सुरंगा लकमल – श्रीलंका – रिकॉर्ड

Suranga Lakmal Records in Hindi

पूरा नाम – रानीसिंह अरछछि सुरंगा लकमल

जन्म – 10 मार्च 1987, मतारा

प्रमुख टीमें – श्रीलंका, बसनहिरा साउथ, मटार स्पोर्ट्स क्लब, श्रीलंका ए, तमिल यूनियन क्रिकेट एंड एथलेटिक क्लब

भूमिका – गेंदबाज

बल्लेबाज़ी शैली – दाएं हाथ के बल्लेबाज़

गेंदबाजी शैली – दाएं हाथ के तेज-मध्यम

टेस्ट पदार्पण (कैप 114) – 23 नवंबर 2010 बनाम वेस्टइंडीज

एकदिवसीय पदार्पण (कैप 140) – 18 दिसंबर 2009 बनाम भारत

टी 20 पदार्पण (कैप 37) – 25 जून 2011 बनाम इंग्लैंड

Batting and fielding averages
Mat Runs HS Ave SR 100 50 4s 6s Ct
Tests 39 440 42 10.23 47.61 0 0 63 1 9
ODIs 67 141 26 7.83 54.23 0 0 10 1 13
T20Is 9 2 1* 1 50 0 0 0 0 3
First-class 94 890 58* 10.22 52.44 0 1 109 12 32
List A 137 287 38* 8.2 60.04 0 0 26 3 32
T20s 40 36 10* 6 75 0 0 3 1 11
Bowling averages
Mat Wkts BBI BBM Ave Econ SR 4w 5w 10
Tests 39 88 5/63 6/105 44.82 3.23 83 2 1 0
ODIs 67 90 4/30 4/30 30.72 5.43 33.8 2 0 0
T20Is 9 7 2/26 2/26 39 9.52 24.5 0 0 0
First-class 94 246 6/68 9/134 34.17 3.52 58.1 10 5 0
List A 137 201 5/31 5/31 27.25 5.31 30.7 3 3 0
T20s 40 45 5/34 5/34 23.06 7.91 17.4 0 1 0

मध्यम तेज गति के गेंदबाज सुरंगा लकमल ने 2007-08 में तमिल यूनियन क्रिकेट और एथलेटिक क्लब के लिए अपने प्रथम श्रेणी करियर की शुरुआत की थी। एक उल्लेखनीय पहले सीजन के बाद उन्हें दक्षिण अफ्रीका के दौरे के लिए श्रीलंका ‘ए’ टीम में चुना लिया गया। श्रीलंका ‘ए’ टीम के कोच चंदिका हथुरुसिंघे ने उस वक़्त कहा था कि कम विकेट लेने के बावजूद लकमल ने अपनी गेंदबाज़ी से सभी को प्रभावित किया। उस समय वह केवल 21 साल के ही थे और उनके कोच ने यह महसूस कर लिया था कि वह एक परिपक्व क्रिकेटर हैं, जो कि चीजों को जल्द ही भाँप जाते हैं। उन्होंने लकमल के सुनहरे भविष्य के लिए रास्ता बनाना शुरू कर दिया। उनके कोच की सिफारिश ने उन्हें 2009 के शुरुआत में पाकिस्तान के दौरे पर जगह दिलाई और लाहौर आतंकवादी हमले के दौरान उन्हें मामूली चोटें भी लगीं। जुलाई-अगस्त 2009 में उन्हें पाकिस्तान के खिलाफ श्रीलंका की घरेलू श्रृंखला के दौरान टेस्ट टीम में भी शामिल किया गया था, लेकिन दिलहारा फर्नांडो के घायल होने के बाद उन्होंने भारत के खिलाफ दूसरे वनडे में अपना पदार्पण किया।

दिनेश चांदीमल – श्रीलंका – रिकॉर्ड

तब लकमल एक युवा तेज गेंदबाज थे और कहीं ना कहीं उनमें वो बात नज़र नहीं आ रही थी। चोट की समस्याओं और अस्थिरता से ग्रस्त लकमल टीम में आते जाते रहे। चमिंडा वास के सतर्क पर्यवेक्षण में अब वह श्रीलंकाई गेंदबाजी आक्रमण का एक प्रमुख घटक बनने में सफल साबित हो रहे हैं, विशेष रूप से खेल के सबसे लंबे प्रारूप में। लसिथ मलिंगा के जैसे ही यॉर्कर फेंकने की क्षमता से लैस, अब लक्षमल एक पूर्ण गेंदबाज नज़र आते हैं। महेला जयवर्धने ने उन्हें और शमिंदा एरंगा को श्रीलंका के लिए भविष्य के मैच-विजेताओं के रूप में चिह्नित किया है।

अनुशासन के साथ गेंदबाजी करने की दिशा में उनके समर्पण भरे प्रयास और गेंद को स्विंग कराने की उनकी अभूतपूर्व क्षमता ने जनवरी 2014 में दुबई में पाकिस्तान पर श्रीलंका की नौ विकेट से जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने बांग्लादेश के खिलाफ अगले टेस्ट मैच में अपना अच्छा प्रदर्शन जारी रखा। लकमल के उदय से निश्चित तौर पर रंगना हेराथ और मलिंगा दोनों पर दबाव कुछ कम हो गया है।

रंगना हेराथ – श्रीलंका – रिकॉर्ड

अगस्त 2014 में टखने की चोट के कारण लकमल पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज में भाग नहीं ले पाये थे। वह दिसंबर में इंग्लैंड के खिलाफ होनेवाले एकदिवसीय मैचों के लिए टीम में शामिल हुए और न्यूज़ीलैंड दौरे के लिए टेस्ट और वनडे टीमों का भी हिस्सा बने। कभी-कभार चोट लगने के बावजूद 2015 की घरेलू श्रृंखला के दौरान उनहोंने अपने प्रदर्शन में स्थिरता हासिल कर ली और सभी प्रारूपों में बेहतरीन प्रदर्शन किया।

इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हुई श्रृंखलाओं में भी उन्होंने गेंद के साथ बेहतरीन प्रदर्शन करना जारी रखा। पोर्ट एलिजाबेथ में पांच विकेट लेकर वह दक्षिण अफ्रीका की धरती पर एक पारी में पांच विकेट लेने वाले केवल दूसरे श्रीलंकाई बन गए। हालांकि उनके इस प्रयास का असर नहीं दिख पाया क्योंकि उनके साथियों ने काफी निराशाजनक प्रदर्शन किया। बढ़ती उम्र और साथ ही बढ़ते अनुभव के साथ अब वह गेंदबाज़ी आक्रमण के अगुवा बनने की जिम्मेदारी लेने को तैयार दिखाई देते हैं।

उपुल थरंगा – श्रीलंका – रिकॉर्ड

लकमल ने कई दिलचस्प रिकॉर्ड भी बनाये हैं। जब उन्होंने 2009 में अपना पहला मैच खेला, तो वह श्रीलंका का प्रतिनिधित्व करने वाले हंबंटोटा जिले के पहले खिलाड़ी बने। वह कपिल देव और इमरान खान के साथ उन सौभाग्यशाली खिलाड़ियों के समूह में भी शामिल हो गए, जब उन्हें एक नये मैदान- पलेक्कल इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम, पर खेले जा रहे पहले मैच की पहली गेंद पर विकेट हासिल हुआ।

Summary
Review Date
Reviewed Item
Suranga Lakmal Records | Sri Lanka | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: