा जाता था, उस ऑस्ट्रेलियाई टीम के सबसे प्रमुख सदस्यों में से एक थे, जो 90 के दशक के अंत में और 2000 के दशक के शुरूआती दौर में क्रिकेट की दुनिया पर हावी थी। एक स्वाभाविक विकेटकीपर, गिलक्रिस्ट टेस्ट क्रिकेट में भी एक विध्वंसक मध्य क्रम के बल्लेबाज थे और अक्सर एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मुकाबलों के शुरूआती ओवरों में आकर्षक बल्लेबाज़ी करते थे।
घरेलू सत्र में 1999 में देरी से टेस्ट मुकाबलों में पदार्पण के बावजूद, गिलक्रिस्ट ने पाकिस्तान के खिलाफ 81 रनों की पारी से तत्काल प्रभाव पैदा किया। गिलक्रिस्ट की बल्लेबाजी में आक्रामक रुख स्पष्ट था, जिससे पहले से ही मजबूत ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी क्रम को और ताकत मिलती थी। सिर्फ अपने दूसरे टेस्ट में, गिलक्रिस्ट ने होबार्ट में पाकिस्तान के खिलाफ मैच जिताऊ 149 बनाए और जस्टिन लैंगर के साथ 6वें विकेट के लिए 238 रनों की साझेदारी की।
गिलक्रिस्ट की टेस्ट क्रिकेट की कुछ यादगार पारियों में 2001 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ लगाया गया शानदार दोहरा शतक भी आता है, उनके 204 सिर्फ 213 गेंदों में बने थे| यह तब टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज दोहरा शतक था। मुंबई में भारत के खिलाफ उनके 122 रनों ने ऑस्ट्रेलिया को 99/5 के शर्मनाक स्कोर से निकालकर पहली पारी में 173 रनों की विजयी बढ़त दिलाई थी। गिलक्रिस्ट सिर्फ हमला नहीं करते थे, वे विपक्षी टीम के आत्मसमर्पण करने तक अपना वर्चस्व कायम रखते थे। 2005-06 के एशेज के दौरान एक ऐसी ही पारी वाका, पर्थ में उनके नाबाद 102 रन की थी। उनका शतक 57 गेंदों में बना, जो टेस्ट क्रिकेट में दूसरा सबसे तेज शतक है। नियमित कप्तान रिकी पोंटिंग की अनुपस्थिति में टीम की अगुआई करने का मौका मिलना उनके लिए दोधारी तलवार जैसा था, लेकिन गिलक्रिस्ट ने वह कर दिखाया जो 2001 की स्टीव वॉ की अगुवाई वाली विश्व-विजेता टीम भी नहीं कर पाई थी। ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 35 वर्षों में पहली बार हराकर श्रृंखला पर कब्जा कर लिया।

    महेंद्र सिंह धोनी बनाम एडम गिलक्रिस्ट (टेस्ट)

यदि गिलक्रिस्ट टेस्ट क्रिकेट में सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करते थे, तो वह अक्सर खेल के छोटे प्रारूप में ऑस्ट्रेलिया को धमाकेदार शुरूआत प्रदान करते थे। क्रिकेट की दुनिया के बेहतरीन सलामी बल्लेबाजों में से एक, गिलक्रिस्ट ने एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय में क्रम के शीर्ष पर विध्वंसक साझेदारियाँ की। तीन विश्वकप जीतने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम में शामिल, गिलक्रिस्ट ने अपना सर्वश्रेष्ठ शायद फाइनल के लिए बचा कर रखा था। 2007 के संस्करण में, गिलक्रिस्ट ने शानदार 149 रन बनाए| बाद में यह सामने आया कि उन्होंने अपने बाएं दस्ताने के अंदर एक स्क्वाश की गेंद छिपाई थी, बॉब म्युलमैन द्वारा दी गई एक सलाह के चलते, जिससे गेंद को अधिक सीधा मारने में मदद मिल सके। कई अन्य शानदार पारी भी थीं, जो कि उनके 16 एकदिवसीय शतकों के कीर्तिमान से झलकता है।

    महेंद्र सिंह धोनी बनाम एडम गिलक्रिस्ट (टेस्ट)

गिलक्रिस्ट एक विशुद्ध बल्लेबाज के रूप में भी किसी भी टीम में खेल सकते थे, लेकिन वह विकेट के पीछे भी एक शानदार खिलाड़ी थे। कुल 888 खिलाडियों को आउट करने में सहायता करना, जिसके चलते वे मार्क बाउचर के बाद दूसरे क्रम पर आते हैं, उनके दर्जे को दर्शाता है। उनकी विकेटकीपिंग शेन वार्न की गेंदबाजी की पूरक थी, वे एक दूसरे को पूरी तरह से समझते थे।

    मैथ्यू हेडेन – ऑस्ट्रेलिया – रिकॉर्ड

2007-08 में भारत के खिलाफ घरेलू श्रृंखला के बाद गिलक्रिस्ट ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा। उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग के एक प्रमुख चेहरे के रूप में क्रिकेट प्रशंसकों का मनोरंजन करना बरकरार रखा| 2008 में एक भुलाने योग्य उद्घाटन संस्करण के बाद, डेक्कन चार्जर्स ने गिलक्रिस्ट के सक्षम नेतृत्व में दक्षिण अफ्रीका में खेला जाने वाला दूसरा संस्करण जीता| वे 2013 में टूर्नामेंट के पांचवें संस्करण के अंत में सभी प्रकार के क्रिकेट से सन्यास की घोषणा करने से पहले किंग्स इलेवन पंजाब के लिए भी खेले।

गिलक्रिस्ट ने 2008 में अपनी आत्मकथा ‘ट्रू कलर्स’ जारी की और यह तत्काल विवाद में फंस गई जब उन्होने ‘मंकी गेट’ कांड, जो जनवरी, 2008 में ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच सिडनी टेस्ट में हुआ था, के दौरान सचिन तेंदुलकर की भूमिका की आलोचना की| उन्होंने अपनी आत्मकथा में मुथैया मुरलीधरन की भी खिंचाई की| गिलक्रिस्ट का मानना था कि मुरली के एक्शन की सुविधा के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने चकिंग नियम को बदला था।

अपने सन्यास के बाद, गिलक्रिस्ट एक टिप्पणीकार बन गए और अब वह ऑस्ट्रेलिया में चैनल नाइन टीम और कुछ अन्य स्थानीय प्रसारणकर्ताओं का एक नियमित हिस्सा हैं।

    ग्लेन मैकग्राथ – ऑस्ट्रेलिया – रिकॉर्ड

उपलब्धियां

पुरस्कार

गिलक्रिस्ट 2002 में विस्डेन क्रिकेटर ऑफ द ईयर की सूची में शामिल थे, और 2003 और 2004 में ऑस्ट्रेलिया के सर्वश्रेष्ठ एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी भी थे। उन्हें 2003 में एलन बॉर्डर पदक से सम्मानित किया गया और वह एकमात्र ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर थे जो वर्तमान में खेल भी रहे थे और उन्हें 2004 में “रिची बेनॉड की महानतम एकादश” में नामित होने का सम्मान भी मिला था। उन्हें 2004-05 में आईसीसी वर्ल्ड इलेवन में एसीसी एशियाई इलेवन के खिलाफ चैरिटी सीरीज़ के लिए चुना गया था। उन्हें अंतरराष्ट्रीय गेंदबाजों द्वारा “विश्व के सबसे खतरनाक बल्लेबाज” के रूप में चुना गया और उन्हें ऑस्ट्रेलिया की “महानतम एकदिवसीय टीम” में विकेटकीपर और ओपनिंग बल्लेबाज के रूप में नामित किया गया। दस हजार से अधिक लोगों द्वारा की गयी वोटिंग में उन्हें पिछले एक सौ वर्षों में नौवें महानतम ऑल राउंडर का दर्जा दिया गया। प्रमुख क्रिकेट लेखकों के एक पैनल ने उन्हें ऑस्ट्रेलिया के सभी समय के सर्वश्रेष्ठ एकादश में चुना। गिलक्रिस्ट ने न केवल ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट पर अपनी छाप छोड़ी है, बल्कि पूरी क्रिकेटिंग दुनिया पर भी। 2010 में क्रिकेट और समुदाय के प्रति उनकी सेवाओं के लिए गिलक्रिस्ट को ऑर्डर ऑफ ऑस्ट्रेलिया का सदस्य बनाया गया था। उन्हें 2012 में स्पोर्ट्स ऑस्ट्रेलिया द्वारा हॉल ऑफ फ़ेम में शामिल किया गया था। 9 दिसंबर 2013 को आईसीसी ने यह घोषणा की कि उन्होंने प्रतिष्ठित आईसीसी हॉल ऑफ़ फेम में गिलक्रिस्ट को शामिल किया है।

टेस्ट मैचों में प्रदर्शन

गिलक्रिस्ट का सर्वश्रेष्ठ टेस्ट स्कोर 204 रन है। उन्होंने यह पारी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जोहान्सबर्ग में 2001-2002 में खेली थी।

उन्होंने छह टेस्ट मैचों में ऑस्ट्रेलिया का नेतृत्व किया है: चार में जीत मिली, एक में हार और एक ड्रॉ रहा।

100 छक्कों के साथ टेस्ट इतिहास में दूसरे सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले खिलाड़ी। वह 100 टेस्ट छक्के लगाने वाले पहले बल्लेबाज़ भी थे।

उन्होंने टेस्ट में चौथा सबसे तेज शतक (57 गेंदों में 100 रन) इंग्लैंड के खिलाफ 16 दिसंबर 2006 को लगाया था।

एक विकेटकीपर द्वारा 4 फरवरी 2008 तक वह दुसरे सबसे ज्यादा टेस्ट शिकार (416) करने वाले खिलाड़ी थे।

वह एक विकेटकीपर द्वारा 4 फरवरी 2008 तक सर्वाधिक टेस्ट शतक (17) बनाने वाले बल्लेबाज़ भी थे।

    रिकी पोंटिंग – ऑस्ट्रेलिया – रिकॉर्ड

वनडे के मुख्य आकर्षण:

एकदिवसीय पदार्पण: बनाम दक्षिण अफ्रीका, फरीदाबाद, 1996-97।

एक विकेटकीपर (472) द्वारा सबसे ज्यादा वनडे शिकार करने वाले दूसरे खिलाड़ी।

गिलक्रिस्ट का सर्वश्रेष्ठ वनडे स्कोर 172 है, जो जिम्बाब्वे के खिलाफ होबार्ट में 2003-04 में बनाया गया था।

उन्होंने 15 एकदिवसीय मैचों में ऑस्ट्रेलिया का नेतृत्व किया है: 11 में टीम को जीत मिली और 4 में हार।

उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के लिए दूसरा सबसे तेज एकदिवसीय शतक बनाया था (14 फरवरी 2006 को श्रीलंका के खिलाफ 67 गेंदों में 100 रन)।

23 फरवरी 2015 तक कुमार संगकारा के बाद वह एक विकेटकीपर द्वारा सबसे ज्यादा वनडे शतक बनाने वाले बल्लेबाज़ थे।

    शेन वॉर्न – ऑस्ट्रेलिया – रिकॉर्ड

विश्व कप रिकॉर्ड

पहले विकेटकीपर जिन्होंने 50 से अधिक विकेटों में अपनी भूमिका अदा की और अब विश्वकप के इतिहास में एक विकेटकीपर के रूप में सबसे ज्यादा विकेट लेने वालों की सूची में वह दूसरे स्थान पर हैं (52)।

सरफराज अहमद के साथ संयुक्त रूप से एक विश्व कप की पारी में विकेटकीपर के रूप में सबसे अधिक विकेट लेने का रिकॉर्ड भी उन्हीं के नाम है (6)।

विश्वकप सीरीज में एक विकेटकीपर द्वारा सबसे अधिक विकेट का रिकॉर्ड भी उन्हीं के नाम है (21 विकेट)। 2003 के आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में उन्होंने यह कारनामा किया।

क्रिकेट विश्व कप के फाइनल में सबसे तेजी से शतक बनाने के रिकॉर्ड के साथ-साथ विश्व कप फाइनल में अब तक के सर्वोच्च स्कोर (149) का रिकॉर्ड भी उन्हीं के नाम दर्ज है।

एडम गिलक्रिस्ट से जुड़ी अन्य खबरें:

धोनी के योगदान को कमतर आँकने की भूल न करे भारत: एडम गिलक्रिस्ट

एडम गिलक्रिस्ट ने भेजा वीरेंद्र सहवाग को सन्देश, ट्विटर पर लोगों ने की प्रशंसा

Summary
Review Date
Reviewed Item
Adam Gilchrist Records | Australia | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: