हसन तिलकरत्ने – श्रीलंका – रिकौर्ड़

Hashan Tillakratne Records

पूरा नाम – हसन प्रसाद तिलकरत्ने

जन्म – 14 जुलाई, 1967, कोलम्बो

प्रमुख टीमें – श्रीलंका, नोडस्क्रिप्ट्स क्रिकेट क्लब

बल्लेबाजी शैली – बाएं हाथ के बल्लेबाज़

गेंदबाजी शैली – दायें-हाथ से ऑफब्रेक

क्षेत्ररक्षण स्थिति – विकेटकीपर

टेस्ट पदार्पण (कैप 45) – 16 दिसंबर 1989 बनाम ऑस्ट्रेलिया
अंतिम टेस्ट – 24 मार्च 2004 बनाम ऑस्ट्रेलिया

एकदिवसीय पदार्पण (टोपी 51) 27 नवंबर 1986 व भारत
अंतिम वनडे 7 अप्रैल 2003 व ज़िम्बाब्वे

बल्लेबाजी और क्षेत्ररक्षण का औसत														 	मॅच 	पारी	नाबाद	रन	सर्वाधिक स्कोर	औसत	गेंद खेलीं	स्ट्राइक रेट	शतक	अर्धशतक	चौके	छ्क्के	कॅच	स्टमपिंग टेस्ट	83	131	25	4545	204*	42.87			11	20	540	1	122	2 एकदिवसीय	200	168	40	3789	104	29.6	6588	57.51	2	13			89	6 प्रथम श्रेणी	252	351	82	13253	204*	49.26			37	60			275	7 लिस्ट ए	275	229	54	5197	104	29.69			2	20			115	10
Hashan-Tillakratne-Batting-and-Fielding-Records-in-Hindi
गेंदबाज़ी औसत													 	मॅच 	पारी	गेंदें	रन	विकेट	बेस्ट/पारी	बेस्ट/मॅच	औसत	रन प्रति ओवर	स्ट्राइक रेट	4 विकेट	5 विकेट	10 विकेट टेस्ट	83	10	76	25	0	-	-	-	1.97	-	0	0	0 एकदिवसीय	200	15	180	141	6	1/3	1/3	23.5	4.7	30	0	0	0 प्रथम श्रेणी	252		2726	1368	41	4/37		33.36	3.01	66.4		0	0 लिस्ट ए	275		638	402	24	4/17	4/17	16.75	3.78	26.5	2	0	0
Hashan-Tillakratne-Bowling-Records-in-Hindi

हसन तिलकरत्ने, एक बल्लेबाज जो अपार धैर्य और उत्कृष्ट मिजाज का मालिक था, श्रीलंकाई टीम के शीर्ष क्रम के प्रमुख सदस्य थे । उन्होंने प्रारंभ में एक विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में अपनी शुरुआत की, और 1992 में विशेषज्ञ बल्लेबाज बने ।

1986 में, स्कूल के दिनों में ही, तिलकरत्ने को गाले में इंग्लैंड- बी के खिलाफ श्रीलंका-बी टीम के लिए चुना गया । उन्होंने एक मैच में शतक जमाया और उसी वर्ष चयनकर्ताओं ने उन्हें भारत के खिलाफ एक दिवसीय श्रंखला केलिए चुना ।

बल्लेबाज के रूप में तिलकरत्ने काफी सुदृढ़ थे । अक्टूबर 1995 में, शारजाह में, वेस्टइंडीज के खिलाफ उन्होंने अपनी बेहतरीन पारी खेली । ब्रायन लारा की शानदार 169 रनों की पारी ने वेस्टइंडीज को 333/7 के विशाल स्कोर पर पहुंचा दिया । श्रीलंका ने संघर्ष जारी रखा और मैच एक करीबी अंत की ओर अग्रसर हुआ । तिलकरत्ने ने जिम्मेदारी पूर्वक नेतृत्व किया और शानदार 100 रन बनाए, लेकिन उनका प्रयास व्यर्थ गया और श्रीलंका 4 रन से यह मैच हार गया ।

उन्हें विश्वकप 1999 से तुरंत पहले टेस्ट और एकदिवसीय टीम से बाहर निकाल दिया गया, लेकिन घरेलू सत्र में कुछ अच्छी पारियों के बाद राष्ट्रीय टीम में वापस लौट आए । अपने करियर की शुरुआत से ही, उन्होंने टेस्ट मैचों में एकदिवसीय मैचों से बेहतर प्रदर्शन किया । नवंबर 2001 में, गाले में वेस्टइंडीज के विरुद्ध उन्होंने अपनी सर्वश्रेष्ठ टेस्ट पारी खेली । संयम के साथ एक छोर संभालते हुए उन्होंने अपना पहला दोहरा शतक जमाया । उनके नाबाद 204 रनों की मदद से श्रीलंका ने एक बड़ी बढ़त हासिल की और 10 विकेट से मैच जीत लिया ।

2002-03 में उन्हें श्रीलंकाई टीम का कप्तान चुना गया । 2004 में उनकी कप्तानी का अंत हुआ जब ऑस्ट्रेलिया ने टेस्ट श्रंखला में श्रीलंका का 3-0 से सफाया कर दिया । समय के साथ चलते हुए, तिलकरत्ने ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास की घोषणा कर दी और राजनीति से जुड़ गए । 2008 में, उन्हें मेलबर्न क्रिकेट क्लब (MCC) में माननीय आजीवन सदस्यता प्रदान की गई । उसी वर्ष मई में उन्हें एसोसिएशन ऑफ क्रिकेट अंपायर्स एंड स्कोरर्स ऑफश्रीलंका (ACUSSL) का अध्यक्ष नियुक्त किया गया ।

हाल ही में, तिलकरत्ने मैच फिक्सिंग से संबंधित बयान देने के कारण सुर्खियों में रहे । उन्होंने आरोप लगाया कि 1992 से श्रीलंकाई क्रिकेट में मैच फिक्सिंग हो रही है और वह सबूत प्रस्तुत करने के लिए तैयार हैं ।

Summary
Hashan Tillakratne Records | Sri Lanka | CricketinHindi.com
Article Name
Hashan Tillakratne Records | Sri Lanka | CricketinHindi.com
Publisher Name
CricketinHindi.com
Publisher Logo

Leave a Response

share on: