जेम्स एंडरसन – इंग्लैंड – रिकॉर्ड

James Anderson Records

पूरा नाम – जेम्स माइकल एंडरसन

जन्म – 30 जुलाई, 1982, बर्नली, लंकाशायर

प्रमुख टीमें – इंग्लैंड, ऑकलैंड, इंग्लैंड अंडर -19, लंकाशायर, लंकाशायर क्रिकेट बोर्ड

उपनाम – जिमी

भूमिका – गेंदबाज

बल्लेबाजी शैली – बाएं हाथ के बल्लेबाज़

गेंदबाजी शैली – दाएं हाथ के तेज-मध्यम

ऊँचाई – 6 फुट 2 इंच

टेस्ट पदार्पण (कैप 613) – 22 मई 2003 बनाम ज़िम्बाब्वे

एकदिवसीय पदार्पण (कैप 172) – 15 दिसंबर 2002 बनाम ऑस्ट्रेलिया

Batting and fielding averages
Mat Runs HS Ave SR 100 50 4s 6s Ct
Tests 134 1128 81 9.98 40.5 0 1 152 3 84
ODIs 194 273 28 7.58 48.66 0 0 23 0 53
T20Is 19 1 1* 1 50 0 0 0 0 3
First-class 222 1730 81 10.05 0 1 132
List A 255 371 28 9.27 0 0 65
T20s 44 23 16 5.75 88.46 0 0 3 0 8
Bowling averages
Mat Wkts BBI BBM Ave Econ SR 4w 5w 10
Tests 134 523 7/42 11/71 27.4 2.9 56.5 25 25 3
ODIs 194 269 5/23 5/23 29.22 4.92 35.6 11 2 0
T20Is 19 18 3/23 3/23 30.66 7.84 23.4 0 0 0
First-class 222 859 7/42 25.62 2.92 52.5 37 43 6
List A 255 352 5/23 5/23 28.41 4.83 35.2 11 2 0
T20s 44 41 3/23 3/23 32.14 8.47 22.7 0 0 0

बर्नले, लंकाशायर में जन्मे जेम्स एंडरसन वर्तमान समय में दुनिया के सबसे अच्छे स्विंग गेंदबाजों में से एक हैं। उन्होंने 2002 के मौसम में इंग्लैंड के लिए अपने करियर की शुरुआत की और 2007 के आखिर तक टीम में आते जाते रहे। उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ 2003 विश्वकप में एक सनसनीखेज स्पेल डाला जिसने उनके आगमन का उद्घोष कर दिया था। लेकिन वह इस फॉर्म को बरक़रार नहीं रख पाए और टीम से बाहर हो गए।

अपने करिअर के शुरुआती भाग के दौरान उन्हें बहुत नरम माना जाता था और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर शीर्ष-स्तरीय खिलाड़ी बनने के लिए आवश्यक गुणों की उनमें कमी साफ़ नज़र आती थी। लेकिन 2007 के उत्तरार्ध से उनके लिए सबकुछ बदल सा गया। उन्हें अब हर टीम के खिलाफ विकेट मिलने लगे थे और उन्हें उचित सम्मान भी मिलने लगा था।

स्टुअर्ट ब्रॉड – इंग्लैंड – रिकॉर्ड

उन असंगत वर्षों के दौरान जब वे टीम से बाहर थे, इंग्लैंड के कोचिंग मैनेजमेंट ने उनके गेंदबाजी एक्शन पर कई सवाल खड़े किये जिसके परिणामस्वरूप उनके आत्मविश्वास और फार्म का काफी नुकसान हुआ। लेकिन एक बार जब वह अपने पुराने एक्शन पर आधारित लय में आ गए, तो बेहतरीन स्विंग क्षमता और सही लाइन लेंथ की वजह से उन्हें फिर से विकेट मिलने लगे। 2010 के एशेज में उनके प्रदर्शन से तहलका मच गया जब उन्होंने इंग्लैंड के हमले का नेतृत्व किया और कूकाबुरा गेंद से 24 विकेट लेकर सभी को अपना प्रशंसक बना लिया। इसने 2006 में ऑस्ट्रेलिया में उनकी पिछली सीरीज़ के ख़राब प्रदर्शन को भुलाने में भी उन्हें मदद की।

शास्त्रीय साइड-ऑन एक्शन के साथ वह प्राकृतिक स्विंग उत्पन्न करते हैं और पुरानी गेंद को रिवर्स स्विंग कराने में भी सक्षम होते हैं। जब वह अपने चरम पर होते हैं और जब स्थिति उनकी शैली के अनुरूप होती है, तो उन्हें खेलना लगभग नामुमकिन सा हो जाता है और अक्सर वह बल्लेबाज़ को अचंभित कर देते हैं।

बल्लेबाज के रूप में वह काफी उपयोगी हैं और उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि 54 टेस्ट पारियों में कभी शून्य पर आउट नहीं होना है, जो कि एक विश्व रिकॉर्ड है। तेज गेंदबाज होने के साथ साथ वह एक महान क्षेत्ररक्षक भी हैं और वह काफी शांत स्वाभाव वाले खिलाड़ी हैं। वह फील्ड में काफी फुर्ती से भागते हैं और अक्सर गली और बैकवर्ड पॉइंट पर फील्डिंग करते देखे जा सकते हैं।

एंड्रयू फ़्लिंटॉफ़ – इंग्लैंड – रिकॉर्ड

एंडरसन के बारे में कुछ रोचक तथ्य:

आकर्षक दिखने और अपने व्यक्तित्व पर विशेष ध्यान रखने की वजह से उन्हें डेविड बेकहम समेत सबसे ज्यादा पहचाने जाने वाले खिलाड़ियों में गिना जाता है।

उन्होंने एक अंग्रेजी मॉडल डैनिएला लॉयड से विवाह किया है। दोनों 2004 में मिले और उन्हें दो बेटियों के रूप में ऊपर वाले का आशीष भी मिला है।

एंडरसन सितंबर 2010 में ‘ब्रिटेन की सबसे ज़्यादा बिकने वाली समलैंगिक पत्रिका’ के लिए नग्न मॉडलिंग करने वाले पहले क्रिकेटर बन गए।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी मैच में जून 2013 में एंडरसन ने 235 वां विकेट लेकर इंग्लैंड के लिए सर्वाधिक ओडीआई विकेट लेने का रिकॉर्ड बनाया और डैरेन गॉफ़ के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया। वह अगस्त 2013 में ओवल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांचवें टेस्ट मैच में अपना 326 वां विकेट लेकर टेस्ट मैचों में दूसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले इंग्लिश खिलाड़ी बने।

ग्लेन मैकग्राथ – ऑस्ट्रेलिया – रिकॉर्ड

इंग्लैंड ने 2013-14 की एशेज सीरीज़ के लिए एंडरसन पर बहुत भरोसा किया था। लेकिन दुर्भाग्य से, दाएं हाथ के यह गेंदबाज़ उस सीरीज में बहुत ज्यादा कुछ नहीं कर सके और उनकी टीम श्रृंखला 5-0 से हार गई। हालांकि, एंडरसन ने श्रीलंका और भारत के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करके एशेज के प्रदर्शन को भुलाने का भरपूर प्रयास किया। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज ने 55 गेंदों तक बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज को बचाने के लिए अपनी पूरी कोशिश की पर खेल के आखिरी गेंद पर आउट हो गए। उन्हें इंग्लैंड की तरफ से मैन ऑफ़ द सीरीज़ घोषित किया गया। इसके बाद उन्होंने भारत के खिलाफ अपना अच्छा प्रदर्शन जारी रखा, हालांकि लॉर्ड्स में हरी घास वाली विकेट का फायदा ना उठा सकने के लिए उनकी काफी आलोचना भी की गई और इंग्लैंड उस मैच में हार गया। लेकिन वह अगले तीन मैचों में अच्छी तरह से वापस आये और उनकी टीम ने श्रृंखला में 3-1 से जीत हासिल की। वह 25 विकेट लेकर श्रृंखला में अग्रणी विकेट लेने वाले खिलाड़ी बने और उन्होंने मैन ऑफ द सीरीज अवार्ड भी जीता। भारत के खिलाफ श्रृंखला में एंडरसन ने जो रूट के साथ अंतिम विकेट के लिए शानदार साझेदारी की। इस जोड़ी ने 198 रन जोड़े और टेस्ट मैचों में 35 रनों के साथ पिछले रिकॉर्ड को बेहतर बनाया। उन्होंने इंग्लैंड के नंबर 11 के लिए सर्वोच्च स्कोर भी दर्ज किया, जब वह 81 पर आउट हुए।

एंडरसन को एक घुटने की चोट की वजह से आगामी श्रीलंका दौरे से बाहर कर दिया गया था। हालांकि, उन्होंने भारत में हुई त्रिकोणीय सीरीज में वापसी की।

कोर्टनी वॉल्श – वेस्ट इंडीज़ – रिकॉर्ड

Summary
James Anderson Records | England | CricketinHindi.com
Article Name
James Anderson Records | England | CricketinHindi.com
Publisher Name
CricketinHindi.com
Publisher Logo

Leave a Response

share on: