मार्क बाउचर – दक्षिण अफ्रीका – रिकॉर्ड

Mark Boucher Records in Hindi

पूरा नाम – मार्क वर्डन बाउचर

जन्म – 3 दिसंबर, 1976, ईस्ट लंदन, केप प्रांत

प्रमुख टीमें – दक्षिण अफ्रीका, अफ्रीका इलेवन, बॉर्डर, केप कोबरास, आईसीसी वर्ल्ड इलेवन, कोलकाता नाइट राइडर्स, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, वारियर्स

भूमिका – विकेटकीपर बल्लेबाज

बल्लेबाज़ी शैली – दाएं हाथ के बल्लेबाज़

गेंदबाजी शैली – दाएं हाथ के मध्यम

क्षेत्ररक्षण की स्थिति – विकेटकीपर

टेस्ट पदार्पण (कैप 267) – 17 अक्टूबर 1997 बनाम पाकिस्तान
अंतिम टेस्ट – 3 जनवरी 2012 बनाम श्रीलंका

एकदिवसीय पदार्पण (कैप 46) – 16 जनवरी 1998 बनाम न्यूजीलैंड
अंतिम एकदिवसीय – 28 अक्टूबर 2011 बनाम ऑस्ट्रेलिया

Batting and fielding averages
Mat Runs HS Ave SR 100 50 4s 6s Ct St
Tests 147 5515 125 30.3 50.11 5 35 656 20 532 23
ODIs 295 4686 147* 28.57 84.76 1 26 356 83 403 22
T20Is 25 268 36* 17.86 97.45 0 0 22 2 18 1
First-class 212 8803 134 33.34 10 53 712 37
List A 365 6218 147* 28.65 2 35 484 31
T20s 90 1378 60* 28.12 115.41 0 4 103 39 48 16
Bowling averages
Mat Wkts BBI BBM Ave Econ SR 4w 5w 10
Tests 147 1 1/6 1/6 6 4.5 8 0 0 0
ODIs 295
T20Is 25
First-class 212 1 1/6 28 5.25 32 0 0
List A 365
T20s 90



3 दिसंबर 1976 को ईस्ट लन्दन, केप प्रांत में जन्मे मार्क वार्डन बाउचर एक मेहनती क्रिकेटर की संपूर्ण परिभाषा हैं। अन्य देशों के अपने समकक्षों के जैसे वह स्वाभाविक रूप से प्रतिभाशाली बल्लेबाज तो नहीं थे, लेकिन उन्होंने सभी सीमाओं पर विजय प्राप्त की और अंततः शीर्ष पर पहुंचने के लिए अपना रास्ता बना ही लिया। 999 अंतरराष्ट्रीय शिकारों के साथ उन्हें विकेटकीपिंग के व्यवसाय में सर्वश्रेष्ठ में से एक माना जाता है।

उन्होंने 1997 में पाकिस्तान के खिलाफ शेखुपुरा में अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की। आखिरी समय में उन्हें टीम में शामिल किया गया जब डेव रिचर्डसन घायल हो गये थे। एक युवा खिलाड़ी के रूप में उन्हें बहुत बड़ा किरदार निभाना था। उन्होंने स्टंप के पीछे अपनी चपलता और फुटवर्क के साथ एक शानदार प्रभाव डाला और शुरुआत में ही अपने कई प्रशंसक बना लिए।

क्विंटन डी कॉक- दक्षिण अफ्रीका – रिकॉर्ड

1998 के प्रारंभ में पाकिस्तान के दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर उन्होंने पैट सिमकोक्स के साथ 9 वें विकेट के साथ शानदार 185 रनों की साझेदारी की। आश्चर्यजनक बात संख्याओं के बारे में नहीं थी, लेकिन यह बात कि 186-8 पर दक्षिण अफ्रीका संघर्ष कर रहा था और बाउचर ने टीम को बचाया।

उन्होंने विकेटों के पीछे सबसे तेज़ 100 शिकार करने का रिकॉर्ड बनाया, सबसे ज्यादा परियों तक एक भी बाई रन नहीं दिया और टेस्ट में लगातार 75 उपस्थितियां दर्ज कराईं। भारत के 2004 के दौरे पर उनकी जगह थमी सोलेकिले ने ली। उन्होंने 1999 में हरारे में जिम्बाब्वे के खिलाफ 125 रन बनाते हुए टेस्ट क्रिकेट में सबसे अधिक विकेट लेने वाले रिकॉर्ड के साथ-साथ नाइट वॉचमैन के रूप में सर्वोच्च स्कोर का रिकॉर्ड भी बनाया। जेसन गिलेस्पी ने बांग्लादेश के खिलाफ दोहरा शतक बना कर यह रिकॉर्ड तोड़ा।



बाउचर एक तेज़ तर्रार बल्लेबाज़ भी थे जिन्होंने दक्षिण अफ्रीका को मार्च 2006 में ऑस्ट्रेलिया पर अपनी विशाल जीत के समापन चरणों में निर्देशित किया। दक्षिण अफ्रीका ने 434 रनों का पीछा करते हुए शानदार जीत दर्ज की थी। उसी वर्ष जिम्बाब्वे के खिलाफ उन्होंने दूसरे सबसे तेज़ शतक का रिकॉर्ड बनाया जब उन्होंने सिर्फ 68 गेंदों में 143 रन बनाये और उनका शतक सिर्फ 44 गेंद में ही बन गया।

एडम गिलक्रिस्ट – ऑस्ट्रेलिया – रिकॉर्ड

वह लगातार ग्रीम स्मिथ का सहयोग उनके डिप्टी के तौर पर करते रहे। लेकिन एकमात्र चीज़ जो उनके विशाल करियर में उन्होंने नहीं की, वह है कप्तानी।

3 विश्व कपों में प्रदर्शन, 100 से अधिक टेस्ट मैचों और 200 से ज़्यादा वनडे में खेलने के साथ बाउचर ने दक्षिण अफ्रीका की यात्रा में काफी हद तक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए टीम को सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीम बनाने में पूरा सहयोग दिया। दुर्भाग्यवश 9 जुलाई 2012 को इंग्लैंड दौरे पर अभ्यास मैच खेलते समय उन्हें गंभीर चोट लग गयी। ताहिर ने सोमरसेट के बल्लेबाज जमाल हुसैन को जब बोल्ड किया तो एक गिल्ली उनकी आँखों में जा लगी। बाउचर ने न हेलमेट पहना था और न ही चश्मा। उनकी तुरंत सर्जरी करवायी गयी और दौरे से उन्हें बाहर कर दिया गया। बाउचर, जो श्रृंखला के बाद रिटायर होने की योजना बना रहे थे, 10 जुलाई 2012 को सभी प्रकार का क्रिकेट छोड़ने के लिए मजबूर हो गये।

शुक्र है कि उनकी रेटिना को कोई नुकसान नहीं पहुँचा और डॉक्टरों का मानना ​​था कि बाउचर अपनी दृष्टि को दोबारा पा सकते हैं। दो सफल आपरेशनों के बाद डॉक्टरों ने कहा कि वे बाउचर के फिर से देख सकने को लेकर पूर्ण रूप से आशावान थे।

Summary
Review Date
Reviewed Item
Mark Boucher Records | South Africa | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: