ड्वेन ब्रावो – वेस्टइंडीज – रिकॉर्ड

Dwayne-Bravo-Records-in-Hindi

पूरा नाम – ड्वेन जॉन ब्रावो

जन्म – 7 अक्टूबर, 1983, सांताक्रूज, त्रिनिदाद

प्रमुख टीमें – वेस्टइंडीज, चेन्नई सुपर किंग्स, एसेक्स, गुजरात लायंस, केंट, लाहौर, कंधारर्स, मेलबर्न रेनेगेड्स, मुंबई इंडियंस, सिडनी सिक्सर्स, त्रिनबागो नाइट राइडर्स, त्रिनिडाड एंड टोबैगो, त्रिनिदाद एंड टोबेगो रेड स्टील, वेस्टइंडीज के वेस्टइंडीज के कुलपति, ग्यारहवीं विश्वविद्यालय, विक्टोरिया

उपनाम – जॉनी

भूमिका – ऑलराउंडर

बल्लेबाज़ी शैली – दाएं हाथ के बल्लेबाज़

गेंदबाजी शैली – दाएं हाथ से मध्यम-तेज़

टेस्ट पदार्पण (कैप 256) – 22 जुलाई 2004 बनाम इंग्लैंड
अंतिम टेस्ट – 1 दिसंबर 2010 बनाम श्रीलंका

एकदिवसीय पदार्पण (कैप 121) – 18 अप्रैल 2004 बनाम इंग्लैंड
अंतिम एकदिवसीय – 17 अक्टूबर 2014 बनाम भारत

टी 20 पदार्पण (कैप 2) – 16 फरवरी 2006 बनाम न्यूजीलैंड
अंतिम टी 20 – 3 अप्रैल 2016 बनाम इंग्लैंड

बल्लेबाजी और क्षेत्ररक्षण का औसत														 	मॅच 	पारी	नाबाद	रन	सर्वाधिक स्कोर	औसत	गेंद खेलीं	स्ट्राइक रेट	शतक	अर्धशतक	चौके	छ्क्के	कॅच	स्टमपिंग टेस्ट	40	71	1	2200	113	31.42	4527	48.59	3	13	269	21	41	0 एकदिवसीय	164	141	24	2968	112*	25.36	3606	82.3	2	10	240	58	73	0 टी२०	66	59	12	1142	66*	24.29	981	116.41	0	4	67	49	35	0 प्रथम श्रेणी	100	180	7	5302	197	30.64			8	30			89	0 लिस्ट ए	221	193	30	3950	112*	24.23			2	13			99	0 ट्वेंटी२०	344	289	79	5276	70*	25.12	4224	124.9	0	19	351	235	175	0
Dwayne-Bravo-Batting-and-Fielding-records-in-Hindi
गेंदबाज़ी औसत													 	मॅच 	पारी	गेंदें	रन	विकेट	बेस्ट/पारी	बेस्ट/मॅच	औसत	रन प्रति ओवर	स्ट्राइक रेट	4 विकेट	5 विकेट	10 विकेट टेस्ट	40	61	6466	3426	86	6/55	6/84	39.83	3.17	75.1	6	2	0 एकदिवसीय	164	150	6511	5874	199	6/43	6/43	29.51	5.41	32.7	6	1	0 टी२०	66	56	1042	1470	52	4/28	4/28	28.26	8.46	20	2	0	0 प्रथम श्रेणी	100		11025	5918	177	6/11		33.43	3.22	62.2	9	7	0 लिस्ट ए	221		8421	7321	264	6/43	6/43	27.73	5.21	31.8	8	2	0 ट्वेंटी२०	344	327	6535	8783	367	5/23	5/23	23.93	8.06	17.8	8	1	0
Dwayne-Bravo-Bowling-records-in-Hindi

विशिष्ट कैरेबियाई क्रिकेटर ड्वेन ब्रावो, मैदान पर हमेशा ऊर्जा और जुनून से भरे होते हैं। उन्होंने जुलाई 2004 में लॉर्ड्स में अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की और तुरंत अपनी स्विंग गेंदबाजी से तीन विकेट झटककर सबकी नजरों में आ गए। उन्होंने ओल्ड ट्रॉफ़र्ड में बेहतरीन प्रदर्शन के साथ टेस्ट सीरीज़ की समाप्ति की, जिसमें उन्होंने 55 रनों पर 6 विकेट लिए- एक टेस्ट पारी में उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन, और इस मैच में पहले उन्होंने 77 रन भी बनाए थे। श्रृंखला समाप्त होने के बाद यह साबित हो गया था कि टीम को एक उपयुक्त ऑलराउंड खिलाड़ी मिल गया था जिसकी वेस्टइंडीज को सख्त जरूरत थी।

ब्रावो परंपरागत वेस्ट इंडियन शैली के साथ बल्लेबाजी करते हैं और मैदान के चारों और सुंदर शॉट्स लगाते हैं। वह पैरों पर आती गेंदों को शानदार तरीके के साथ क्लिप करते हैं और यह वीवीएस लक्ष्मण को भी गौरवान्वित कर देगा। वह कलाइयों का अच्छा इस्तेमाल करते हैं और इससे उन्हें स्पिनरों के खिलाफ गेंद को सही तरीके से खेलने के लिए पर्याप्त समय मिलता है। जब वह स्पिनरों के खिलाफ गेंद की पिच तक जाने के लिए अपने पैरों का उपयोग करते हैं, तो यह देखने लायक होता है। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अप्रैल 2004-05 में एंटिगुआ में 107 रन बनाये और इस तरह अपना पहला टेस्ट शतक बनाया। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होबार्ट में उन्होंने तब शानदार 113 रन बनाये जब उनकी टीम संकट में थी। इस तरह उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों के सामने अपनी प्राकृतिक प्रतिभा का प्रमाण दे दिया।

ब्रावो एक घातक धीमी यॉर्कर गेंद फेंकने में माहिर हैं, जिसने कई बल्लेबाज़ों को चकमा दिया है। शुरू में बल्लेबाज़ को लगता है कि यह फुल टॉस है, लेकिन आखिरी क्षण में गेंद नीची रह जाती है और बल्लेबाज़ के पसीने छूट जाते हैं। उन्होंने इस डिलीवरी के साथ कई विकेट लिए हैं और अपने ट्रेडमार्क ‘हेलीकॉप्टर सेलिब्रेशन’ के साथ जश्न भी मनाते देखे जाते हैं, जहां वह सभी स्टेडियम के आसपास खुले हाथों के साथ चक्कर लगाते हैं। ब्रावो की घातक गेंदबाज़ी की वजह से वेस्टइंडीज डेथ ओवरों में उन्हें ही याद करता है। वह एक असाधारण क्षेत्ररक्षक भी हैं, जो किसी भी स्थिति में सहज रहते हैं और उन्होंने आउटफील्ड में कई शानदार कैच भी लिए हैं।

चोटों ने ब्रावो को उनके करियर में अक्सर परेशान किया है और एक टखने की चोट ने 2008 में उन्हें आठ महीने के लिए टीम से बाहर कर दिया था। उन्हें वेस्टइंडीज़ के चयनकर्ताओं द्वारा टेस्ट क्रिकेट की कठोरता को सह पाने के लिए पर्याप्त नहीं समझा गया लेकिन 2009 की पहली छमाही में इंग्लैंड के वनडे दौरे के लिए उन्हें चुन लिया गया। ब्रावो मुंबई इंडियंस के द्वारा 300,000 अमरीकी डालर में ख़रीदे गए थे और उन्होंने टेस्ट सीरीज के समकक्ष ही चल रहे आईपीएल में खेलना जारी रखा। कुछ लोगों ने उनकी प्रतिबद्धता पर सवाल उठाया, लेकिन जैसा कि उन्होंने अक्सर दोहराया है, वह फिट थे और खेलने के लिए तैयार थे, लेकिन बोर्ड ने उन्हें चयनित नहीं किया।

ब्रावो उन वरिष्ठ खिलाड़ियों में से एक थे जो 2009 के अंत में डब्ल्यूआईसीबी के खिलाफ हड़ताल पर गए थे। लेकिन जब हड़ताल समाप्त होने पर वह वापस आये तो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड में एक शानदार टेस्ट शतक बनाया। वह भारत में उद्घाटन चैंपियंस लीग टी -20 के दौरान अग्रणी विकेट लेने वाले गेंदबाज़ थे।

अफसोस की बात है कि ब्रावो एक अन्य घुटने की चोट के कारण 2011 विश्व कप से बाहर हो गए, जब वह गेंदबाजी करने के दौरान विकेट पर फिसल गए थे। उन्हें चार हफ्तों तक विश्राम दिया गया और टूर्नामेंट में वह आगे भाग नहीं ले सके। हालांकि, 2011 की नीलामी के दौरान जब चेन्नई सुपर किंग्स ने उन्हें ख़रीदा, तो यह उनके भाग्य के एक परिवर्तन के रूप में साबित हुआ। पिछले कुछ वर्षों में वह उनकी ओर से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों में से एक बन गए हैं। 2012 में उन्होंने 140 की स्ट्राइक रेट और 46 की औसत से 461 रन बनाये। वह 19 विकेटों के साथ टीम के अग्रणी विकेट लेने वाले गेंदबाज़ भी थे। 2013 के संस्करण में उन्होंने 15.0 की औसत से 32 विकेट लिए और पर्पल कैप जीतने के साथ एल्बी मोर्कल को पीछे छोड़ विख्यात सुपर किंग के अग्रणी विकेट लेने वाले गेंदबाज़ भी बन गए।

चैंपियंस ट्रॉफी 2013 से पहले, ब्रावो को ओडीआई कप्तान की जिम्मेदारी भी सौंपी गई थी। जिम्बाब्वे के खिलाफ अपनी पहली सीरीज़ में उन्होंने द्विपक्षीय सीरीज़ में एक कप्तान के रूप में एक वनडे मैच में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आंकड़े दर्ज करने, द्विपक्षीय सीरीज़ में कप्तान के रूप में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी औसत और सबसे बेहतरीन गेंदबाजी स्ट्राइक रेट दर्ज करने जैसे कई रिकॉर्ड हासिल किए।

न्यूजीलैंड में भी यह ऑलराउंडर शानदार फॉर्म में था, जब उन्होंने चार मैचों में 217 रन बनाये और श्रृंखला 2-2 से बराबर करवाई। उनके बहुआयामी कौशल और डेथ ओवरों में गेंदबाज़ी करने की क्षमता ने चेन्नई फ्रैंचाइजी को प्रेरित किया कि वह भारतीय टी -20 लीग के आने वाले सत्रों के लिए उन्हें टीम में बरक़रार रखें।

Summary
Review Date
Reviewed Item
Dwayne Bravo Records | West Indies | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: