महेंद्र सिंह धोनी – भारत – रिकॉर्ड

Mahendra Singh Dhoni Records

पूरा नाम – महेंद्र सिंह धोनी

जन्म – 7 जुलाई, 1981, रांची, बिहार (अब झारखंड)

प्रमुख टीमें – भारत, एशिया एकादश, बिहार, चेन्नई सुपर किंग्स, झारखंड, राइज़िंग पुणे सूपर जॅयांट्स

खेलने की भूमिका – विकेटकीपर बल्लेबाज

बल्लेबाजी की शैली – राइट-हैंड बैट

गेंदबाजी की शैली – दाएं हाथ के मध्यम

क्षेत्ररक्षण स्थिति – विकेटकीपर

 

 

Batting and fielding averages
Mat Runs HS Ave SR 100 50 4s 6s Ct St
Tests 90 4876 224 38.09 59.11 6 33 544 78 256 38
ODIs 318 9967 183* 51.37 88.4 10 67 770 217 297 107
T20Is 89 1444 56 37.02 126.55 0 2 101 46 49 29
First-class 131 7038 224 36.84 9 47 364 57
List A 391 12547 183* 51 17 81 378 125
T20s 277 5577 73* 36.93 135.03 0 21 390 236 140 70


कैरियर के आँकड़े –

टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण – भारत बनाम श्रीलंका चेन्नई में दिसंबर 2-6, 2005

वनडे कैरियर की शुरुआत – बांग्लादेश भारत बनाम चटगांव में, दिसंबर 23, 2004



मास्टर ब्लासटर सचिन तेंदुलकर को छोड़ कर यक़ीनन महेंद्र सिंह धोनी भारत मे सबसे लोकप्रिय क्रिकेटर हैं और सबकी नज़र उनके हर एक प्रदर्शन पर जमी रहती है. ऐसा उन्होने झारखंड के एक छोटे से शहर में रह कर. खुद की बनाई बल्लेबाज़ी तकनीक और विकट कीपिंग के तरीकों से कर दिखाया. धोनी की कप्तानी भी ऐसी है की जिसमे रक्षात्मक और अकाल्पनिक दोनो ही छवियाँ हैं. धोनी की कप्तानी में भारत ने क्रिकेट के सभी बड़े टूर्नामेंट और खिताब जीते – दिसंबर 2009 से लगातार 18 महीनो तक भारत विश्व की नंबर एक टेस्ट टीम रहा, 2011 में एकदिवसीय विश्व चॅंपियन बना, और धोनी की कप्तानी के पहले साल में ही 2007 में टी२० विश्व कप भारत ने जीता.

विराट कोहली – भारत – रिकॉर्ड

धोनी ने शुरुआती दिनो में ट्रेन टिकट कलेक्टर का काम किया और उनके क्रिकेट के जलवों की सुर्खिया केवल कलकत्ता क्लब क्रिकेट के प्रशंसकों तक ही सीमित रही. ये सब तब बदला जब 2004 में 23 साल की उम्र में धोनी ने भारत ए टीम के लिए नैरोबी में खेलते हुए दो हरफ़नमौला शतक जड़ डाले. लंबे बाल और आक्रामक बल्लेबाज़ी करने वाले युवा धोनी जल्द ही भारत की राष्ट्रीय टीम में शामिल हुए और और अपने पदार्पण के एक वर्ष के भीतर ही 148 और 183 रनों की अविश्वसनीय पारियाँ खेल कर दर्शकों के दिल की धड़कन बन गए.

क्या धोनी फिर से लंबे बाल रखेंगे?

धोनी ने भारत के मध्य वर्ग संस्कारों का दर्शन दिया. वे कभी किसी बड़े नाम से डरे नही, लेकिन कभी किसी का निरादर भी नही किया. उन्होने निरंतर अभ्यास किया, सीखा और अपने खेल को बेहतर किया लेकिन कभी अपनी विपरीत बल्लेबाज़ी की शैली के लिए किसी से क्षमा नही माँगी. उन्होने वैसे ही निचले क्र्म में, नीची बॅक लिफ्ट के साथ बल्लेबाज़ी की और भारतीय एकदिवसीय क्रिकेट के सबसे महत्वपूर्ण बल्लेबाज़ बने जो स्थिति के मुताबिक धीरे खेल कर विकट पर टिक सकता था, तेज़ दौड़कर स्कोरबोर्ड चलाता रहता था और ज़रूरत पड़ने पर अंत के ओवेरो में आतिशी शॉट्स भी लगा सकता था.



इसके साथ साथ ही धोनी ने नेत्रत्व के गुण भी दिखाए जिसकी परख 2007 में राहुल द्रविड़ के कप्तानी छोड़ने के फ़ैसले के बाद हुई. द्रविड़ की इस घोषणा से कुछ ही समय पहले धोनी एक युवा भारतीय टीम को दक्षिण आफ्रिका में टी२० विश्व कप के लिए लेकर गए और खेल के ऐसे प्रारूप में भारत को विश्व चॅंपियन बनाया जिसे भारत में गंभीरता से लिया भी नही जाता था. इसके बाद धोनी का एकदिवसीय कप्तान बनना तो तय था और टेस्ट मैचों में भी अनिल कुंबले ने धोनी को कप्तानी के लिए बस एक साल का इंतज़ार और करवाया.

सचिन तेंदुलकर – भारत – रिकॉर्ड

धोनी ने भारत की कप्तानी लेकर एक कभी ना उत्तेजित होने वाला व्यवहार रखा और नतीजों से प्रसन्नता या निराशा अपने शब्दों या चेहरे पर कभी व्यक्त नही की. कोच गेरी क्रिस्टॅन के साथ मिलकर धोनी ने सुनिश्चित किया की टीम में सभी सीनियर खिलाड़ी आश्वस्त रहे और इसका परिणाम भी उन्हे मिला जब इन खिलाड़ियों ने अपने करियर के कुछ सबसे बेहतरीन साल भारतीय क्रिकेट को धोनी की कप्तानी में दिए. उनकी शांत प्रवर्ती ने खेल के सीमित ओवर प्रारूप में कई बार दबाव की स्थिति में टीम को शांत रखने का काम किया, हाँलाकि टेस्ट मैचो में उनकी रक्षात्मक कप्तानी कई बार सवालों के घेरे में आई और क्रिकेट के जानकारों ने धोनी की आलोचना भी की. लेकिन इस बात को नज़रअंदाज़ नही किया जा सकता कि टेस्ट मैचों में भी भारत की सबसे यादगार जीत और सबसे सफल दौर धोनी की कप्तानी मैं ही रहा और अनेक वर्षों तक धोनी विश्व क्रिकेट में सबसे बड़े बल्लेबाज़ रहे.

महेंद्र सिंह धोनी बनाम एडम गिलक्रिस्ट (टेस्ट)

MS Dhoni scored an unbeaten 91 in the final of 2011 World Cup, which India won by beating Sri Lanka
MS Dhoni scored an unbeaten 91 in the final of 2011 World Cup, which India won by beating Sri Lanka

हालाँकि 2011 विश्व कप, जो धोनी ने फाइनल में करिश्माई 91 रन की पारी खेल कर जिताया था, के बाद से टीम के सीनियर खिलाड़ियों की बढ़ती उम्र और खराब फॉर्म के चलते भारत का एकदिवसीय प्रदर्शन निराशाजनक रहा. भारत से बाहर खेलते हुए टेस्ट मैचों में लगातार आठ मैच हारने पर धोनी को काफ़ी आलोचना झेलनी पड़ी और हालत और बदतर 2012-13 में इंग्लैंड से घर में 2-1 से मिली हार के बाद हुई. इसके बाद धोनी ने परिस्थितियों को अपने हाथ में लेते हुए एक कप्तान के रूप में ज़्यादा मुखर हुए, और टेस्ट करियर की अपने सबसे बड़ी पारी 224 रन चेन्नई की स्पिन होती पिच पर ऑस्ट्रेलिया से खेली, टीम को 4-0 से जिताने वाले पहले भारतीय कप्तान बने.



घर से बाहर 2013-14 की सर्दियों में भारत दक्षिण आफ्रिका और न्यूज़ीलैंड से 1-0 के अंतर से सीरीज़ हारा ज़रूर, लेकिन कई मौकों पर बेहतरीन प्रदर्शन करके टीम जीत के कगार तक भी पहुँची थी. इंग्लैंड का 2014 का दौरा भारत ने अच्छे तरीके से पहले मैच ड्रॉ करके शुरू किया और इसके बाद लॉर्ड्स के मैदान पर मिली एतिहसिक जीत ने तो सीरीज़ जीत की उम्मीदें जगा दी थी लेकिन इसके बाद भारत को मूँह की खानी पड़ी और सीरीज़ 3-1 से इंग्लैंड के नाम रही. ओल्ड ट्रॅफर्ड और ओवल के मैदान पर जब सारे बल्लेबाज़ ढेर हो रहे थे तब धोनी ने बहादुरी भरी बल्लेबाज़ी करके तेज़ गेंदबाज़ों के खिलाफ भी कदमों का इस्तेमाल किया और कई बार अपने शरीर को सामने रख चोट भी खाई. ऑस्ट्रेलिया का डुआरा भी भारत के लिए निराशाजांक रहा और जीत हाथ नही लगी, हालाँकि एक युवा विराट कोहली के इर्द गिर्द बल्लेबाज़ी कुछ बेहतर ज़रूर हुई.

धोनी से जुड़े 26 तथ्य

इस सीरीज़ के पहले मैच में धोनी के चोटिल होने के कारण कोहली ने कप्तानी की थी और इसी सीरीज़ के आख़िरी टेस्ट से पहले धोनी ने सबको चौंकाते हुए टेस्ट क्रिकेट से सन्यास की घोषणा कर दी, और कोहली को नियमित कप्तान बना दिया गया. भले ही धोनी का खेल टेस्ट क्रिकेट के लिए ज़्यादा अनुकूल नही था, फिर भी उन्होने एक विकट कीपर बल्लेबाज़ के तौर पर 6 शतक लगते हुए अपने टेस्ट जीवन में 38 की औसत से 4876 रन बनाए, जो की भारत के इतिहास में एक कीर्तिमान है. टेस्ट क्रिकेट में बतौर कप्तान सबसे ज़्यादा जीतों का कीर्तिमान भी धोनी के नाम है, जिन्होने भारत को 27 टेस्ट मैचों में जीत दिलाई.

युवराज सिंह – भारत – रिकॉर्ड

धोनी ने खेल के छोटे प्रारूपों में कप्तानी जारी रखते हुए 2015 के विश्व कप में भारत को बिना किसी हार का सामना करे सेमी फाइनल तक पहुँचाया जहाँ ऑस्ट्रेलिया से हार कर भारत सीरीज़ से बाहर हुआ. इसके एक वर्ष बाद धोनी की कप्तानी में भारत ने बांग्लादेश में एशिया कप टी२० खिताब को जीता लेकिन घर में विश्व कप टी२० में सेमी फाइनल में वेस्ट इंडीज़ से हार कर बाहर हो गए. धोनी के लिए ये सीरीज़ भी अच्छी रही है और पाँच परियों में केवल एक बार आउट होकर उन्होने 89 रन बनाए. उन्होने जादुई विकट कीपिंग और फिटनेस का परिचय देते हुए इशारा दिया की वे 2019 विश्व कप तक भी खेल सकते हैं, लेकिन जनवरी 2017 में धोनी ने एकदिवसीय कप्तानी से इस्तीफ़ा दे दिया.

कोहली मुझसे ज़्यादा मैच जिताएँगे – महेंद्र सिंह धोनी



आईपीएल में भी धूम मचाते हुए धोनी ने आठ साल चेन्नई सुपर्किंग्स की कप्तानी की और दो बार खिताब, और एक बार चॅंपियन्स लीग ट्रोफी भी जीती. इसके बाद वे राइज़िंग पुणे सूपर जेंट्स के कप्तान बने. चेन्नई से धोनी का जुड़ाव कुछ इस कद्र रहा की उन्होने साझेदारी में चेन्नई स्थित एक फुटबाल टीम भी खरीदी.

प्रारंभिक जीवन और पृष्ठभूमि

धोनी रांची, बिहार (अब झारखंड में) में पैदा हए थे, और वह एक राजपूत के रूप में जाने जाते हैं। उनका पैतृक गांव लावली, उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले के लमगड़ा ब्लॉक में है। धोनी के माता-पिता, उत्तराखण्ड से रांची आए, जहां उनके पिता पान सिंह ने मेकॉन में कनिष्ठ प्रबंधन पदों पर काम किया। धोनी की बहन जयंती गुप्ता और भाई नरेंद्र सिंह धोनी है। धोनी एडम गिलक्रिस्ट के प्रशंसक है, और उनके बचपन के आदर्श क्रिकेट टीम के साथी खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर, बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन और गायिका लता मंगेशकर थे|

धोनी ने डीएवी जवाहर विद्या मंदिर, श्यामली, रांची, झारखंड, में अध्ययन किया, जहां उन्होंने शुरू में बैडमिंटन और फुटबॉल में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया और इन खेलों में जिला और क्लब के स्तर पर चयनित किए गए। धोनी अपनी फुटबॉल टीम के लिए एक गोलकीपर थे और उनके फुटबॉल कोच ने उन्हें एक स्थानीय क्रिकेट क्लब के लिए क्रिकेट खेलने को भेजा था। हालांकि वह क्रिकेट नहीं खेले थे, लेकिन धोनी ने अपने विकेट-कीपिंग कौशल से प्रभावित किया और कमांडो क्रिकेट क्लब (1995-1998) में नियमित विकेटकीपर बन गए। क्लब क्रिकेट में अपने प्रदर्शन के आधार पर, वह 1997-1998 के सत्र में वीनू मांकड़ अंडर-16 चैम्पियनशिप ट्रॉफी के लिए चुने गए थे और उन्होंने अच्छा प्रदर्शन भी किया। धोनी ने 10 वीं कक्षा के बाद क्रिकेट पर ध्यान केंद्रित किया। धोनी मिदनापुर (पश्चिम) जो कि पश्चिम बंगाल में जिला है, के खड़गपुर रेलवे स्टेशन पर 2001 से 2003 तक, दक्षिण पूर्व रेलवे के तहत, एक यात्रा टिकट परीक्षक (टीटीई) थे। उनके सहयोगी उन्हें एक बहुत ईमानदार, और भारतीय रेल के सीधे कर्मचारी के रूप में याद करते है। लेकिन उनके व्यक्तित्व का एक शरारती पक्ष भी था। एक बार, जब वह रेलवे क्वार्टर में रहते थे तो, धोनी और उनके दो दोस्तों में खुद को सफेद चादर में ढ़ककर रात में परिसर में चारो तरफ मटरगश्ती की| रात के चौकीदारों को यह विश्वास हो गया था कि वहाँ परिसर में चारों ओर भूत है। यह कहानी अगले दिन एक बड़ी खबर बनी थी।

धोनी ने मुझे ओपनिंग करने के लिए कहा, और मेरा करियर बदल दिया – रोहित शर्मा

महेंद्र सिंह धोनी के अंतर्राष्ट्रीय मुकाबलों में नतीजे:

Dhoni’s results in international matches
Matches Won Lost Drawn Tied No result
Test 90 36 24 30 0
ODI 285 158 109 4 14
T20I 73 42 28 1 2

महेंद्र सिंह धोनी का टेस्ट क्रिकेट में कप्तानी रिकॉर्ड:

Captaincy Record in Test Matches
Venue Span Matches Won Lost Tied Draw
At Home Venues 2008–2013 30 21 3 0 6
At Away Venues 2009–2014 30 6 15 0 9
TOTAL 2008–2014 60 27 18 0 15


महेंद्र सिंह धोनी का एकदिवसीय क्रिकेट में कप्तानी रिकॉर्ड:

Captaincy Record in One Day Internationals
Venue Span Matches Won Lost Tied N/R
In India (At Home Venues) 2007–2016 73 43 26 1 3
At Away and Neutral Venues 2008–2016 126 67 48 3 8
TOTAL 2007–2016 199 110 74 4 11

महेंद्र सिंह धोनी का टी 20 क्रिकेट में कप्तानी रिकॉर्ड:

Captaincy Record in Twenty20 Internationals
Venue Span Matches Won Lost Tied N/R
In India (At Home Venues) 2007–2016 20 10 10 0 0
At Away Venues 2007–2016 23 13 10 0 0
At Neutral Venues 2007–2016 29 18 8 1 2
TOTAL 2007–2016 72 41 28 1 2

महेंद्र सिंह धोनी के टेस्ट शतक:

Mahendra Singh Dhoni’s Test centuries
# Runs Match Against City/Country Venue Year Result
1 148 5
 Pakistan
 Faisalabad, Pakistan
Iqbal Stadium 2006 Drawn
2 110 38
 Sri Lanka
 Ahmedabad, India
Sardar Patel Stadium 2009 Drawn
3 100* 40
 Sri Lanka
 Mumbai, India
Brabourne Stadium 2009 Won
4 132* 42
 South Africa
 Kolkata, India
Eden Gardens 2010 Won
5 144 63
 West Indies
 Kolkata, India
Eden Gardens 2011 Won
6 224 74
 Australia
 Chennai, India
M. A. Chidambaram Stadium 2013 Won

महेंद्र सिंह धोनी के एकदिवसीय शतक:

Mahendra Singh Dhoni’s One Day International centuries for India
# Runs Match Against City/Country Venue Year Result
1 148 5
 Pakistan
 Visakhapatnam, India
ACA-VDCA Cricket Stadium 2005 Won
2 183* 22
 Sri Lanka
 Jaipur, India
Sawai Mansingh Stadium 2005 Won
3 109* 110
 Hong Kong
 Karachi, Pakistan
National Stadium 2008 Won
4 124 147
 Australia
 Nagpur, India
Vidarbha Cricket Association Stadium 2009 Won
5 107 153
 Sri Lanka
 Nagpur, India
Vidarbha Cricket Association Stadium 2009 Lost
6 101* 156
 Bangladesh
 Dhaka, Bangladesh
Sher-e-Bangla National Cricket Stadium 2010 Won
7 113* 212
 Pakistan
 Chennai, India
M. A. Chidambaram Stadium 2012 Lost
8 139* 229
 Australia
 Mohali, India
Punjab Cricket Association Stadium 2013 Lost
9 134 285
 England
 Cuttack, India
Barabati Stadium 2017 Won

महेंद्र सिंह धोनी के शतकों में भारत के नतीजे:

Total Won Win % Lost Lost% Tie Tie% Draw Draw%
Test 6 4 66.67% 0 0% 0 0% 2 33.33%
ODI 10 7 70.67% 3 33.33% 0 0% 0 0%
Total 15 10 66.67% 3 20% 0 0% 2 13.33%

महेंद्र सिंह धोनी के टेस्ट क्रिकेट में मैन ऑफ़ द मैच अवार्ड:

S No Series Season Match Performance Result
1 2nd Test – Border-Gavaskar Trophy Test Series 2008/09 1st Innings: 92 (124 balls, 8×4, 4×6); 1 Ct. ; 1 st.
 India won by 320 runs
2nd Innings: 68* (84 balls, 3×4, 1×6) ; 1 ct.
2 1st Test – Border-Gavaskar Trophy Test Series 2012/13 1st Innings: 1 st. ; 224 (265 balls, 24×4, 6×6)
 India won by 8 wickets
2nd Innings: DNB

महेंद्र सिंह धोनी के एकदिवसीय क्रिकेट में मैन ऑफ़ द सीरीज़ अवार्ड:

# Series Season Match Performance Result
1 Sri Lanka in India 2013/14 346 Runs (7 Matches, 1×100, 1×50); 6 Ct. & 3 st.
 India Won the series 6–1
2 India in Bangladesh 2007 127 Runs (2 Matches & 2 Innings, 1×50); 1 Ct. & 2 St.
 India Won the series 2–0
3 India in Sri Lanka 2008/09 193 Runs (5 Matches, 2×50); 3 Ct. & 1 St.
 India Won the series 3–2
4 India in West Indies 2009 182 Runs (4 Matches with avg. of 91); 4 Ct. & 1 St.
 India Won the series 2–1
5 India in England 2011 236 Runs (5 Matches with an avg. of 78.66, 3×50)
 England Won the series 3–0
6 England in India 2011/12 212 Runs (5 Matches, 2×50 with 4 not outs)
 India Won the series 5–0

महेंद्र सिंह धोनी के एकदिवसीय क्रिकेट में मैन ऑफ़ द मैच अवार्ड:

S No Opponent Venue Match Performance Result
1 Pakistan ACA-VDCA Stadium, Visakhapatnam 148 (123 balls, 15×4, 4×6); WK 2 Ct.
 India won by 58 runs
2 Sri Lanka Sawai Mansingh Stadium, Jaipur 183* (145 balls, 15×4, 10×6); WK 1 Ct.
 India won by 6 wickets
3 Pakistan Gaddafi Stadium, Lahore 72 (46 balls, 12×4); WK 3 Ct.
 India won by 5 wickets
4 Bangladesh Sher-e-Bangla Stadium, Dhaka 91* (106 balls, 7×4); WK 1 St.
 India won by 5 wickets
5 Africa XI M. A. Chidambaram Stadium, Chennai 139* (97 balls, 15×4, 5×6); WK 3 St. Asia XI won by 13 runs
6 Australia Sector 16 Stadium, Chandigarh 50* (35 balls, 5×4 1×6); WK 2 St.
 India won by 8 runs
7 Pakistan Nehru Stadium, Guwahati 63 (77 balls, 8×4); WK 1 St.
 India won by 5 wickets
8 Sri Lanka National Stadium, Karachi 67 (62 balls, 5×4, 1×6); WK 2 Ct.
 India won by 6 wickets
9 Sri Lanka R. Premadasa Stadium Colombo 76 (80 balls, 8×4); WK 2 Ct.
 India won by 33 runs
10 New Zealand McLean Park, Napier 84* (89 balls, 6×4); WK 1 Ct. & 1 St.
 India won by 53 runs (D/L)
11 West Indies Beausejour Stadium, Gros Islet 46* (34 balls, 2×4, 1×6); WK 2 Ct. & 1 St.
 India won by 6 wickets (D/L)
12 Australia VCA Stadium, Nagpur 124 (107 balls, 9×4, 3×6); WK 1 Ct, 1 St. & 1 Runout
 India won by 99 runs
13 Bangladesh Sher-e-Bangla Stadium, Dhaka 101* (107 balls, 9×4)
 India won by 6 wickets
14 Sri Lanka Wankhede Stadium, Mumbai 91* (79 balls, 8×4, 2×6); 1 ct.
 India won World Cup by 6 wickets
15 England Rajiv Gandhi Stadium, Hyderabad 87* (70 balls, 10×4, 1×6); 1 Ct. & 1 St.
 India won by 126 runs
16 Sri Lanka Adelaide Oval, Adelaide 58* (69 balls, 3×4, 1×6); 2 St. Tied
17 Pakistan M. A. Chidambaram Stadium, Chennai 113* (125 balls, 7×4, 3×6); 1 Ct. & 1 St.
 Pakistan won by 6 wickets
18 Pakistan Feroz Shah Kotla, Delhi 36 (55 balls, 1×4, 3×6): 1 Ct. & 1 St.
 India won by 10 runs
19 Sri Lanka Queen’s Park Oval, Port of Spain 45* (52 balls, 5×4, 2×6); 1 Ct. & 3 St.
 India won by 1 wicket
20 South Africa Holkar Cricket Stadium, Indore 92* (86 balls, 7×4, 4×6); 3 Ct. & 1 St.
 India won by 22 runs
21 West Indies Sir Vivian Richards Stadium, North Sound 78* (79 balls, 4×4, 2×6); 1 St.
 India won by 93 runs

एम एस धोनी से जुड़ी अन्य खबरें:

एमएस धोनी ने की सशस्त्र बलों की सराहना, और भारतीय सैनिक सच में हैं इसके हकदार!

आईपीएल 2018: भावुक एमएस धोनी ने स्वीकार किया: सीएसके की पीली जर्सी में खेलना याद आता था

आईपीएल 2018 : देखिए एम एस धोनी को चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाड़ियों के साथ डांस करते हुए!

क्रिकेट से ज़्यादा धोनी किस चीज़ से प्यार करते हैं?

दक्षिण अफ्रीका में कैसे खेलें क्रिकेट? जॉन्टी रोड्स के बच्चों ने महेंद्र सिंह धोनी को दी विशेष सलाह!

चेन्नई सुपर किंग्स में महेंद्र सिंह धोनी की वापसी का सुखद कारण जानकार आप चौंक जाएँगे!

एम एस धोनी क्रिकेट एकेडमी सिंगापुर में लांच होने को तैयार

आई पी एल 2018: चेन्नई सुपरकिंग्स धोनी और रैना को करेगी रिटेन

सटीक निर्णय देने के लिए अंपायरों ने धोनी से अपने पास खड़े होने का किया निवेदन

क्रिकेट के अलावा अनुष्का शर्मा और साक्षी धोनी में है यह समानता

जिस तरह से आपने बल्लेबाजी की, उसके लिए धन्यवाद धोनी। मेरे पति ने मैच ख़त्म होने से पहले, बिना कुछ कहे मुझे टीवी रिमोट सौंप दिया

धोनी के भविष्य पर आधारित प्रश्नों से तंग आ कर कोहली ने अनुष्का के साथ सम्बन्ध पर सवाल पूछने को कहा

धोनी की टीम पहले से ही आई पी एल 2018 के फाइनल में

धोनी के योगदान को कमतर आँकने की भूल न करे भारत: एडम गिलक्रिस्ट

आईपीएल सट्टेबाजी जांच के दौरान गुरुनाथ मयप्पन के बारे में क्या कहा था धोनी ने

वीवीएस लक्ष्मण ने विराट कोहली और एमएस धोनी के बीच के मैदानी रिश्ते का राज़ बताया

भारतीय टीम में एम एस धोनी के भविष्य पर सौरव गांगुली ने दी अपनी राय

धोनी से जुड़े 26 तथ्य

चेन्नई सुपरकिंग्स के मालिक एन श्रीनिवासन से मिले एम एस धोनी

माइकल क्लार्क ने कहा एमएस धोनी 2023 विश्व कप तक खेल सकते हैं

 

Leave a Response

share on: