मोहम्मद हफ़ीज़ – पाकिस्तान – रिकॉर्ड

Mohammad Hafeez Records in Hindi

पूरा नाम – मोहम्मद हफीज

जन्म – 17 अक्टूबर, 1980, सरगोधा, पंजाब

प्रमुख टीमें – पाकिस्तान, फैसलाबाद, फैसलाबाद भेड़िये, गयाना अमेज़ॅन वारियर्स, कोलकाता नाइट राइडर्स, लाहौर लायंस, मेलबर्न स्टार्स, पेशावर झल्मी, सरगोधा, सुई उत्तरी गैस पाइपलाइन लिमिटेड

भूमिका – ऑलराउंडर

बल्लेबाज़ी शैली – दाएं हाथ के बल्लेबाज़

गेंदबाजी शैली – दाएं हाथ से ऑफ-ब्रेक

टेस्ट पदार्पण (कैप 173) – 20 अगस्त 2003 बनाम बांग्लादेश

एकदिवसीय पदार्पण (कैप 144) – 3 अप्रैल 2003 बनाम ज़िम्बाब्वे

टी 20 पदार्पण (कैप 5) – 28 अगस्त 2006 बनाम इंग्लैंड

बल्लेबाजी और क्षेत्ररक्षण का औसत														 	मॅच 	पारी	नाबाद	रन	सर्वाधिक स्कोर	औसत	गेंद खेलीं	स्ट्राइक रेट	शतक	अर्धशतक	चौके	छ्क्के	कॅच	स्टमपिंग टेस्ट	50	96	8	3452	224	39.22	6128	56.33	9	12	429	28	43	0 एकदिवसीय	189	189	11	5819	140*	32.69	7737	75.21	11	31	594	91	73	0 टी२०	78	76	4	1619	86	22.48	1415	114.41	0	9	175	39	22	0 प्रथम श्रेणी	197	345	15	11523	224	34.91			24	55			176	0 लिस्ट ए	297	297	16	10089	140*	35.9			17	63			122	0 ट्वेंटी२०	207	197	14	4332	102*	23.67	3529	122.75	2	26	477	126	70	0
Mohammad-Hafeez-Batting-and-Fielding-records-in-Hindi
गेंदबाज़ी औसत													 	मॅच 	पारी	गेंदें	रन	विकेट	बेस्ट/पारी	बेस्ट/मॅच	औसत	रन प्रति ओवर	स्ट्राइक रेट	4 विकेट	5 विकेट	10 विकेट टेस्ट	50	70	3953	1763	52	4/16	4/48	33.9	2.67	76	2	0	0 एकदिवसीय	189	157	7076	4881	133	4/41	4/41	36.69	4.13	53.2	1	0	0 टी२०	78	58	1010	1128	46	4/10	4/10	24.52	6.7	21.9	1	0	0 प्रथम श्रेणी	197		14248	6432	233	8/57		27.6	2.7	61.1		6	2 लिस्ट ए	297		12330	8549	245	4/23	4/23	34.89	4.16	50.3	4	0	0 ट्वेंटी२०	207	160	3035	3161	142	4/10	4/10	22.26	6.24	21.3	3	0	0
Mohammad-Hafeez-Bowling-records-in-Hindi

पहले पैर पर आगे जाकर अपनी ऊपरी कोहनी घुमाकर एक खूबसूरत कवर ड्राइव लगाना मोहम्मद हफ़ीज़ का उचित वर्णन करता है | जब हफ़ीज़ बल्लेबाज़ी करते है तो पैड के सहारे बॉल को फ्लिक करना भी उतना ही मनोहर लगता है | और उनकी सीधी सपाट गेंदें जिनके विरुद्ध सीमित ओवरों के क्रिकेट में रन बनाना आसान नहीं है | इस फेहरिस्त को पूरा करने में, उनके क्षेत्ररक्षण का भी हाथ है, जहां वे पॉइंट पर खड़े हो तूफानी कट शॉट रोकते है | एक व्यक्ति जो किसी भी टीम का हिस्सा बन सकते है, हफ़ीज़ ने खुद को हर प्रारूप का खिलाड़ी बनाने में सात वर्ष लगा दिए |

एक सलामी बल्लेबाज़ और एक उपयोगी ऑफ-स्पिनर, मोहम्मद हफ़ीज़ पाकिस्तान के 2003 विश्व कप में भयावह प्रस्थान के बाद के समय में टीम का हिस्सा बने | टेस्ट करियर में उनकी शुरुआत बढ़िया रही, जब उन्होंने पहले मैच में बांग्लादेश के विरुद्ध अर्धशतक लगाया, और अगले ही मैच में शतक भी लगाया | उनके प्रदर्शन में, हालाँकि, चढ़ाव से अधिक उतार थे और उन्हें 2 बार तीन सालों के लिए टेस्ट टीम से बाहर बैठना पड़ा था | एक बार 2003-06 के बीच और दूसरी बार 2007-10 के बीच | लेकिन घरेलु क्रिकेट में लगातार तगड़ा प्रदर्शन करने के कारण उन्हें नवंबर 2010 में टीम में वापस लाया गया और तभी से वे टेस्ट लाइन-अप के एक स्थायी सदस्य बन गए है |

एकदिवसीय आंकड़े भी कुछ मौकों को छोड़कर, जो कि बहुत ही कम और लम्बे अंतरालों पर थे, छोटे ही रहे जब तक उन्होंने सबसे ऊंचे दर्जे पर खुद को स्थापित नहीं कर लिया | लेकिन टेस्ट मैचों जैसे ही, एकदिवसीय आंकड़े भी सितम्बर 2010 में टीम में वापसी करने के बाद बेहतर हुए | 11 एकदिवसीय शतक( सभी घर से बाहर), 2011-2015 के बीच, वो भी बल्लेबाज़ी क्रम में सबसे ऊपर आते हुए, ने यह सुनिश्चित किया कि सईद अनवर के संन्यास लेने के बाद भी पाकिस्तान को विरोधियों से भिड़ने के लिए एक विशिष्ट और ठोस सलामी बल्लेबाज़ मिल गया | 4 से हलके से ऊपर इकॉनमी रेट से 100 से भी अधिक विकेट लेकर वो और भी अनिवार्य हो गए जब तक कि जून 2015 में आईसीसी द्वारा उनके एक्शन पर सवाल नहीं उठाये गए | उन्होंने अपने एक्शन में सुधार किया और ऑस्ट्रेलियाई दौरा करने वाली पाक एकदिवसीय टीम का 2017 में हिस्सा बने | पहले टीम से बाहर रहने के बाद, अज़हर अली के चोटिल होने पर उन्हें टीम में जगह मिली |

‘प्रोफेसर’ उपनाम पाने वाले मोहम्मद हफ़ीज़ ने सभी प्रारूपों में पाकिस्तानी टीम की कमान संभाली है | एक बार टेस्ट मैच में और दो बार एकदिवसीय मुक़ाबलों में | लेकिन वे टी20 मैच ही है जहां वे एक अच्छे समय के लिए कप्तान थे | उन्होंने 29 अंतर्राष्ट्रीय टी20 मैचों में कप्तानी का ज़िम्मा संभाला, जिसमें से 17 मैचों में पाकिस्तान की जीत हुई, वहीँ 11 मैचों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा | लेकिन इस दौर में दो विश्व कप भी शामिल थे, 2012 का विश्व कप जहां वे सेमी-फाइनल तक पहुंचे, और 2014 का विश्व कप, जहां वे पहली बार सेमीफइनल में पहुंचने से रह गए | इस असफल अभियान ने उनकी कप्तानी पर परदे गिरा दिए | एक टी20 खिलाड़ी के रूप में उन्हें 2012 में भारत के विरुद्ध 2-मैचों की श्रृंखला में मैन ऑफ़ द सीरीज चुना गया था, जो कि बराबरी पर ख़त्म हुई थी |

2010 के आखिर जैसे ही, जब उन्होने अपने करियर की कायापलट की थी, हफ़ीज़ यह आशा रखते होंगे कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर 2017 की शुरुआत से उन्हें एक और बार जीवनदान मिले |

Summary
Review Date
Reviewed Item
Mohammad Hafeez Records | Pakistan | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: