अम्बाती रायुडू – भारत – रिकॉर्ड

Ambati Rayudu Records in Hindi

पूरा नाम – अम्बाती तिरुपति रायुडू

जन्म – 23 सितंबर, 1985, गुंटूर, आंध्र प्रदेश

प्रमुख टीमें – भारत, बड़ौदा, हैदराबाद (भारत), हैदराबाद हीरोज़, आईसीएल इंडिया इलेवन, इंडिया ए, मुंबई इंडियंस

भूमिका – मध्य-क्रम के बल्लेबाज

बल्लेबाज़ी शैली – दाएं हाथ के बल्लेबाज़

गेंदबाजी शैली – दाएं-हाथ से ऑफब्रेक

एकदिवसीय पदार्पण (कैप 196) – 24 जुलाई 2013 बनाम ज़िम्बाब्वे
अंतिम एकदिवसीय – 11 जून 2016 बनाम ज़िम्बाब्वे

टी 20 पदार्पण (कैप 48) – 7 सितंबर 2014 बनाम इंग्लैंड
अंतिम टी 20 – 5 अक्टूबर 2015 बनाम दक्षिण अफ्रीका

बल्लेबाजी और क्षेत्ररक्षण का औसत														 	मॅच 	पारी	नाबाद	रन	सर्वाधिक स्कोर	औसत	गेंद खेलीं	स्ट्राइक रेट	शतक	अर्धशतक	चौके	छ्क्के	कॅच	स्टमपिंग एकदिवसीय	34	30	9	1055	124*	50.23	1383	76.28	2	6	90	13	11	0 टी२०	6	5	1	42	20	10.5	50	84	0	0	5	0	4	0 प्रथम श्रेणी	94	151	20	5873	210	44.83			15	32			72	0 लिस्ट ए	128	119	19	4022	124*	40.22			4	29			55	0 ट्वेंटी२०	174	163	21	3452	81*	24.3	2832	121.89	0	18	299	106	71	3
Ambati-Rayudu-Batting-and-Fielding-records-in-Hindi
गेंदबाज़ी औसत													 	मॅच 	पारी	गेंदें	रन	विकेट	बेस्ट/पारी	बेस्ट/मॅच	औसत	रन प्रति ओवर	स्ट्राइक रेट	4 विकेट	5 विकेट	10 विकेट एकदिवसीय	34	7	108	111	3	1/5	1/5	37	6.16	36	0	0	0 टी२०	6	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	- प्रथम श्रेणी	94		792	516	10	4/43		51.6	3.9	79.2	1	0	0 लिस्ट ए	128		408	393	13	4/45	4/45	30.23	5.77	31.3	1	0	0 ट्वेंटी२०	174	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-
Ambati-Rayudu-Bowling-Records-in-Hindi

भारत के अगले बल्लेबाजी सितारे माने जाने वाले अंबाती रायडू के ऊपर 2001 में नेशनल क्रिकेट अकादमी में प्रशिक्षण शुरू करने के बाद से सभी की नजरे थी। हालांकि, छोटे, ठोस और आक्रामक दाएं हाथ के बल्लेबाज रायुडू ने अंतरराष्ट्रीय स्तर तक आने के लिए लंबा समय लिया।

किरोन पोलर्ड – वेस्ट इंडीज़ – रिकॉर्ड

रायडू भारतीय अंडर-19 टीम के कप्तान थे और वे भारत को 2004 में बांग्लादेश में हुए विश्व कप के सेमीफाइनल तक ले गए थे। लेकिन अगले कुछ सालों में वह उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए और घरेलू स्तर पर ही रास्ता खो बैठे। नतीजतन, उनके अंडर -19 टीम के कई साथी जैसे सुरेश रैना, दिनेश कार्तिक, शिखर धवन, आरपी सिंह और इरफान पठान ने राष्ट्रीय स्तर पर टीम का प्रतिनिधित्व उनसे पहले किया। रणजी ट्रॉफी में हैदराबाद के लिए खेल चुके रायडू को कोच से मतभेद होने के कारण आंध्र प्रदेश की ओर से खेलना पड़ा। उन्होंने अपने पहले रणजी सत्र में ही, सबको प्रभावित करते हुए एक ही मैच में दोहरा शतक और शतक बनाया था। 2010-11 में, रायडू ने बड़ौदा के लिए खेलने का फैसला किया और नौ मैचों में कुल 566 रन बनाये। 2012-13 के रणजी सत्र में, वह और भी बेहतर लगे, जहाँ उन्होंने एक शतक और सात अर्धशतक सहित 666 रन बनाए। वे मुंबई के खिलाफ 2013 के इरानी कप में शेष भारत के लिए खेले और 51 और 156* का स्कोर बनाया। वह 2012-13 के देवधर ट्राफी फाइनल में शीर्ष स्कोरर भी थे, जहां उनकी 78 अविजित रनो की मदद से पश्चिम क्षेत्र ने उत्तर क्षेत्र के खिलाफ 290 के लक्ष्य का पीछा किया।

जस्प्रीत बूम्राह – भारत – रिकॉर्ड

2007 में रायडू भारतीय क्रिकेट लीग में शामिल होने वाले, पहले कुछ खिलाड़ियों में से एक थे। उन्हें विदेशी खिलाड़ियों के साथ खेलने का अवसर मिला और उन्होंने टीवी के दर्शको के सामने अपनी एक अलग पहचान बनाई। जब आईसीएल भंग कर दिया गया, तब रायडू ने 2009 में बीसीसीआई के क्षमादान प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया और जल्द ही आईपीएल में खेलने के लिए मुंबई की टीम ने उन्हें खरीद लिया। मुंबई फ्रैंचाइजी के लिए मध्य-क्रम के बल्लेबाज और अंशकालिक विकेटकीपर के रूप में खेलते हुए, रायडू तब से हर आईपीएल संस्करण में लगातार रन बनाते रहे हैं।

2012 में, रायडू को विश्व टी 20 के लिए 30 सदस्यीय संभावित टीम में शामिल किया गया था, लेकिन वे अंतिम टीम में स्थान बनाने में असफल रहे। उन्हें तब चोटिल मनोज तिवारी के बदले इंग्लैंड के खिलाफ ट्वेंटी -20 श्रृंखला के लिए चुना गया था, लेकिन वे फिर से अंतिम ग्यारह में अपनी जगह नहीं बना पाए। राष्ट्रीय दल के लिए खेलने का उनका सपना अंततः जुलाई 2013 में पूरा हुआ जब उन्हें जिम्बाब्वे दौरे के लिए चुना गया। उन्होंने अपने पहले ही मुकाबले में, 63* रन बनाए और इसी कारण 27 वर्ष और 304 दिन की उम्र में अपने पहले ही मुकाबले में अर्धशतक बनाने वाले, सबसे उम्रदराज भारतीय खिलाड़ी बने।

अक्षर पटेल – भारत – रिकॉर्ड

दिसंबर 2013 में दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए रायुडू का दोनों टेस्ट और एकदिवसीय टीमों में चयन किया गया। हालांकि उन्हें वहाँ खेलने का मौका नहीं मिला, पर उन्होंने एशिया कप में अच्छा प्रदर्शन करने से पहले न्यूजीलैंड में दो एक दिवसीय मैच खेले। उनकी आईपीएल फ्रैंचाइज ने लगातार अच्छा प्रदर्शन करने के कारण उन्हें 2014 के लिए बनाए रखने का फैसला किया। उन्हें एशिया कप के बाद से एकदिवसीय में काफी मौके दिए गए और इसी कारण अहमदाबाद में दूसरे एकदिवसीय मुकाबले में श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने अपना पहला वनडे शतक दर्ज किया। वह निश्चित रूप से निकट भविष्य में नजर रखने योग्य खिलाड़ी हैं| चयनकर्ताओं ने उन पर विश्वास दिखाया और 2015 के विश्व कप के लिए टीम में उनका चयन किया। हालांकि, उन्हें एक भी मुकाबला खेलने के लिए नहीं मिला।

पार्थिव पटेल – भारत – रिकॉर्ड

Summary
Review Date
Reviewed Item
Ambati Rayudu Records | India | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: