केन विल्यमसन – न्यूज़ीलैंड – रिकॉर्ड

Kane Williamson Records

पूरा नाम – केन स्टुअर्ट विलियमसन

जन्म – 8 अगस्त 1990 तौरांगा

प्रमुख टीमें – न्यूजीलैंड, ग्लूस्टरशायर, ग्लूस्टरशायर 2न्ड एकदिवसीय, न्यूजीलैंड अंडर -19, उत्तरी जिले, सनराइजर्स हैदराबाद, यॉर्कशायर

भूमिका – शीर्ष क्रम के बल्लेबाज

बल्लेबाज़ी शैली – दाएं हाथ के बल्लेबाज़

गेंदबाजी शैली – दायें-हाथ से ऑफब्रेक

टेस्ट पदार्पण (कैप 248) – 4 नवंबर 2010 बनाम भारत

एकदिवसीय पदार्पण (कैप 191) – 10 अगस्त 2010 बनाम भारत

टी20 पदार्पण (कैप 49) – 15 अक्टूबर 2011 बनाम ज़िम्बाब्वे

बल्लेबाजी और क्षेत्ररक्षण का औसत														 	मॅच 	पारी	नाबाद	रन	सर्वाधिक स्कोर	औसत	गेंद खेलीं	स्ट्राइक रेट	शतक	अर्धशतक	चौके	छ्क्के	कॅच	स्टमपिंग टेस्ट	61	110	10	5116	242*	51.16	10151	50.39	17	25	560	12	53	0 एकदिवसीय	111	105	10	4361	145*	45.9	5205	83.78	8	29	411	36	45	0 टी२०	39	37	6	1125	73*	36.29	916	122.81	0	7	130	15	19	0 प्रथम श्रेणी	123	212	17	9516	284*	48.8	18531	51.35	27	48	1113	29	114	0 लिस्ट ए	172	162	18	6482	145*	45.01	7848	82.59	12	41	577	57	72	0 ट्वेंटी२०	112	104	12	2682	101*	29.15	2211	121.3	1	16	274	47	46	0
Kane-Williamson-Batting-and-Fielding-Records-in-Hindi
गेंदबाज़ी औसत													 	मॅच 	पारी	गेंदें	रन	विकेट	बेस्ट/पारी	बेस्ट/मॅच	औसत	रन प्रति ओवर	स्ट्राइक रेट	4 विकेट	5 विकेट	10 विकेट टेस्ट	61	57	2025	1129	29	4/44	4/44	38.93	3.34	69.8	1	0	0 एकदिवसीय	111	58	1257	1156	33	4/22	4/22	35.03	5.51	38	1	0	0 टी२०	39	11	112	148	6	2/16	2/16	24.66	7.92	18.6	0	0	0 प्रथम श्रेणी	123	130	6474	3634	85	5/75	5/59	42.75	3.36	76.1	1	1	0 लिस्ट ए	172	92	2546	2229	63	5/51	5/51	35.38	5.25	40.4	1	1	0 ट्वेंटी२०	112	52	752	869	30	3/33	3/33	28.96	6.93	25	0	0	0
Kane-Williamson-Bowling-Records-in-Hindi

केन विलियमसन हाल के दिनों में न्यूजीलैंड के लिए सबसे शानदार संभावनाओं में से एक रहे हैं। न्यूजीलैंड के लिए अंडर -19 स्तर पर शानदार प्रदर्शन के बाद विलियमसन सबकी नजरों में आये। उन्होंने 2007 के विश्व कप में अंडर -19 टीम का नेतृत्व भी किया। चयनकर्ताओं ने उनकी बढ़ती क्षमता को मान्यता दी और विलियमन ने 2010 में भारत के खिलाफ दोनों प्रारूपों में अपने करियर की शुरुआत की। उन्होंने वनडे प्रारूप में जमने के लिए थोड़ा समय लिया और अपने पांचवें मैच में बांग्लादेश के खिलाफ अपना पहला शतक बनाया। उस पारी के ठीक बाद टीम में उन्हें उपमहाद्वीप में होने वाले 2011 विश्व कप के लिए टीम में शामिल किया गया था।

शुरू में उन्होंने टेस्ट मैचों में काफी चमक दिखायी। भारत के खिलाफ अपने पहले टेस्ट में उन्होंने एक शानदार शतक बनाया और अगले मैच में तेज अर्धशतक भी लगाया। विलियमसन टेस्ट मैच में शतक बनाने वाले केवल आठवें किवी बल्लेबाज़ थे।

इस तरह कम उम्र में अच्छी गुणवत्ता की स्पिन गेंदबाज़ी के प्रति उनकी क्षमता ने उन्हें बहुत सम्मान दिलाया। उन्होंने 2011 के शुरूआती दौर में पाकिस्तान के खिलाफ एक और पचासा बनाया और टीम में अपनी स्थिति मजबूत की।

इसके बाद के महीनों में विलियमसन ने बोर्ड पर अच्छे रन स्कोर करने के लिए संघर्ष किया। हालांकि उन्होंने 2012 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट की दूसरी पारी में नाबाद 102 रन की पारी से जोरदार वापसी की। डेल स्टेन, मॉर्न मॉर्केल और वेरनॉन फिलैंडर की गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ उनके धैर्य की काफी सराहना की गई। अगले साल के दौरान भी उन्होंने लगातार अच्छा प्रदर्शन करना जारी रखा।

विलियमसन ने अक्टूबर 2013 में बांग्लादेश के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज़ में 250 रन बनाए, जिसमें एक शतक और दो अर्धशतक शामिल थे और उस श्रृंखला में न्यूज़ीलैंड के लिए वह अग्रणी रन-स्कोरर भी थे। इससे पहले इसी वर्ष विलियमसन ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे वनडे में अपना सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत स्कोर -145 रन भी बनाया था।

विलियमसन ने खेल के सीमित ओवरों के प्रारूप में महत्वपूर्ण प्रदर्शन करना जारी रखा। उन्हें 2013 में श्रीलंका दौरे के लिए कप्तान के तौर पर नामित किया गया था, लेकिन दुर्भाग्य से उन्होंने अक्टूबर 2013 में बांग्लादेश के खिलाफ पहले वनडे में अपने बाएं हाथ के अंगूठे को चोटिल कर लिया और छह हफ्तों के लिए टीम से बाहर हो गए। इस वजह से श्रीलंका में टीम की अगुवाई करने से वह वंचित रह गए।

विलियमसन ने 2014 की शुरुआत में और जनवरी/ फरवरी 2014 में भारत के खिलाफ हुई एकदिवसीय श्रृंखला के दौरान चोट से वापसी की। वह असाधारण फॉर्म में थे और इस प्रक्रिया में रिकॉर्ड के ढेर को तोड़ते हुए आगे बढ़ रहे थे। सभी पांच मैचों में पचास से अधिक के स्कोर के साथ वह इस उपलब्धि को हासिल करने वाले ओडीआई इतिहास (यसीर हमीद के बाद) में केवल दूसरे बल्लेबाज बन गये। वह चौथे न्यूजीलैंड के खिलाड़ी भी बन गए जिसने एकदिवसीय मैचों में पांच या अधिक लगातार परियों में पचास रन बनाए। द्विपक्षीय सीरीज़ में न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों द्वारा उनके पांच पचास से अधिक स्कोर भी सबसे ज्यादा हैं।

इसके बाद टेस्ट सीरीज़ में विलियमसन ने ऑकलैंड में पहले मैच में एक शानदार शतक के साथ अपने मूल्य को साबित कर दिया। इसके बाद विलियमसन को बांग्लादेश में आयोजित विश्व ट्वेंटी20 2014 के लिए जेसी राइडर के स्थान पर शामिल किया गया और वह उस टूर्नामेंट में टीम के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ बन कर उभरे। उन्होंने चार पारियों में 146 रन बनाए, जिसमें दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एक पचासा भी शामिल था।

वेस्टइंडीज में हुई श्रृंखला विलियमसन के लिए एक महान टेस्ट सीरीज़ थी जहाँ तीन मैचों की सीरीज में उन्होंने दो शतक और एक अर्धशतक बनाया। संयुक्त अरब अमीरात में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ में उन्होंने शारजाह में तीसरे और अंतिम मैच में 192 बनाकर शानदार प्रदर्शन किया। विलियमसन ने न्यूजीलैंड की अगली ओडीआई सीरीज़ का नेतृत्व किया क्योंकि चयनकर्ताओं ने नियमित कप्तान ब्रेंडन मैकुलम को आराम देने का फैसला किया था। वह बल्ले के साथ उनके लिए एक अच्छा समय था जब उन्होंने दो अर्धशतक और एक शानदार शतक बनाया। अबू धाबी में खेले गए पांचवें एकदिवसीय मैच में जीत हासिल कर न्यूजीलैंड श्रृंखला में 3-2 से विजयी हुई।

उन्होंने बल्ले के साथ अच्छा फॉर्म जारी रखा और श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में वेलिंग्टन में अपना पहला दोहरा शतक दर्ज किया। ओडीआई श्रृंखला में भी चोटियों को छूने से आगंतुक उन्हें रोक नहीं सके, क्योंकि वह शानदार टच में थे।

यह भी याद किया जाना चाहिए कि विलियमसन ने ऑफ स्पिन गेंदबाज़ के रूप में महत्वपूर्ण सफलताएं हासिल की हैं। हालांकि उनका एक्शन जांच के तहत आया था और जुलाई 2014 में उनकी गेंदबाजी पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। उन्होंने वापसी करने के लिए अपने एक्शन को फिर से तैयार किया। 2015 के विश्व कप में केन विलियमसन को खिलाड़ियों में से एक के रूप में चुना गया। उन्हें सनराइजर्स हैदराबाद द्वारा 2015 की आईपीएल नीलामी में खरीदा गया था।

विश्व कप शुरू होने से पहले विलियमसन ने 2015 में 700 से अधिक रन बनाये थे। हालांकि वह पूरे टूर्नामेंट में केवल 234 रन ही बना सके थे। उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ सलामी बल्लेबाज के रूप में एक अर्धशतक बनाया और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नाबाद 45 रन बनाये, लेकिन बाकी श्रृंखला में वह पूरी तरह अप्रभावी रहे।

मेलबर्न में भव्य फाइनल में मिली हार के बावजूद वह इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट टूर्नामेंट में बनाये गए सैकड़ों के साथ व्यापार में वापस लौट आये और अपनी बढ़ती प्रतिष्ठा में चार चांद और लगा दिए। 2016 में एक महत्वपूर्ण अवसर का उल्लेख किया गया, न केवल उनके करियर में बल्कि पूरे न्यूजीलैंड क्रिकेट में। अगले कप्तान के रूप में उन्हें नामित किया गया जब मैकुलम ने कप्तानी छोड़ दी। विलियमसन का पहला काम – विश्व टी 20 में न्यूजीलैंड को विजय दिलाना था। अच्छे फैसलों और शानदार प्रदर्शन के बावजूद सेमीफाइनल में हारकर टीम श्रृंखला से बाहर हो गयी।

ज़िम्बाब्वे के एक अनुभवहीन विपक्ष ने विलियमसन को अपनी टेस्ट कप्तानी के लिए एक खुशहाल शुरुआत प्रदान की, लेकिन बाद में अपने अफ्रीकी दौरे के दौरान दक्षिण अफ्रीका ने न्यूजीलैंड को सेंच्युरियन में हराकर श्रृंखला 1-0 से जीत ली। उनके शासनकाल की अभी शुरुआत ही हुई है और सीखने के लिए उनके पास बहुत कुछ है। भारत में विलियमसन की टीम ने कठिनाइयों का सामना किया लेकिन एक बार जब वे घर लौट आए तब पाकिस्तान और बांग्लादेश के खिलाफ ठोस जीत हासिल की। केन ने टीम को फिर से संगठित किया है और वापस से सबकुछ ठीक करने का हरसंभव प्रयास कर रहे हैं।

Summary
Kane Williamson Records | New Zealand | CricketinHindi.com
Article Name
Kane Williamson Records | New Zealand | CricketinHindi.com
Publisher Name
CricketinHindi.com
Publisher Logo
share on: