गॉर्डन ग्रीनीज – वेस्टइंडीज़ – रिकॉर्ड

गॉर्डन ग्रीनीज - वेस्टइंडीज़ - रिकॉर्ड

पूरा नाम – कथबर्ट गॉर्डन ग्रीनीज

जन्म – 1 मई, 1951, ब्लैक बेस, सेंट पीटर, बारबाडोस

प्रमुख टीमें – स्कॉटलैंड, वेस्ट इंडीज, बारबाडोस, हैम्पशायर

बल्लेबाजी शैली – दाएं हाथ के बल्लेबाज़

गेंदबाजी शैली – दाएं हाथ के मध्यम

शिक्षा – सटन माध्यमिक विद्यालय, पढ़ना, इंग्लैंड

टेस्ट पदार्पण (कैप 150) – 22 नवंबर 1974 बनाम भारत
अंतिम टेस्ट – 27 अप्रैल 1991 बनाम ऑस्ट्रेलिया

एकदिवसीय पदार्पण (कैप 16) – 11 जून 1975 बनाम पाकिस्तान
अंतिम एकदिवसीय मैच – 25 मई 1992 बनाम इंग्लैंड

बल्लेबाजी और क्षेत्ररक्षण का औसत
मॅच रन सर्वाधिक स्कोर औसत स्ट्राइक रेट शतक अर्धशतक छ्क्के कॅच
टेस्ट 108 7558 226 44.72 19 34 67 96
एकदिवसीय 128 5134 133* 45.03 64.92 11 31 45
प्रथम श्रेणी 523 37354 273* 45.88 92 183 516
लिस्ट ए 440 16349 186* 40.56 33 94 171
गेंदबाज़ी औसत
मॅच विकेट बेस्ट/पारी बेस्ट/मॅच औसत रन प्रति ओवर स्ट्राइक रेट 4 विकेट 5 विकेट
टेस्ट 108 0 0.92 0 0
एकदिवसीय 128 1 1/21 1/21 45 4.5 60 0 0
प्रथम श्रेणी 523 18 5/49 26.61 3 53 1
लिस्ट ए 440 2 1/21 1/21 105.5 4.42 143 0 0



1 मई 1951 को जन्मे गॉर्डन ग्रीनीज़ अपनी बल्लेबाज़ी के लिए मशहूर बल्लेबाज़ों की जोड़ी ग्रीनीज़-हेन्स का हिस्सा थे। एक जोड़ी के तौर पर खेलकर कुल 6482 रन बनाने के कारण इन दोनों बल्लेबाज़ों की यह जोड़ी काफी लंबे समय तक टेस्ट क्रिकेट में सबसे सफल बल्लेबाज़ों की जोड़ी के तौर पर जानी जाती थी। बीस वर्षों तक टिका रहने के बाद उनका यह कीर्तिमान आखिरकार राहुल द्रविड़ और सचिन तेंदुलकर की जोड़ी के द्वारा पीछे छोड़ा गया था।

डेज़्मंड हेन्स – वेस्ट इंडीज़ – रिकॉर्ड

एक विस्फोटक सलामी बल्लेबाज़ ग्रीनीज़ ने वेस्टइंडीज़ की टीम के लिए अपना पदार्पण वर्ष 1974 में बैंगलोर के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में भारत के विरुद्ध खेले गए टेस्ट मुकाबले में किया था। वह दिन ऐतिहासिक था क्योंकि वह मुकाबला एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला गया पहला मुकाबला होने साथ ही विरोधी टीमों को सबसे अधिक डराने वाले वेस्टइंडीज़ की टीम के खिलाड़ियों में से दो महान खिलाड़ियों ग्रीनीज़ और सर विवियन रिचर्डस का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने का मुकाबला भी था। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शानदार पदार्पण करते हुए ग्रीनीज़ ने 93 और 107 रनों की पारियां खेलकर भारतीय टीम को 267 रनों के भारी अंतर से हराने में वेस्टइंडीज़ की टीम की सहायता की। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में प्रभावशाली पदार्पण करने के बाद ग्रीनीज़ ने एक के बाद एक कई छोटी पारियां खेली और सलामी बल्लेबाज़ के तौर पर वेस्टइंडीज़ की टीम में अपनी जगह पक्की करने के लिए उन्हें वर्ष 1976 के इंग्लैंड दौरे की प्रतीक्षा करनी पड़ी।



5 टेस्ट मुकाबलों की श्रृंखला में वेस्टइंडीज़ की टीम को 3-0 से विजय प्राप्त करने में सहायता करते हुए ग्रीनीज़ ने 5 टेस्ट मुकाबलों की उस श्रृंखला में प्रभावशाली खेल का प्रदर्शन करते हुए 591 रन बनाए थे, जिनमें एक के बाद एक बनाए गए 3 शतक भी शामिल थे। कुछ उपयोगी पारियां खेलने के बावज़ूद, ग्रीनीज़ ने बल्लेबाज़ी में स्वयं को मिलने वाली अच्छी शुरुआतों को शतकीय पारियों में परिवर्तित करने में परेशानी महसूस की जिसका साक्ष्य इस तथ्य से मिलता है कि वह इंग्लैंड दौरे के बाद से लेकर वर्ष 1983 में भारतीय टीम के विरुद्ध वेस्टइंडीज़ में ही खेली गई घरेलू श्रृंखला के बीच के समय में केवल एक ही शतक बना पाए थे।

क्लाइव लॉयड – वेस्टइंडीज़ – रिकॉर्ड

प्राकृतिक रूप से एक आक्रामक बल्लेबाज़ ग्रीनीज़ की सबसे बेहतरीन पारी वर्ष 1984 में लॉर्डस के मैदान में इंग्लैंड के विरुद्ध खेले गए टेस्ट मुकाबले में वेस्टइंडीज़ की टीम को आसान जीत दिलाने के लिए खेली गई 214 रनों की शानदार पारी थी। यदि वह पारी ग्रीनीज़ की प्रवाहपूर्ण बल्लेबाज़ी के कारण विशेष मानी जाती थी, तो ग्रीनीज़ ने उसी श्रृंखला में 223 रनों की पारी और अपने करियर की अंतिम टेस्ट श्रृंखला में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध खेले गए टेस्ट मुकाबले में अपने पूरे करियर का सर्वोच्च स्कोर बनाते हुए 226 रनों की पारी खेलकर यह दिखा दिया कि वह अनुशासनपूर्ण ढंग से बल्लेबाज़ी करने में भी माहिर थे। ग्रीनीज़ ने वर्ष 1984 में इंग्लैंड के ‘ब्लैकवॉश’ दौरे के दौरान भी एक दोहरा शतक बनाया था, जब मेहमान टीम वेस्टइंडीज़ ने मेज़बान टीम इंग्लैंड को 5-0 के बड़े अंतर से हराया था। टेस्ट क्रिकेट में अपने शानदार करियर में 108 टेस्ट मुकाबले खेलने वाले ग्रीनीज़ ने 44.72 की शानदार औसत से 7558 रन बनाए थे।

जोल गार्नर – वेस्टइंडीज़ – रिकॉर्ड

यदि टेस्ट क्रिकेट में उनका करियर उत्कृष्ट रहा था, तो क्रिकेट के छोटे प्रारूप अर्थात् एकदिवसीय क्रिकेट में भी उनके करियर के आंकड़े बुरे नहीं थे। वर्ष 1975 के विश्वकप में अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय क्रिकेट में अपने करियर की धीमी शुरुआत करने के बाद ग्रीनीज़ ने वर्ष 1979 के विश्वकप में भारत के विरुद्ध खेले गए मुकाबले में 106 रनों की धैर्यपूर्ण पारी खेलकर एकदिवसीय क्रिकेट में अपने करियर का पहला शतक बनाया। उनके एकदिवसीय करियर का सबसे बुरा क्षण शायद वर्ष 1983 के विश्वकप के निर्णायक मुकाबले में रहा था जब वह उस मुकाबले के पहले ही ओवर में आउट हो गए थे, जिससे विश्वकप में भारतीय टीम की आश्चर्यजनक विजय का रास्ता साफ हो गया और वेस्टइंडीज़ की टीम से विश्वकप में लगातार तीन खिताब जीतने का अवसर छिन गया। एकदिवसीय क्रिकेट में अपने शानदार करियर के दौरान ग्रीनीज़ ने 45 से ऊपर की औसत से 5134 रन बनाए थे।

सर विव रिचर्ड्स – वेस्टइंडीज़ – रिकॉर्ड

कुल मिलाकर ग्रीनीज़ ने क्रिकेट के विभिन्न प्रारूपों में 92 शतकों के समेत 37000 से भी अधिक रन बनाए। ग्रीनीज़ ने टेस्ट मुकाबलों में खेलने वाली वेस्टइंडीज़ की टीम का चयन करने वाले चयनकर्ताओं की समिति में भी काम किया। उनके बेटे कार्ल ग्रीनीज़ ने इंग्लैंड में घरेलू क्रिकेट खेला है। ग्रीनीज़ ने बांग्लादेश की क्रिकेट टीम के प्रशिक्षक (कोच) के पद पर भी काम किया है। प्रशिक्षक (कोच) के तौर पर अपने कार्यकाल के दौरान, उन्होंने बांग्लादेश की क्रिकेट टीम को पहली बार विश्वकप में खेलने का अवसर दिलाते हुए वर्ष 1997 की आईसीसी ट्रॉफी जीतने में सहायता की, जिससे बांग्लादेश की क्रिकेट टीम के लिए वर्ष 1999 के विश्वकप में खेलने का रास्ता साफ हो गया।



ग्रीनीज़, जो मानते हैं कि टी-20 मुकाबले क्रिकेट के खेल के वास्तविक विकास का एक अंग हैं, ने कैरिबियन प्रीमियर लीग प्रतियोगिता के पहले संस्करण में त्रिनिदाद एंड टोबैगो रैड स्टील की टीम को प्रशिक्षण दिया था।

मैल्कम मार्शल – वेस्टइंडीज़ – रिकॉर्ड

रोचक तथ्य: ग्रीनीज़ ने वर्ष 1984 में लॉर्डस के मैदान में इंग्लैंड के विरुद्ध खेले गए टेस्ट मुकाबले में 214 रनों की शानदार पारी खेलकर मुकाबले के अंतिम दिन 342 रनों के लक्ष्य को प्राप्त करने में वेस्टइंडीज़ की टीम की सहायता की। यह लॉर्डस के मैदान पर चौथी पारी में पीछा करके प्राप्त किया गया सबसे बड़ा लक्ष्य है।

शानदार उपलब्धियां:

वर्ष 1977 विस्डैन क्रिकेटर ऑफ द ईयर
वर्ष 1978 वॉल्टर लॉरेंस ट्रॉफी के विजेता
वर्ष 1986 हैम्पशायर क्रिकेट सोसाइटी प्लेयर ऑफ द ईयर

Summary
Review Date
Reviewed Item
Gordon Greenidge Records | West Indies | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: