वसीम जाफ़र – भारत – रिकॉर्ड

Wasim-Jaffer-Records-in-Hindi

पूरा नाम – वसीम जाफर

जन्म – 16 फरवरी, 1978, बंबई (अब मुंबई), महाराष्ट्र

प्रमुख टीमें – भारत, भारत ए, भारतीय बोर्ड अध्यक्ष एकादश, मुंबई, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, पश्चिम क्षेत्र

बल्लेबाजी की शैली – राइट-हैंड बैट

गेंदबाजी की शैली – राइट-आर्म ऑफ-ब्रेक

टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण (कैप 225) – 24 फरवरी 2000 बनाम दक्षिण अफ्रीका
अंतिम टेस्ट – 11 अप्रैल 2008 बनाम दक्षिण अफ्रीका

वनडे कैरियर की शुरुआत (कैप 166) – 22 नवंबर 2006 बनाम दक्षिण अफ्रीका

बल्लेबाजी और क्षेत्ररक्षण का औसत
मॅच रन सर्वाधिक स्कोर औसत स्ट्राइक रेट शतक अर्धशतक चौके छ्क्के कॅच
टेस्ट 31 1944 212 34.1 48.05 5 11 272 3 27
एकदिवसीय 2 10 10 5 43.47 0 0 2 0 0
प्रथम श्रेणी 232 17229 314* 49.65 51 83 272
लिस्ट ए 100 4289 178* 45.62 10 29 44
ट्वेंटी२० 23 616 95 28 129.14 0 6 75 11 11
गेंदबाज़ी औसत
मॅच विकेट बेस्ट/पारी बेस्ट/मॅच औसत रन प्रति ओवर स्ट्राइक रेट 4 विकेट 5 विकेट 10 विकेट
टेस्ट 31 2 2/18 2/18 9 1.63 33 0 0 0
एकदिवसीय 2
प्रथम श्रेणी 232 2 2/18 37 3.21 69 0 0
लिस्ट ए 100
ट्वेंटी२० 23



अपने दूसरे ही प्रथम श्रेणी मैच में तिहरा शतक बनाकर वसीम जाफ़र मुंबई क्रिकेट के लिए एक बड़ी आशा के रूप में उभरे थे. जाफ़र हल्के शरीर के थे और उन्हें देखकर एक युवा अज़हरुद्दीन की याद आती थी. फ़रवरी 2000 में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण कर रहे जाफ़र से सबको बहुत उम्मीदें थी लेकिन दक्षिण अफ्रीका की तेज़ पिच पर एलन डोनल्ड और शॉन पोलक जैसे गेंदबाज़ों को खेलना उनके लिए बहुत ज़्यादा साबित हुआ. हालाँकि जाफ़र ने उस छोटे अंतराल में भी एक गंभीर वयक्तित्व और अच्छी तकनीक की झलक दिखाई थी, लेकिन उनका अंतरराष्ट्रीय करियर बीच में रोक दिया गया.

सदगोपन रमेश – भारत – रिकॉर्ड

घरेलू क्रिकेट में जाफ़र ने रनों का पहाड़ बनाना जारी रखा जिसके फलस्वरूप 2001-02 के वेस्ट इंडीज़ दौरे के लिए उन्हे पुनः टीम में चुना गया. वेस्ट इंडीज़ में जाफ़र ने दो आकर्षक अर्धशतक बनाए लेकिन बड़ी पारी खेलने में विफलता के चलते टीम के शीर्ष क्रम में वे अपना स्थान फिर गँवा बैठे.भारत ए टीम के 2003 के इंग्लैंड दौरे पर अपने शानदार प्रदर्शन से जाफ़र ने चयनकर्ताओं के द्वार पर फिर दस्तक दी, लेकिन इसके बाद तीन साल तक उनका नाम चर्चा में नही आया. 2005-06 में श्रीलंका के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच के लिए जाफ़र का भारतीय दल में चयन हुआ. अपनी वापसी के लिए मिले पहले अवसर का भरपूर लाभ उठाते हुए जाफ़र ने इंग्लैंड के विरुद्ध नागपुर में मार्च 2006 में अपना पहला टेस्ट शतक बनाया और इसके बाद 2006 जून में ही वेस्ट इंडीज़ की धरती पर उनके खिलाफ टेस्ट मैच में शानदार दोहरा शतक बनाया. गौतम गंभीर की वजह से टीम में ओपनिंग से बाहर होने के बाद जाफ़र ने 2008-09 के रणजी में उम्दा प्रदर्शन करते हुए एक तिहरे शतक समेत, 84 की औसत से 1260 रन बनाए. कप्तानी करते हुए उन्होने मुंबई को अपना 38वा और 39वा रणजी खिताब जिताया और 2010 में पश्चिम ज़ोन को 16वीं दुलीप ट्रोफी भी जिताई.

आकाश चोपड़ा – भारत – रिकॉर्ड

जाफ़र से जुड़े कुछ तथ्य –

– स्कूल क्रिकेट में 15 साल की उम्र में वसीम जाफ़र ने 400 रन नाबाद की पारी खेली थी

– अपने दूसरे ही प्रथम श्रेणी मैच में 314 रन बनाते हुए जाफ़र ने पहली बार सुलक्षण कुलकर्णी के साथ मिल कर मुंबई के लिए पहले विकेट के लिए 400 रन से ज़्यादा की साझेदारी की. दोनो ने कुल 459 रन जोड़े.



– 2007 में कलकत्ता के ईडन गार्डेन्स मैदान पर पाकिस्तान के विरुद्ध जाफ़र ने अपने टेस्ट करियर का दूसरा दोहरा शतक (202) बनाया था

– रणजी क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज़्यादा रन बनाने का रिकौर्ड़ भी जाफ़र के नाम है. उन्होने अमोल मजूमदार का रिकौर्ड़ तोड़ा था.

गौतम गंभीर – भारत – रिकॉर्ड

Leave a Response

share on: