किरण मोरे – भारत – रिकॉर्ड

Kiran More Records

पूरा नाम – किरण शंकर मोरे

जन्म – 4 सितंबर, 1962, बड़ौदा, गुजरात

प्रमुख टीमें – भारत, बड़ौदा

बल्लेबाज़ी शैली – दाएं हाथ के बल्लेबाज़

गेंदबाजी शैली – लेगब्रेक

क्षेत्ररक्षण स्थिति – विकेटकीपर

टेस्ट पदार्पण (कैप 173) – 5 जून 1986 बनाम इंग्लैंड
अंतिम टेस्ट – 9 अगस्त 1993 बनाम श्रीलंका

एकदिवसीय पदार्पण (कैप 50) – 5 दिसंबर 1984 बनाम इंग्लैंड
अंतिम एकदिवसीय – 5 मार्च 1993 बनाम इंग्लैंड

बल्लेबाजी और क्षेत्ररक्षण का औसत													 	मॅच 	पारी	नाबाद	रन	सर्वाधिक स्कोर	औसत	गेंद खेलीं	स्ट्राइक रेट	शतक	अर्धशतक	छ्क्के	कॅच	स्टमपिंग टेस्ट	49	64	14	1285	73	25.7			0	7	2	110	20 एकदिवसीय	94	65	22	563	42*	13.09	808	69.67	0	0		63	27 प्रथम श्रेणी	151	204	36	5223	181*	31.08			7	29		303	63 लिस्ट ए	145	100	28	1151	82	15.98			0	2		97	41
Kiran-More-Batting-and-Fielding-Records-in-Hindi
गेंदबाज़ी औसत													 	मॅच 	पारी	गेंदें	रन	विकेट	बेस्ट/पारी	बेस्ट/मॅच	औसत	रन प्रति ओवर	स्ट्राइक रेट	4 विकेट	5 विकेट	10 विकेट टेस्ट	49	1	12	12	0	-	-	-	6	-	0	0	0 एकदिवसीय	94	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	- प्रथम श्रेणी	151		245	180	1	1/18		180	4.4	245		0	0 लिस्ट ए	145		24	20	1	1/14	1/14	20	5	24	0	0	0
Kiran-More-Bowling-Records-in-Hindi

किरण मोरे ने अपना प्रथम-श्रेणी करियर में पदार्पण 1980 में बड़ौदा के लिए किया| कुछ शानदार घरेलु सीजनो के बाद, मोरे का चयन इंग्लैंड के खिलाफ हो रही घरेलु श्रृंखला में किया गया, जहाँ उन्होंने अपना अंतर्राष्ट्रीय पदार्पण 5 दिसम्बर 1984 को पहले एकदिवसीय मैच में किया| हालाँकि तब भी वो सीमित ओवरों के दल के नियमित सदस्य नहीं थे| उन्होंने अपना टेस्ट मुकाबलों में पदार्पण इंग्लैंड के खिलाफ ही 1986 में किया जहाँ उन्होंने एक ही श्रंखला में 16 कैच लपके, जो की एक भारतीय विकेट-कीपर का इंग्लैंड के खिलाफ कीर्तिमान है| इसके बाद वो भारत के लिए खेल के लम्बे प्रारूप में चयनकर्ताओ की पहली पसंद रहे|

मोरे 1992 विश्व-कप के भारतीय दल का हिस्सा भी रहे| पाकिस्तान के खिलाफ एक मुकाबले में, उनकी अत्यधिक अपील करने की आदत ने जावेद मियादांद को उछल कूद कर उनका मजाक उड़ाने को मजबूर किया| मोरे ने एकदिवसीय मुकाबलों में बल्ले से कोई उल्लेखनीय योगदान नहीं दिया, जबकि न्यूज़ीलैण्ड के खिलाफ 1990 में नेपियर में उनकी 73 रनों की पारी टेस्ट मुकाबलों में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रही| उन्होंने भारतीय दल में अपनी जगह बड़ौदा के ही एक अन्य खिलाडी नयन मोंगिया के हांथो 1993 में गवा दी|

मोरे बड़ौदा के लिए 1998 में भी खेलते रहे| इसके बाद उन्होंने क्रिकेट से सन्यास ले लिया| 2002 में उन्हें भारतीय दल के चयनकर्ताओ का अध्यक्ष नियुक्त किया गया| इस पद पर वह अगले चार सालो तक बने रहे| मोरे 2007 में बागी भारतीय क्रिकेट लीग ( आई.सी.एल) में पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव और कई अन्य लोगो के साथ शामिल हुए, जिसके चलते भारतीय क्रिकेट कण्ट्रोल बोर्ड ने उन पर प्रतिबंध लगा दिया| हालाँकि 2012 में, उन्हें क्षमादान दिया गया जिसके चलते वे एक बार फिर इस महत्वपूर्ण क्रिकेट संघ का हिस्सा बन सके|

Summary
Kiran More Records | India | CricketinHindi.com
Article Name
Kiran More Records | India | CricketinHindi.com
Author
Publisher Name
CricketinHindi.com
Publisher Logo

Leave a Response

share on: