मुरली कार्तिक – भारत – रिकॉर्ड

Murali Kartik Records in Hindi

पूरा नाम – मुरली कार्तिक

जन्म – 11 सितंबर, 1976, मद्रास (अब चेन्नई), तमिलनाडु

प्रमुख टीमें – भारत, इंडिया ग्रीन, किंग्स इलेवन पंजाब, कोलकाता नाइट राइडर्स, लंकाशायर, मिडलसेक्स, पुणे वारियर्स, रेलवे, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, सॉमरसेट, सरे

भूमिका – गेंदबाज

बल्लेबाजी शैली – बाएं हाथ के बल्लेबाज़

गेंदबाजी शैली – धीमी बाएं हाथ से रूढ़िवादी

ऊँचाई – 6 फुट 0 इंच

टेस्ट पदार्पण (कैप 226) – 24 फरवरी 2000 बनाम दक्षिण अफ्रीका
अंतिम टेस्ट – 20 नवंबर 2004 बनाम दक्षिण अफ्रीका

एकदिवसीय पदार्पण (कैप 144) – 16 मार्च 2002 बनाम जिम्बाब्वे
अंतिम एकदिवसीय – 18 नवंबर 2007 बनाम पाकिस्तान

Batting and fielding averages
Mat Runs HS Ave SR 100 50 4s 6s Ct
Tests 8 88 43 9.77 38.09 0 0 11 0 2
ODIs 37 126 32* 14 70.78 0 0 10 1 10
T20Is 1 0
First-class 203 4423 96 20.19 0 21 143
List A 194 773 44 11.89 0 0 66
T20s 147 320 35 12.8 110.34 0 0 28 5 38
Bowling averages
Mat Wkts BBI BBM Ave Econ SR 4w 5w 10
Tests 8 24 4/44 7/76 34.16 2.54 80.5 1 0 0
ODIs 37 37 6/27 6/27 43.56 5.07 51.5 0 1 0
T20Is 1 0 6.75 0 0 0
First-class 203 644 9/70 26.7 2.42 66 36 5
List A 194 249 6/27 6/27 28.29 4.39 38.6 5 2 0
T20s 147 110 5/13 5/13 31.36 6.74 27.9 0 1 0

बाएं हाथ के स्पिनर मुरली कार्तिक लंबे समय तक राष्ट्रीय टीम में खेलने के बावजूद खुद के लिए एक नियमित जगह नहीं बना पाए। हाई आर्म एक्शन और क्रिकेट के मैदान में एक गेंदबाज के लिए आवश्यक शस्त्रागार के सभी हथियारों के होने के बावजूद उन्हें हमेशा अनिल कुंबले और हरभजन सिंह के बाद ही महत्वपूर्ण गेंदबाजों की श्रेणी में रखा गया। वह 2011 में इंग्लैंड के भारत के विलक्षण दौरे के दौरान चयन के करीब आए थे लेकिन अमित मिश्रा को उनसे ज्यादा महत्व दिया गया। घरेलू खेलों में शानदार प्रदर्शन के बाद कार्तिक ने 1999-2000 में भारतीय टीम में अपना रास्ता बना लिया, लेकिन वे सौरव गांगुली के आत्मविश्वास का आनंद नहीं उठा पाए। उनका इस्तेमाल एक रक्षात्मक विकल्प या अंडर बाउल के रूप में किया गया। उन्होंने 2002-03 में वेस्टइंडीज के खिलाफ लगातार बल्लेबाजों को सपाट पिचों पर चेक में रखते हुए एकदिवसीय गेंदबाज के रूप में अपनी छाप छोड़ी।

प्रज्ञान ओझा – भारत – रिकॉर्ड



हालांकि उनका सबसे अच्छा प्रदर्शन 2004 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ देखने को मिला जब उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को झटका देते हुए मैच में सात विकेट लेकर भारत को एक शानदार जीत दिलाई। हालांकि उन्हें परिधि में स्थानांतरित होने से पहले सिर्फ एक टेस्ट मैच खेलने का मौका मिला।
इंग्लिश घरेलू क्रिकेट मेंक प्रदर्शन सराहनीय रहा है। 2007 में मिडलसेक्स के साथ विवाद ने उन्हें विवादों के घेरे में ला दिया था लेकिन आठ प्रो – 40 मैचों में 20 रन पर 12 विकेट लेने के बाद उन्हें अक्टूबर 2007 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सात मैचों की श्रृंखला के बीच भारतीय एकदिवसीय टीम में वापसी करने की इजाजत मिली। 2008 में वह मिडलसेक्स के ट्वेंटी 20 जीतने वाली टीम का हिस्सा थे और स्टेनफोर्ड टी20 के उद्घाटन सीजन में खेलने वाले दुनिया के एकमात्र खिलाड़ी हैं। 2011 कि सीजन से पहले सरे के लिए हस्ताक्षर करने के पहले उन्होंने सॉमरसेट में एक सफल वर्तनी का आनंद लिया।

Summary
Review Date
Reviewed Item
Murali Kartik Records | India | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: