आकाश चोपड़ा – भारत – रिकॉर्ड

Aakash Chopra Records

पूरा नाम – आकाश चोपड़ा

जन्म – 19 सितंबर, 1977, आगरा, उत्तर प्रदेश

प्रमुख टीमें – भारत, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, कोलकाता नाइट राइडर्स, मैरीलेबोन क्रिकेट क्लब, राजस्थान, राजस्थान रॉयल्स

भूमिका – बल्लेबाज़

बल्लेबाज़ी शैली – दाएं हाथ के बल्लेबाज़

गेंदबाजी शैली – दाएं हाथ से मध्यम, दाएं हाथ से ऑफ़ब्रेक

टेस्ट पदार्पण (कैप 246) – 8-12 अक्टूबर 2003 बनाम न्यूजीलैंड
अंतिम टेस्ट – 26-29 अक्टूबर 2004 बनाम ऑस्ट्रेलिया

Batting and fielding averages
Mat Runs HS Ave SR 100 50 4s 6s Ct
Tests 10 437 60 23 34.6 0 2 49 0 15
First-class 162 10839 301* 45.35 29 53 189
List A 65 2415 130* 44.72 7 17 29
T20s 21 334 72* 18.55 91.25 0 1 28 1 4
Bowling averages
Mat Wkts BBI BBM Ave Econ SR 4w 5w 10
Tests 10
First-class 162 6 2/5 53.33 3.51 91 0 0
List A 65 1 1/17 1/17 58 4.14 84 0 0 0
T20s 21

राहुल द्रविड़ – भारत – रिकॉर्ड

कलात्मक सलामी बल्लेबाज आकाश चोपड़ा के पास ऐसी तकनीक और मानसिक क्षमता है जो क्रीज पर टिके रहने और गेंद की दिशा और गति को पहचानने के लिए उपयुक्त है। उनकी ये विशेषताएँ उनके लिए और भारत के लिए तब बहुत उपयोगी साबित हुईं जब टीम को सलामी बल्लेबाजों की एक कामयाब जोड़ी की सख्त आवश्यकता थी। 2002-03 के अंत में दाएं घुटने की चोट से जूझने के बाद चोपड़ा ने न्यूजीलैंड के खिलाफ घर में दो टेस्ट मैचों की सीरीज में शानदार बल्लेबाजी प्रदर्शन के साथ नए सीज़न की सफल शुरुआत की। इससे उन्हें ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए टिकट मिल गया जहां उन्होंने वीरेंद्र सहवाग के साथ साझेदारी कर टीम को ठोस शुरूआत दिलाने में मदद की और अपनी प्रतिष्ठा को बढ़ाया।

संजय मांजरेकर – भारत – रिकॉर्ड

हालांकि वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्ट मैचों में 50 का आंकड़ा पार करने में नाकाम रहे, लेकिन उन्होंने पिच पर पारी की शुरुआत में महत्वपूर्ण समय बिताने के लिए पर्याप्त धैर्य दिखाया और नई गेंद के साथ टीम को एक ठोस शुरुआत दिलायी जिससे मजबूत मध्य क्रम को बड़ा स्कोर बनाने में काफी मदद मिली। वह एक उत्कृष्ट क्षेत्ररक्षक भी साबित हुए। उनकी महान एकनाथ सोलकर के साथ भी तुलना हुई।

दुर्भाग्यवश, 2004 में पाकिस्तान के दौरे पर युवराज सिंह प्रमुख बल्लेबाज के रूप में स्थापित हो गए और चोपड़ा की स्थिति टीम में असुरक्षित सी हो गयी। 2004 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू सीरीज़ में एक अप्रतिम प्रदर्शन के बाद उन्हें टीम से हटा दिया गया। तीन साल बाद, उन्हें दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अनौपचारिक टेस्ट में भारत ए के लिए पारी की शुरुआत करने के लिए चुना गया था। दक्षिण अफ्रीका ए के खिलाफ मैच में उन्होंने नाबाद दोहरा शतक बनाया। 2007-08 का मौसम चोपड़ा के लिए काफ समृद्ध रहा: दिल्ली के खिताबी जीत वाले रणजी ट्रॉफी अभियान में 783 रन; एकदिवसीय संस्करण में 100 से अधिक के स्ट्राइक रेट के साथ तीन शतक; दिलीप ट्रॉफी में 310 रन, उत्तर की जीत के लिए मदद। बाद में चोपड़ा ने इंडियन प्रीमियर लीग में कोलकाता नाइट राइडर्स में शामिल हो गए।

वीवीएस लक्ष्मण – भारत – रिकॉर्ड

शुरुआती कैरियर

सलामी बल्लेबाज चोपड़ा ने अपने क्रिकेट कैरियर की शुरुआत दिल्ली में सॉनेट क्रिकेट क्लब के साथ की। 1995 में वह इंडिया स्कूल बॉयज के वेस्टइंडीज दौरे का हिस्सा थे। अंडर 16 और अंडर 19 मैचों में वह दिल्ली की ओर से खेले और उसके बाद उन्हें नार्थ ज़ोन की ओर से खेलने का मौका मिला। भारत अंडर 19 टीम के साथ वह श्रीलंका दौरे पर गए।

आई पी एल

आई पी एल 1 और 2 में वह कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से खेले लेकिन दूसरे आई पी एल में उन्हें टी 20 मैचों के अनुकूल न पाने के कारण वापस भेज दिया गया। आई पी एल 4 में उन्हें राजस्थान रॉयल्स ने अपनी टीम में सम्मिलित किया।

मीडिया

उनके लेख मिड डे और क्रिकइंफो पर प्रकाशित होते हैं। वर्तमान में वह स्टार स्पोर्ट्स, सोनी और सोनी ई एस पी एन के साथ कमेंटेटर और समीक्षक के रूप में जुड़े हुए हैं।

2009 में चोपड़ा ने एक पुस्तक ‘बियॉन्ड द ब्लूज़- अ फर्स्ट क्लास सीजन लाइक नो अदर’ लांच की जिसमें उनके 2007-08 के घरेलू मैचों का ज़िक्र था। इसे हार्पर कॉलिन्स ने प्रकाशित किया। इस पुस्तक की सभी ने प्रशंसा की और क्रिकइंफो के सुरेश मेनन ने इसे किसी भारतीय टेस्ट क्रिकेटर द्वारा लिखी गई सर्वश्रेष्ठ पुस्तक बताया। नवम्बर 2011 में हार्पर कॉलिन्स ने उनकी दूसरी पुस्तक ‘आउट ऑफ द ब्लू’ प्रकाशित की जिसमें राजस्थान की रणजी ट्रॉफी में खिताबी जीत का ज़िक्र था। इसके बाद उन्होंने दो और पुस्तकें लिखीं- 2015 में ‘द इनसाइडर विद ई एस पी एन क्रिकइंफो’ तथा 2017 में ‘नंबर्स डू लाई विद इम्पैक्ट इंडेक्स’ अभी तक उनकी सभी पुस्तकें हार्पर कॉलिन्स ने ही प्रकाशित की हैं।

Summary
Review Date
Reviewed Item
Aakash Chopra Records | India | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: