मोईन खान – पाकिस्तान – रिकॉर्ड

Moin Khan records in Hindi

पूरा नाम – मोहम्मद मोईन खान

जन्म – 23 सितंबर 1971, पंजाब, रावलपिंडी

प्रमुख टीमें – पाकिस्तान, कराची, पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस

बल्लेबाज़ी शैली – दाएं हाथ के बल्लेबाज़

गेंदबाजी शैली – दाएं-हाथ से ऑफब्रेक

क्षेत्ररक्षण स्थिति – विकेटकीपर

टेस्ट पदार्पण (कैप 119) – 23-25 नवंबर 1990 बनाम वेस्ट इंडीज
अंतिम टेस्ट – 20-24 अक्टूबर 2004 बनाम श्रीलंका

एकदिवसीय पदार्पण (कैप 79) – 10 नवंबर 1990 बनाम वेस्ट इंडीज
अंतिम एकदिवसीय – 16 अक्टूबर 2004 बनाम श्रीलंका

बल्लेबाजी और क्षेत्ररक्षण का औसत														 	मॅच 	पारी	नाबाद	रन	सर्वाधिक स्कोर	औसत	गेंद खेलीं	स्ट्राइक रेट	शतक	अर्धशतक	चौके	छ्क्के	कॅच	स्टमपिंग टेस्ट	69	104	8	2741	137	28.55	5362	51.11	4	15	334	27	128	20 एकदिवसीय	219	183	41	3266	72*	23	4017	81.3	0	12	218	61	214	73 प्रथम श्रेणी	206	297	30	8189	200*	30.67			14	40			495	58 लिस्ट ए	357	281	68	5998	174	28.15			4	22			337	139 ट्वेंटी२०	5	5	0	221	112	44.2	141	156.73	1	0	20	7	1	1
Moin-Khan-Batting-and-Fielding-records-in-Hindi
गेंदबाज़ी औसत													 	मॅच 	पारी	गेंदें	रन	विकेट	बेस्ट/पारी	बेस्ट/मॅच	औसत	रन प्रति ओवर	स्ट्राइक रेट	4 विकेट	5 विकेट	10 विकेट टेस्ट	69	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	- एकदिवसीय	219	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	- प्रथम श्रेणी	206		60	81	2	2/78		40.5	8.1	30		0	0 लिस्ट ए	357	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	- ट्वेंटी२०	5	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-	-
Moin-Khan-Bowling-Records-in-Hindi

अपने पूरे क्रिकेट करियर के दौरान मोईन खान को पाकिस्तानी टीम के विकेटकीपर के स्थान के लिए राशिद लातिफ से मुक़ाबला करना पड़ा था | दोनों के लिए सारे हालात अनुकूल नहीं थे | लातिफ दस्तानों के साथ तो मंझे हुए थे लेकिन उनकी बल्लेबाज़ी में काफी सुधार की ज़रुरत थी | दूसरी ओर मोईन बल्ले से बढ़िया थे लेकिन कीपिंग उनकी थोड़ी कमज़ोर थी | हालाँकि, वे मोईन ही थे जिन्होंने खुद को पाकिस्तानी टीम के एक नियमित सदस्य के रूप में स्थापित किया |

कामरान अकमल – पाकिस्तान – रिकॉर्ड

एक अनियमित शुरुआत के बाद, मोईन की पहली बड़ी टेस्ट पारी ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध लाहौर में 1994 में खेली गयी | मोईन ने पाकिस्तान को एक प्रतिस्पर्धात्मक स्कोर तक पहुंचाया और अपना पहला शतक लगा मैच को ड्रा पर रोका | मोईन ने दबाव में अपने जुझारूपन की झलक भी दिखाई | श्रीलंका के विरुद्ध सियालकोट में तीसरे टेस्ट के दौरान, पाकिस्तान को जीत के लिए 357 रनों की आवश्यकता थी | मोईन ही वो अकेले बल्लेबाज़ थे जो कि नाबाद 117 रन बनाकर क्रीज़ पर टिके रहे जब बाकी के बल्लेबाज़ समर्थन करने में विफल रहे और पाकिस्तान मैच 144 रनों से हार गया |

एकदिवसीय क्रिकेट में भी उन्हें काफी सफलता हाथ लगी | निचले क्रम पर बल्लेबाज़ी करने आने वाले, मोईन ने कई आक्रामक पारियां खेली और पारी का अंत अपने ही अंदाज़ में किया | 1997 से 2000 की अवधि मोईन के लिए सुनहरा समय था, दस्तानो और बल्ले दोनों से | उनकी कीपिंग दोषरहित थी और पाकिस्तान के लिए एकदिवसीय पारियों के लिए उन्हें मांझा हुआ फिनिशर माना जाने लगा था |

सक़लैन मुश्ताक़ – पाकिस्तान – रिकॉर्ड

यह पहलू 2000 के एशिया कप में उभर कर आया जिसका आयोजन बांग्लादेश में हुआ था | मोईन की कप्तानी ने पाकिस्तान को फाइनल तक मार्गदर्शन दिया था जहां उनका सामना श्रीलंका से होना था | अंत में तूफानी प्रहारों की मदद से उन्होंने 31 गेंदों में 56 रन बनाए और पाकिस्तान को 277/4 के बढ़िया स्कोर तक पहुंचाया था | जवाब में श्रीलंकाई टीम 238 पर सिमट गयी थी और पाकिस्तान को 39 रनों की जीत और एशिया कप भी थमा दिया था |

हालाँकि, समय के साथ मोईन की कप्तानी को अत्यधिक रूप से रक्षात्मक माना जाने लगा | पाकिस्तानी टीम के भीतर निरंतर घर्षण के कारण भी उन्हें मदद नहीं मिली | आगे के सालों में विकेट के पीछे का उनका प्रदर्शन भी ढलने लगा और उनकी जगह कामरान अकमल को श्रीलंका के विरुद्ध 2004 में फैसलाबाद में खेले गए पहले टेस्ट के बाद टीम में लाया गया |

इंज़माम-उल-हक़ – पाकिस्तान – रिकॉर्ड

हालाँकि, मोईन घरेलु सर्किट में रन बनाते रहे | 2005 में उन्होंने केवल 59 गेंदों पर नाबाद 112 रन बनाये , जब वे लाहौर लायंस के विरुद्ध कराची डॉल्फिंस की ओर से टी20मैच खेल रहे थे | सीज़न के अंत समय के पास, उन्होंने अपने ही अंदाज़ में कराची की ओर से हैदराबाद के विरुद्ध नाबाद दोहरा शतक जड़ क्रिकेट से संन्यास ले लिया , जो कि उनका सर्वाधिक प्रथम-श्रेणी स्कोर भी था | 2007 में आईसीएल में उन्होंने हैदराबाद हीरोज को कोच किया और 2008 के संस्करण में लाहौर बादशाह को भी कोचिंग दी | अगस्त 2013 में उन्हें राष्ट्रीय टीम का मैनेजर भी नामित किया गया था | डेव व्हॉटमोर से अनुबंध समाप्त होने के बाद मोईन को फरवरी 2014 में पाकिस्तानी दल का मुख्य कोच भी बनाया गया था | उनका पहला नियत कार्य एशिया कप और टी20 विश्व कप था, और दोनों में ही वे आवश्यकताओं पर खरे नहीं उतरे जब पाकिस्तान एशिया कप के फाइनल मैच में हार गया और टी20 विश्व कप के सेमी-फाइनल के लिए भी क्वालीफाई नहीं कर पाया | पीसीबी ने उन्हें अप्रैल 2014 में राष्ट्रीय दल का मुख्य चयनकर्ता नियुक्त कर दिया |

वसीम अकरम – पाकिस्तान – रिकॉर्ड

मज़ेदार तथ्य: मोईन खान विकेटों के पीछे अपने सजीव स्वभाव के लिए जाने जाते है | उन्होंने ही सक़लैन मुश्ताक़ की वो ऑफ-स्पिन गेंद जो दूसरी तरफ घूमती है, को ‘दूसरा’ नाम दिया था |

Summary
Review Date
Reviewed Item
Moin Khan Records | Pakistan | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: