ग्लेन मैकग्राथ – ऑस्ट्रेलिया – रिकॉर्ड

Glenn-McGrath-Records-in-Hindi

पूरा नाम – ग्लेन मैकग्राथ डोनाल्ड

जन्म – 9 फरवरी, 1970, डुब्बो, न्यू साउथ वेल्स

प्रमुख टीमें – ऑस्ट्रेलिया, दिल्ली डेयरडेविल्स, आईसीसी विश्व एकादश, मिडलसेक्स, न्यू साउथ वेल्स, वर्सेस्टरशाइर

उपनाम – पीजन, मिलार्ड

भूमिका – गेंदबाज

बल्लेबाजी की शैली – राइट-हैंड बैट

गेंदबाजी की शैली – राइट-आर्म तेज़-मध्यम

ऊंचाई – 1.95 मीटर

टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण (कैप 358) – 12 नवंबर 1993 बनाम न्यूजीलैंड
अंतिम टेस्ट – 2 जनवरी 2007 बनाम इंग्लैंड

वनडे कैरियर की शुरुआत (कैप 113) – 9 दिसंबर 1993 बनाम दक्षिण अफ्रीका
अंतिम वनडे – 28 अप्रैल 2007 बनाम श्रीलंका
वनडे शर्ट नंबर – 11

Batting and fielding averages
Mat Runs HS Ave SR 100 50 4s 6s Ct
Tests 124 641 61 7.36 40.82 0 1 51 1 38
ODIs 250 115 11 3.83 48.72 0 0 7 0 37
T20Is 2 5 5 5 41.66 0 0 0 0 1
First-class 189 977 61 7.75 0 2 54
List A 305 124 11 3.35 45.92 0 0 48
T20s 19 9 5 3 50 0 0 1 0 5
Bowling averages
Mat Wkts BBI BBM Ave Econ SR 4w 5w 10
Tests 124 563 8/24 10/27 21.64 2.49 51.9 28 29 3
ODIs 250 381 7/15 7/15 22.02 3.88 34 9 7 0
T20Is 2 5 3/31 3/31 15.8 9.87 9.6 0 0 0
First-class 189 835 8/24 20.85 2.5 50 42 7
List A 305 463 7/15 7/15 21.6 3.79 34.1 15 7 0
T20s 19 20 4/29 4/29 24.6 6.83 21.6 1 0 0

माइक विट्नी ने एक युवा गेल्न मैकग्राथ के बारे में कहा था – “पतला – एंब्रोस जैसा पतला, ब्रूस रीड जितना नही. इसके काफ़ी समय बाद माइक आथर्टन ने एक बड़े पैमाने पर मैकग्राथ की तुलना एंब्रोस से की थी. 1993 में न्यू साऊथ वेल्स से सीधे टेस्ट क्रिकेट में मैकग्राथ का चयन मर्व ह्यूग्स की जगह हुआ था, और वो अपने समय के सबसे बड़े ऑस्ट्रेलिया के तेज़ गेंदबाज़ बने. 2005 के सुपर टेस्ट में ग्लेन मैकग्राथ ने वेस्ट इंडीज़ के कोर्टनी वॉल्ष के 519 विकेट का विश्व कीर्तिमान तोड़ा और दुनिया के सबसे ज़्यादा टेस्ट विकेट लेने वाले तेज़ गेंदबाज़ बने. ऑस्ट्रेलिया के इतिहास में अगर मैकग्राथ की तेज़ गेंदबाज़ी में महारथ को कोई टक्कर दे सकता है तो वो केवल डेनिस लिली हैं. अपने करियर में मैकग्राथ को कई बार ख़त्म घोषित किया गया – 2004 में टखने में लगी चोट के बाद और अपनी पत्नी की सेहत का ख्याल रखने के लिए लिए गए लंबे अवकाश के बाद ऐसा ही लगा था – लेकिन मैकग्राथ ने अपनी कहानी खुद लिखी. उन्होने 2006-07 की एशेज़ में इंग्लैंड को 5-0 से हराने के बाद टेस्ट क्रिकेट से सन्यास लिया और 2007 एकदिवसीय विश्व कप (जिस में मैकग्राथ मॅन ऑफ द टूर्नामेंट थे) जीतने के बाद उन्होने एकदिवसीय क्रिकेट को अलविदा कहा.

शेन वॉर्न – ऑस्ट्रेलिया – रिकॉर्ड

मैकग्राथ की ख़ासियत उनकी ऑफ स्टंप की सटीक लाइन और लेंथ थी. उन्हें ऑफ कट और बाउन्स दोनो ही मिलता था, अक्सर विरोधी टीम के सबसे बड़े खिलाड़ियों को आउट करते थे – खास तौर पर अथर्टन और लारा – और स्लेज करने से भी नही कतराते थे. बल्लेबाज़ी को मैकग्राथ ने कभी गंभीरता से नही लिया और उनकी टेस्ट में लगाई पहली फिफ्टी काफ़ी आश्चर्यजनक थी. हालाँकि कभी कभी अपने गुस्से के चलते मैकग्राथ नकारात्मक छवि में प्रस्तुत हुआ करते थे.

2003 विश्व कप में नामीबिया की कमज़ोर टीम के खिलाफ मैकग्राथ ने केवल 15 रन देकर 7 विकेट लिए. टखने में लगी चोट के कारण लगा था की मैकग्राथ टेस्ट में 500 विकेट तक नही पहुँच पाएँगे लेकिन जुलाइ 2004 में डार्विन टेस्ट में श्रीलंका के विरुद्ध एक पारी में 5 विकेट लेकर मैकग्राथ ने शानदार वापसी की. इसके तीन महीने बाद नागपुर टेस्ट मैच में मैकग्राथ ऑस्ट्रेलिया की तरफ से 100 टेस्ट खेलने वाले पहले तेज़ गेंदबाज़ बने और अपनी महानता को फिर एक बार साबित करते हुए उन्होने पर्थ टेस्ट मैच में पाकिस्तान की कमज़ोर बल्लेबाज़ी के खिलाफ 24 रन देकर 8 विकेट लिए, जो टेस्ट क्रिकेट में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था और किसी भी ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज़ का दूसरा सबसे बेहतरीन प्रदर्शन था.

ब्रेट ली – ऑस्ट्रेलिया – रिकॉर्ड

2005 की एशेज़ सीरीज़ में लॉर्ड्स टेस्ट के पहले दिन मैकग्राथ ने 500 टेस्ट विकेट का जादुई आँकड़ा पार किया और उसके बाद उनके कंधे और टखने में चोट के कारण बाहर होने से ऑस्ट्रेलिया को बड़ा झटका लगा और वे एशेज़ हार गए. इसके बाद का समय मैकग्राथ के लिए और भी दर्दनाक रहा और उनकी पत्नी जेन को फिर कॅन्सर हुआ जिसके चलते मैकग्राथ को लंबे समय तक क्रिकेट से दूर रहना पड़ा. वी बी सीरीज़ के फाइनल और उसके बाद दक्षिण अफ्रीका और बांग्लादेश के दौरो को मैकग्राथ ने छोड़ दिया लेकिन इसके बाद हैरान करने वाली वापसी करते हुए उन्होने विश्व कप 2007 में रिकौर्ड़ बनाते हुए 26 विकेट लिए.

मैकग्राथ के कीर्तिमान –

– 2001 में मैकग्राथ ऑस्ट्रेलियन इन्स्टिट्यूट ऑफ स्पोर्ट बेस्ट ऑफ द बेस्ट लिस्ट में शामिल होने वाले केवल 21वें खिलाड़ी बने

– 26 जनवरी 2008 को मैकग्राथ क्रिकेट में दिए अपने योगदान और अपनी पत्नी के साथ मिलकर मैकग्राथ फाउंडेशन के द्वारा समाज कल्याण के लिए ऑर्डर ऑफ ऑस्ट्रेलिया के सदस्य बनाए गए

– 2008 में मैकग्राथ न्यू साऊथ वेल्स ऑस्ट्रेलियन ऑफ द ईयर बने

– 31 दिसंबर 2012 को मैकग्राथ को आईसीसी हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया

– 2011 में मैकग्राथ को स्पोर्ट ऑस्ट्रेलिया हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया

– मैकग्राथ 7 सर्वश्रेष्ठ दसवें विकेट की साझेदारियो में शामिल हैं जिनमें से दो शतकीय साझेदारी हैं

– मैकग्राथ के नाम किसी भी टेस्ट मैच में 10 विकेट लेने वाले गेंदबाज़ों में सबसे कम रन देने का रिकौर्ड़ है

एडम गिलक्रिस्ट – ऑस्ट्रेलिया – रिकॉर्ड

– अपने सन्यास के समय मैकग्राथ किसी भी नंबर 11 के बल्लेबाज़ के बनाए सबसे ज़्यादा रन का रिकौर्ड़ (603) रखते थे जिसे बाद में श्रीलंका के मुथैया मुरलिथरण ने तोड़ा

– ग्लेन मैकग्राथ के नाम किसी भी ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज़ के द्वारा टेस्ट क्रिकेट में बनाए सबसे ज़्यादा शून्य (35) का रिकौर्ड़ है, शेन वॉर्न के नाम 34 शून्य हैं

– मैकग्राथ के नाम टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज़्यादा बल्लेबाज़ों (104) को शून्य पर आउट करने का रिकौर्ड़ है

– मैकग्राथ ने 4 एकदिवसीय विश्व कप खेले (1996 से 2007 तक) और उनमें से तीन में ऑस्ट्रेलिया जीता और एक में फाइनल में हारा था

– मैकग्राथ के नाम एकदिवसीय विश्व कप में सबसे ज़्यादा विकेट, सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज़ी प्रदर्शन, गेंदबाज़ी औसत और मेडन ओवर फेंकने का रिकौर्ड़ है

– ग्लेन मैकग्राथ के नाम एक अनूठा रिकौर्ड़ है की टेस्ट क्रिकेट, एकदिवसीय क्रिकेट और ऑस्ट्रेलिया में अपने आख़िरी मैच की आख़िरी गेंद पर उन्होने विकेट लिया

व्यक्तिगत जीवन

ग्लेन की पहली पत्नी, जेन लुईस, यूनाइटेड किंगडम में पैदा हुई थीं और उन्होंने शादी से पहले फ्लाइट अटेंडेंट के रूप में काम किया था। ग्लेन और जेन 1995 में “जो बनानास” नामक हांगकांग के एक नाइट क्लब में मिले और 2001 में उनकी शादी हुई। उनके दो बच्चे- जेम्स और होली हैं। जेन मैक्ग्रा ने मेटास्टैटिक स्तन कैंसर के साथ बार-बार लड़ाई लड़ी, जिसका पहला निदान 1997 में किया गया था। 26 जनवरी 2008 (ऑस्ट्रेलियाई दिवस) को ग्लेन और जेन मैक्ग्रा दोनों को आर्डर ऑफ़ ऑस्ट्रेलिया का सदस्य बनाया गया। जेन मैक्ग्रा का निधन 22 जून 2008 को 42 वर्ष की आयु में कैंसर सर्जरी के बाद आयी समस्याओं से हुआ।

2009 इंडियन प्रीमियर लीग के दौरान ग्लेन मैक्ग्रा ने इंटीरियर डिज़ाइनर सारा लिओनार्डी से मुलाकात की। उन्होंने 18 नवंबर 2010 को क्रोनुला में शादी की। अप्रैल 2011 में मैक्ग्रा ने 6 मिलियन डॉलर में अपना घर बेचने का फैसला किया। मई 2015 में इस दंपति ने घोषणा की कि वे अक्टूबर में उनके पहले बच्चे की अपेक्षा कर रहे हैं। 4 सितंबर, 2015 को उन्होंने एक बेटी का स्वागत किया, जिसका नाम रखा गया मैडिसन मैरी हार्पर मैक्ग्रा।

2015 में मैक्ग्रा की तब व्यापक आलोचना हुई जब यह पता चला कि उन्होंने दक्षिण अफ्रीका में एक शिकार सफारी के दौरान कई जानवरों को मार डाला था। मैक्ग्रा की तस्वीरें चिपितानी सफारी की वेबसाइट पर दिखाई दीं। उसमे उन्हें एक मृत भैंस, दो लकड़बघ्घों और एक हाथी के दाँत के साथ देखा जा सकता था। उन्होंने बाद में इस घटना पर अफसोस व्यक्त किया। उन्होंने इस वाकये से पहले ऑस्ट्रेलियाई शूटर पत्रिका को बताया था कि “मैं ट्रॉफी शिकार करने को उत्सुक हूँ। विशेष रूप से कोई जानवर नहीं, लेकिन अफ्रीका में एक बड़ी सफारी का हिस्सा जरूर बनना चाहूँगा।”

इंडियन प्रीमियर लीग

मैकग्रा को दिल्ली डेयरडेविल्स द्वारा 2008 में इंडियन प्रीमियर लीग ट्वेंटी20 क्रिकेट प्रतियोगिता के पहले सीजन के लिए 350,000 अमेरिकी डालर (1.4 करोड़ रुपये) की राशि दी गयी थी। उनकी टी-शर्ट पर उनका नाम “पिज” लिखा गया था। यह उनके उपनाम “पिजन” यानि कबूतर का लघु रूप था। सुरक्षा चिंताओं के कारण 2009 में आईपीएल दक्षिण अफ्रीका में खेला गया था, लेकिन उनका इस्तेमाल पूरे टूर्नामेंट में दिल्ली डेयरडेविल्स की बेंच स्ट्रेंथ में वृद्धि करने के लिए किया गया। पिछले सीजन में दिल्ली के लिए सबसे किफायती गेंदबाज होने के बावजूद वह एक भी मैच नहीं खेल पाए थे। 5 जनवरी 2010 को फ्रैंचाइजी ने घोषणा की कि मैक्ग्रा के अनुबंध समाप्त हो गया है और इसतरह से प्रभावी ढंग से उनके क्रिकेट कैरियर का अंत भी हो गया।

मैक्ग्राथ के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन:

Bowling
Score Fixture Venue Season
Test 8/24 Australia v Pakistan WACA, Perth 2004
ODI 7/15 Australia v Namibia North West Cricket Stadium, Potchefstroom 2003
T20I 3/31 England v Australia Rose Bowl, Southampton 2005
FC 8/24 Australia v Pakistan WACA, Perth 2004
LA 7/15 Australia v Namibia North West Cricket Stadium, Potchefstroom 2003
T20 4/29 Delhi Daredevils v Royal Challengers Bangalore Feroz Shah Kotla, Delhi 2008

मैक्ग्राथ के टेस्ट क्रिकेट में 10 विकेट आंकड़ें:

# Figures Match Opponent Venue City Country Year
1 10/78 46 West Indies Queen’s Park Oval Port of Spain Trinidad 1999
2 10/103 59 India Sydney Cricket Ground Sydney Australia 2000
3 10/27 63 West Indies Brisbane Cricket Ground Brisbane Australia 2000

मैक्ग्राथ के एकदिवसीय क्रिकेट में मैन ऑफ़ द मैच अवार्ड:

S No Opponent Venue Date Match Performance Result
1 Sri Lanka Adelaide Oval, Adelaide 24 January 1999 2 (5 balls) ; 10–0–40–5 Australia won by 80 runs.
2 West Indies Old Trafford Cricket Ground, Manchester 30 May 1999 8.4–3–14–5 ; DNB Australia won by 6 wickets.
3 India Kennington Oval, London 4 June 1999 DNB ; 10–1–34–3 Australia won by 77 runs.
4 Pakistan Melbourne Cricket Ground, Melbourne 2 February 2000 9–1–17–3 ; DNB Australia won by 6 wickets.
5 Kenya Gymkhana Club Ground, Nairobi 2 September 2002 8–5–8–3 ; DNB Australia won by 8 wickets.
6 New Zealand Sinhalese Sports Club Ground, Colombo 15 September 2002 DNB ; 7–1–37–5 Australia won by 164 runs.
7 Namibia Senwes Park, Potchefstroom 27 February 2003 DNB ; 7–4–15–7 Australia won by 256 runs.
8 West Indies Sabina Park, Kingston 18 May 2003 10–2–31–4, 1 ct. ; DNB Australia won by 8 wickets.

Leave a Response

share on: