मार्कस ट्रेस्कोथिक – इंग्लैंड – रिकॉर्ड

Marcus Trescothick Records in Hindi

पूरा नाम – मार्कस एडवर्ड ट्रेस्कोथिक

जन्म – 25 दिसंबर, 1975, कीन्सशाम, सॉमरसेट

प्रमुख टीमें – इंग्लैंड, सॉमरसेट

उपनाम – बैंगर, ट्रेस्को

भूमिका – सलामी बल्लेबाज

बल्लेबाजी शैली – बाएं हाथ के बल्लेबाज

गेंदबाजी शैली – दाएं हाथ के मध्यम

ऊंचाई – 6 फीट 3 इंच

शिक्षा – सर बर्नार्ड लॉवेल स्कूल

टेस्ट पदार्पण (कैप 603) – 3 अगस्त 2000 बनाम वेस्ट इंडीज
अंतिम टेस्ट – 17 अगस्त 2006 बनाम पाकिस्तान

एकदिवसीय पदार्पण (कैप 158) – 8 जुलाई 2000 बनाम ज़िम्बाब्वे
अंतिम एकदिवसीय – 28 अगस्त 2006 बनाम पाकिस्तान

बल्लेबाजी और क्षेत्ररक्षण का औसत														 	मॅच 	पारी	नाबाद	रन	सर्वाधिक स्कोर	औसत	गेंद खेलीं	स्ट्राइक रेट	शतक	अर्धशतक	चौके	छ्क्के	कॅच	स्टमपिंग टेस्ट	76	143	10	5825	219	43.79	10685	54.51	14	29	831	42	95	0 एकदिवसीय	123	122	6	4335	137	37.37	5087	85.21	12	21	528	41	49	0 टी२०	3	3	0	166	72	55.33	131	126.71	0	2	23	1	2	0 प्रथम श्रेणी	368	634	35	25201	284	42.07			64	122			520	0 लिस्ट ए	372	357	29	12229	184	37.28			28	63			149	0 ट्वेंटी२०	89	87	5	2363	108*	28.81	1569	150.6	2	17	304	80	29	0
Marcus-Trescothick-Batting-and-Fielding-records-in-Hindi
गेंदबाज़ी औसत													 	मॅच 	पारी	गेंदें	रन	विकेट	बेस्ट/पारी	बेस्ट/मॅच	औसत	रन प्रति ओवर	स्ट्राइक रेट	4 विकेट	5 विकेट	10 विकेट टेस्ट	76	10	300	155	1	1/34	1/34	155	3.1	300	0	0	0 एकदिवसीय	123	13	232	219	4	2/7	2/7	54.75	5.66	58	0	0	0 टी२०	3	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	- प्रथम श्रेणी	368		2704	1551	36	4/36		43.08	3.44	75.1		0	0 लिस्ट ए	372		2010	1644	57	4/50	4/50	28.84	4.9	35.2	1	0	0 ट्वेंटी२०	89	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-
Marcus-Trescothick-Bowling-records-in-Hindi

आवश्यक फुटवर्क में कमी होने के बावजूद मार्कस ट्रेस्कोथिक ने उम्र समूह के क्रिकेट में तेजी से बढ़ोतरी की और इंग्लिश क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ सलामी बल्लेबाजों में से एक के रूप में उभरे। बॉल को अंतिम समय तक देखने के बाद स्ट्रोक लगाने में विश्वास करने वाले ट्रेस्कोथिक ने टेस्ट और सीमित ओवरों के क्रिकेट में अपने आक्रामक स्ट्रोक-प्ले से विपक्षी दलों को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया। दुर्भाग्य से उनके अंतरराष्ट्रीय करियर का असमय अंत तब हो गया जब अवसाद और तनाव उनके खेल पर भारी पड़ने लगे।

हालांकि ट्रेस्कोथिक स्लॉग-स्वीप सबसे अच्छा खेलते थे, लेकिन उनके ऑफ-ड्राइव्स उनकी बल्लेबाजी में छुपे असली कौशल को उजागर करते थे। वह एक तेज़ तर्रार फील्डर भी थे।

1997 में, सॉमरसेट में उन्होंने एक मुश्किल हरी बल्लेबाजी पिच पर 167 रन की शानदार पारी खेली और डंकन फ्लेचर (तत्कालीन ग्लैमॉर्गन कोच) का विश्वास जीत लिया। गति और स्पिन दोनों के विरुद्ध कुशल ट्रेस्कोथिक ने धीरे-धीरे खुद को इंग्लैंड के मुख्य खिलाड़ी के रूप में स्थापित किया। वह इंग्लैंड की प्रसिद्ध 2005 एशेज जीत में अगुवा रहे थे, हालांकि उस श्रृंखला में उन्होंने एक भी शतक नहीं लगाया था। तीसरे टेस्ट के दौरान ट्रेस्कोथिक 5000 टेस्ट रनों तक पहुंचने वाले सबसे तेज खिलाड़ी बने और एशेज जीतने के बाद उन्हें अपने टीम के साथी खिलाड़ियों के साथ ब्रिटिश एम्पायर के सबसे उत्कृष्ट सम्मान (एमबीइ) से सम्मानित किया गया। 2004 में माइकल वॉन के चोटिल होने के बाद न्यूजीलैंड के खिलाफ घरेलू श्रृंखला के लिए ट्रेस्कोथिक को कमान सौंप दी गयी। इस अतिरिक्त जिम्मेदारी का उनके खेल-योजना पर कोई प्रतिकूल असर नहीं पड़ा और उन्होंने बड़े स्कोर बनाना जारी रखा।

उनका सबसे शानदार प्रदर्शन तब देखने को मिला जब उन्होंने टेस्ट मैच में वेस्टइंडीज के खिलाफ एजबस्टन में दो लगातार परियों में शतक लगाए। ऐसा करने वाले वह केवल 9वें इंग्लिश खिलाड़ी बने।

बाद में 2006 में इंग्लैंड के भारत दौरे के दौरान तनाव से संबंधित बीमारियों की वजह से ट्रेस्कोथिक अचानक घर वापस चले गए। उन्होंने लौटने के लिए कड़ी मेहनत की, लेकिन वह ऐसा कर पाने में असमर्थ रहे और ट्रेस्कोथिक को 2008 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा।

हालांकि, वह काउंटी क्रिकेट में सॉमरसेट के लिए एक मजबूत कड़ी बने हुए हैं। उन्होंने 2010 में एलवी काउंटी चैम्पियनशिप, सी बी 40 और फ्रेंड्स लाइफ टी20 में सॉमरसेट को उपविजेता का ख़िताब दिलाया।

Summary
Review Date
Reviewed Item
Marcus Trescothick Records | England | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: