मुश्फिकुर रहीम – बांग्लादेश – रिकॉर्ड

Mushfiqur Rahim Records

पूरा नाम – मोहम्मद मुशफिकर रहीम

जन्म – 9 जून 1987 बोगरा

प्रमुख टीमें – बांग्लादेश, बांग्लादेश अंडर -19, कराची किंग्स, नॉर्थ जोन (बांग्लादेश), राजशाही डिवीजन, सिलेट् डिवीजन, सिलेट् रॉयल्स

भूमिका – विकेटकीपर बल्लेबाज

बल्लेबाज़ी शैली – दाएं हाथ के बल्लेबाज़

क्षेत्ररक्षण स्थिति – विकेटकीपर

टेस्ट पदार्पण (कैप 41) – 26 मई 2005 बनाम इंग्लैंड

एकदिवसीय पदार्पण (कैप 86) – 6 अगस्त 2006 बनाम ज़िम्बाब्वे

टी 20 पदार्पण (कैप 6) – 28 नवंबर 2006 बनाम जिम्बाब्वे

बल्लेबाजी और क्षेत्ररक्षण का औसत														 	मॅच 	पारी	नाबाद	रन	सर्वाधिक स्कोर	औसत	गेंद खेलीं	स्ट्राइक रेट	शतक	अर्धशतक	चौके	छ्क्के	कॅच	स्टमपिंग टेस्ट	54	100	8	3265	200	35.48	6947	46.99	5	17	404	27	89	12 एकदिवसीय	169	155	23	4132	117	31.3	5410	76.37	4	23	332	54	136	39 टी२०	59	51	9	726	50	17.28	642	113.08	0	1	60	18	23	24 प्रथम श्रेणी	93	164	19	5147	200	35.49			8	29			152	20 लिस्ट ए	240	221	35	6715	145*	36.1			8	40			197	73 ट्वेंटी२०	126	113	24	2343	86	26.32	1883	124.42	0	12	187	65	73	38
Mushfiqur-Rahim-Batting-and-Fielding-Records-in-Hindi

गेंदबाज़ी औसत													 	मॅच 	पारी	गेंदें	रन	विकेट	बेस्ट/पारी	बेस्ट/मॅच	औसत	रन प्रति ओवर	स्ट्राइक रेट	4 विकेट	5 विकेट	10 विकेट टेस्ट	54	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	- एकदिवसीय	169	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	- टी२०	59	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	- प्रथम श्रेणी	93		72	34	1	1/23	1/23	34	2.83	72	0	0	0 लिस्ट ए	240	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	- ट्वेंटी२०	126	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-
Mushfiqur-Rahim-Bowling-Records-in-Hindi

स्टंप के पीछे हमेशा जीवंत रहने वाले मुशफिकुर रहीम, एक बल्लेबाज़ और विकेट रक्षक के रूप में बांग्लादेश टीम में उपयुक्त बैठते हैं। छोटे कद के रहीम, स्टंप के पीछे हमेशा चपल बने रहते हैं और एक काबिल बल्लेबाज भी हैं। उन्हें 2005 में इंग्लैंड के दौरे के लिए खालिद मसूद के विकल्प के तौर पर चुना गया था। लेकिन उन्होंने दौरे के दौरान बल्ले से उनकी क्षमता के साथ सभी को प्रभावित किया और उन्हें 16 वर्ष की आयु में एक विशेषज्ञ बल्लेबाज के रूप में टेस्ट टीम में खेलने के लिए शामिल कर लिया गया। वह लॉर्ड्स में खेलने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बन गए। 2006 में जिम्बाब्वे दौरे के लिए टीम में वापसी करने से पहले टखने की चोट ने उन्हें कुछ समय तक टीम से बाहर रहने के लिए मजबूर कर दिया। उनके लगातार अच्छे प्रदर्शन की वजह से उन्हें वेस्टइंडीज़ में 2007 में हुए विश्वकप के लिए विकेट कीपर के रूप में पहली पसंद के तौर पर शामिल किया गया। वह जल्द ही टेस्ट टीम का भी हिस्सा बन गए और श्रीलंका के खिलाफ 80 रन बनाकर टीम में अपने स्थान पर केवल अपने तीसरे टेस्ट मैच में ही मुहर लगा दी।

वह बल्ले के साथ नीचे के क्रम में लगातार योगदान देना जारी रखते रहे और बांग्लादेश के स्पिन गेंदबाज़ी वाले हमले के लिए एक कुशल विकेट रक्षक के तौर पर भी सक्षम थे। उनकी ख्याति का क्षण 2010 में भारत के खिलाफ एक टेस्ट मैच में आया था। उन्होंने एक तेज तर्रार शतक बनाया। यह किसी भी बांग्लादेशी द्वारा बनाया गया सबसे तेज शतक था और अपनी तकनीक के साथ उन्होंने कई लोगों को प्रभावित भी किया। यह बांग्लादेश को पराजय से तो नहीं बचा पाया लेकिन निश्चित रूप से वह अपने देश के हीरो बन गए थे। वास्तव में तब से बांग्लादेश उन्हें और कुछ अन्य प्रतिभाशाली युवाओं को उम्मीद भरी नजरों से देखता आ रहा है।

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने 2012 में छह टीमों वाली बीपीएल की शुरुआत की। बीसीबी ने मुशफिकुर को दुरंतो राजशाही का आईकॉन प्लेयर बनाया। उनके नेतृत्व में दुरंतो ने सेमीफाइनल तक का सफर तय किया जहां वे बरीसाल बर्नर्स से हार गए। रहीम ने उस सत्र में 11 मैचों में 234 रन बनाए। 2012 के एशिया कप में रहीम की कप्तानी में बांग्लादेश ने तीन मैचों में से दो में जीत दर्ज की और पहली बार फाइनल में पहुंच गए, जहां वे पाकिस्तान से हार गए। अप्रैल में उनके ग्रेड ए+ सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट का नवीणीकरण हुआ। 11 मार्च 2013 को गॉल में श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के दौरान रहीम पहले बांग्लादेशी बन गये जिन्होंने दोहरा शतक जमाया। इससे पहले मोहम्मद अशरफुल ने 190 का सर्वाधिक स्कोर बनाया था।

8 मई 2013 को मुशफिकुर ने कप्तानी से इस्तीफा दे दिया। लेकिन कुछ दिनों के बाद उन्होंने घोषणा की कि उन्होंने गलती की है और 3 जुलाई 2013 को बीसीबी ने कहा कि वे वर्ष के अंत तक रहीम को कप्तान बनाएंगे। रहीम की कप्तानी में बांग्लादेश के लिए अक्टूबर में न्यूजीलैंड के खिलाफ और नवंबर 2013 में एक उत्कृष्ट घरेलू श्रृंखला थी जब उनकी टीम ने पहले दो टेस्ट जीत लिए, सभी तीन ओडीआई भी जीते और केवल एक टी -20 मैच ही हारे।

उन्होंने 2014 के एशिया कप की शुरुआत में भारत के खिलाफ अपना दूसरा ओडीआई शतक बनाया। लेकिन उन्होंने चोट की वजह से उस मैच में काफी संघर्ष किया। अफगानिस्तान के खिलाफ अगले मैच में रहीम ने खेलना जारी रखा लेकिन मेजबान टीम 32 रन से हार गई और यह बात उनके और उनकी टीम के लिए बहुत निराशाजनक थी। उन्होंने 2014 वर्ल्ड टी20 में अपने पक्ष की कप्तानी की। मेजबान होने के कारण टीम मुख्य टूर्नामेंट के लिए क्वालीफाई करने में तो कामयाब हो गयी, पर वे प्रशंसकों की अपेक्षाओं पर खरा नहीं उतर सके क्योंकि उन्होंने अपने सभी मैच गंवा दिए थे।

अगस्त 2014 में बांग्लादेश ने वेस्ट इंडीज का दौरा किया और एक भी मैच उनकी टीम नहीं जीत सकी। हालांकि, रहीम ने सीरीज में अपना तीसरा टेस्ट शतक स्कोर कर के दिखाया। सितंबर 2014 में यह घोषणा की गई थी कि मशर्रफे मोर्तजा एकदिवसीय टीम की कप्तानी का पद संभालेंगे, जबकि रहीम टेस्ट प्रारूप के लिए कप्तान बने रहेंगे। इसके बाद घरेलू सीरीज़ में वह एकदिवसीय मैचों में टीम के लिए सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी बने जब उन्होंने पांच मैचों में 213 रन बनाए, जिसमें दो अर्धशतक शामिल थे। उस टूर्नामेंट में उन्हें मैन ऑफ द सीरीज़ भी नामित किया गया था।

Summary
Mushfiqur Rahim Records | Bangladesh | CricketinHindi.com
Article Name
Mushfiqur Rahim Records | Bangladesh | CricketinHindi.com
Author
Publisher Name
CricketinHindi.com
Publisher Logo

Leave a Response

share on: