युवराज सिंह – भारत – रिकॉर्ड

Yuvraj Singh Records

पूरा नाम – युवराज सिंह

जन्म – दिसंबर 12, 1981, चंडीगढ़

प्रमुख टीमें – भारत, एशिया एकादश, दिल्ली डेयरडेविल्स, भारत ‘ए’, किंग्स इलेवन पंजाब, पुणे वॉरियर्स, पंजाब, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, हैदराबाद, यॉर्कशायर

भूमिका – मध्यक्रम के बल्लेबाज

बल्लेबाजी की शैली – बाएं हाथ के बल्लेबाज़

गेंदबाजी की शैली – धीमी गति से बाएं हाथ के स्पिनर

Batting and fielding averages
Mat Runs HS Ave SR 100 50 4s 6s Ct
Tests 40 1900 169 33.92 57.97 3 11 260 22 31
ODIs 304 8701 150 36.55 87.67 14 52 908 155 94
T20Is 58 1177 77* 28.02 136.38 0 8 77 74 12
First-class 134 8866 260 45.23 26 36 117
List A 411 12227 172 37.97 19 76 129
T20s 206 4413 83 26.26 132 0 25 347 244 48
Bowling averages
Mat Wkts BBI BBM Ave Econ SR 4w 5w 10
Tests 40 9 2/9 2/20 60.77 3.52 103.4 0 0 0
ODIs 304 111 5/31 5/31 38.68 5.1 45.4 2 1 0
T20Is 58 28 3/17 3/17 17.82 7.06 15.1 0 0 0
First-class 134 39 5/94 49.33 3.48 84.9 1 0
List A 411 164 5/31 5/31 35.92 5.07 42.4 2 1 0
T20s 206 80 4/29 4/29 23.1 7.29 18.9 2 0 0

कैरियर के आँकड़े –

टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण – भारत बनाम न्यूजीलैंड मोहाली में अक्टूबर 16-20, 2003
अंतिम टेस्ट – भारत बनाम इंग्लैंड कोलकाता में, दिसंबर 5-9, 2012

वनडे कैरियर की शुरुआत – ऑस्ट्रेलिया बनाम भारत नैरोबी में , 3 अक्टूबर, 2000

टी 20 कैरियर की शुरुआत – भारत बनाम स्कॉटलैंड डरबन में, 13 सेप, 2007

प्रथम श्रेणी क्रिकेट में पदार्पण – 1996-1997



जब युवराज सिंह के साथ सब कुछ ठीक चल रहा होता है तो वो गेंद को इतना साफ और लंबा मारते हैं की शायद ही कोई और मार पाए. और जब वक़्त युवराज का साथ नही देता तो वो क्रीज़ पर इतने अजीब लगते हैं की गेंद को मारने के काबिल भी नही दिखते. अक्सर एकदिवसीय क्रिकेट में युवराज ख़ासे संतुलित और आक्रामक रहते हैं लेकिन टेस्ट क्रिकेट में युवराज का सफ़र संघर्ष भरा रहा है. 2011 में कॅन्सर से लड़कर युवराज ने टीम में प्रेरित करने वाली वापसी की लेकिन इसके बाद उनके प्रदर्शन में गिरावट आ गई. युवराज ने जब अपने करियर का आगाज़ किया तब उनकी फील्डिंग और बायें हाथ से स्पिन गेंदबाज़ी की अतिरिक्त विकल्पों ने उन्हें एकदिवसीय क्रिकेट का बड़ा खिलाड़ी बॅया दिया, और टीम में बदलाओ के उस दौर में युवराज एक उभरते सितारे बने.

युवराज की पिता योगराज सिंह, जिन्होने भारत के लिए एक टेस्ट मैच खेला, बचपन से उनके प्रति काफ़ी सख्ताई बरपते थे. क्रिकेट के प्रति वो युवराज को लेकर इतने गंभीर थे की युवराज का जीटा स्केटिंग मेडल उन्होने छीन कर एक बार गाड़ी से बाहर फेंक दिया था. और उन्हें चेतावनी दी थी की अब से वो सिर्फ़ क्रिकेट खेलेंगे. इसके बाद युवराज ने पालन किया और क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया. युवराज की ज़िंदगी में सबसे बड़ा बदलाव तब आया जब 15 साल की उम्र में वे अपनी किट टांगे लोकल ट्रेनों में सफ़र करते और अपने घर और एक आराम भारी ज़िंदगी से दूर हो गए. 18 साल की उम्र में ही युवराज भारत के लिए अपना पहला मैच खेल रहे थे, और उसमे ऑस्ट्रेलिया जैसी ख़तरनाक गेंदबाज़ी के खिलाफ उन्होने अविश्वसनीय 84 रन की पारी खेली.

युवराज सिंह से जुड़े 30 तथ्य

जड़ ही युवराज भारतीय मध्य क्रम की जान बन गए, और वहले द्रविड़ और फिर धोनी के साथ मिलकर कई शानदार साझेदारियाँ की. द्रविड़ और धोनी, दोनो एकदिवसीय के महान बल्लेबाज़ों ने युवराज को अपनी सफलता के श्रेय दिया क्योंकि युवराज की जादुई बल्लेबाज़ी कभी उन पर दबाव नही पड़ने देती थी. युवराज की सफता का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है की जब 2010 में वो भारतीय टीम से बाहर हुए थे तो ये उनके करियर में पहली बार था. युवराज के एकदिवसीय करियर में बहुत से सुनहरे पल हैं, और सबसे यादगार है 2011 विश्व कप में उनका मॅन ओफ द टूर्नामेंट बनते हुए भारत की एतिहसिक उपलब्धि में सबसे बड़ा योगदान देना. दूसरी सबसे बड़ी उपलब्धि 2007 में भारत को टी२० विश्व कप जितनने में अहम भूमिका निभाना थी और एक मैच में तो उन्होने नग्लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड के एक ओवर में 6 छक्के जड़ के विश्व कीर्तिमान बनाया था.



हालाँकि युवराज की कमियाँ टेस्ट क्रिकेट में जल्दी उजागर हो गयी थी जब उन्हें अव्वल स्तर की स्विंग और स्पिन गेंदबाज़ी के समक्ष संघर्ष करते देखा गया. टेस्ट क्रिकेट में युवराज का प्रदर्शन कुछ ख़ास उल्लेखनीय नही है और केवल त३ पारियाँ याद आती हैं – लाहोर की तेज़ पिच पर उनका शानदार शतक, एक बार जब सौरव गांगुली के साथ मिलकर उन्होने 169 की पारी खेलते हुए भारत को संकट की स्थिति से उबारा था और इंग्लैंड के खिलाफ एतिहसिक जीत में 387 रन का पीछा करते हुए बनाए नाबाद 85 रन.

सुरेश रैना – भारत – रिकॉर्ड

2011 में विश्व कप जीतना उनके करियर की सबसे बड़ी उपलब्धि थी लेकिन इसके कुछ ही बाद उन्हें कॅन्सर का सामना करना पड़ा और ढाई महीने चली दर्द भारी थेयरीपी के बाद युवराज ने कॅन्सर पर भी विजय प्राप्त की. उन्होने अप्रैल 2012 में कीमोथ्रेपि के बाद भारत वापसी की और श्रीलंका में अगस्त 2012 के विश्व टी२० दल के लिए चुने गए.

जनवरी 2013 में खर्ब फॉर्म और फिटनेस के चलते युवराज टीम से बाहर हो गए. लेकिन इसके बाद एक पतले और ज़्यादा फिट दिखने वाले युवराज ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी२० मुक़ाबले में मात्र 35 गेंद में 77 रन की आतिशी पारी खेलकर टीम में वापसी की. लेकिन प्रदर्शन में निरंतरता की कामिके चलते उन्हे 2013 दिसंबर के दक्षिण आफ्रिका दौरे के बाद एकदिवसीय टीम में फिर जगह नही मिली.

भले ही युवराज का फॉर्म गिरा हो लेकिन आईपीएल में चयन के मामले में युवराज हमेशा युवराज टीमों की पसंद रहे. 2014 के आईपीएल में रॉयल चॅलेनजर्स बंगलोर ने उन्हे 14 करोड़ में खरीदा, 2015 में दिल्ली ने 16 करोड़ खर्चे, और 2016 में सनराइज़र्स हैदराबाद ने उन्हे 7 करोड़ में लिया. युवराज के नाम का जलवा बरकरार रहा लेकिन सबसे निराशाजनक पारी उन्होने टी२० विश्व कप के फाइनल में खेली जब श्रीलंका से भारत हारा और युवराज ने 21 गेंदों में मात्र 11 रन बनाए.

जनवरी 2016 में ऑस्ट्रेलिया में टी२० के लिए युवराज की टीम में फिर से एक बार वापसी हुई लेकिन चोटिल होने के कारण वे विश्व टी२० में पूरा टूर्नामेंट नही खेल पाए. उन्होने 100 के स्ट्राइक रेट और 13 की औसत से मात्र 52 रन बनाए और 35 साल की उम्र में उनकी टीम में वापसी काफ़ी मुश्किल लगने लगी.

महेंद्र सिंह धोनी – भारत – रिकॉर्ड



2016-17 के रणजी सीज़न में युवराज ने 84 की औसत से 672 रन बनाते हुए टीम में दमदार वापसी की और चयनकर्ताओं ने उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ एकदिवसीय सीरीज़ के लिए चुना. सीरीज़ के दूसरे ही मैच में युवराज ने हरफ़नमौला बल्लेबाज़ी करते हुए अपने करियर का सर्वाधिक स्कोर 150 रन बनाए और सबको मंत्रमुग्ध कर दिया.

प्रारंभिक वर्ष और निजी जीवन

युवराज का जन्म पूर्व भारतीय क्रिकेटर योगराज सिंह और शबनम सिंह के यहाँ एक सिख परिवार में हुआ था। टेनिस और रोलर स्केटिंग उनके बचपन के दौरान युवराज के पसंदीदा खेल थे और वह दोनों में काफी अच्छे थे। उन्होंने राष्ट्रीय अंडर-14 रोलर स्केटिंग चैम्पियनशिप भी जीती थी। उनके पिता ने उनका वह पदक फेंक दिया और उन्हें स्केटिंग भूल जाने और क्रिकेट पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कहा। वह हर दिन प्रशिक्षण के लिए युवराज को ले जाया करते थे।

युवराज चंडीगढ़ में डीएवी पब्लिक स्कूल में पढ़ाई करते थे। मेहंदी सग्ना दी और पुत सरदारा में बाल कलाकार के रूप में उन्होंने दो छोटी भूमिकाएं भी की हैं। अपने माता-पिता के तलाक के बाद युवराज ने अपनी मां के साथ रहने का फैसला किया।

12 नवंबर 2015 को युवराज ने हेज़ेल कीच से सगाई कर ली और 30 नवंबर 2016 को उनकी शादी हो गयी।

उपलब्धियाँ

2007 के आईसीसी विश्व ट्वेंटी-20 मैच में उन्होंने एक ओवर में छह छक्के लगाए।

उन्होंने 2007 के आईसीसी विश्व ट्वेंटी -20 के दौरान इंग्लैंड नेशनल क्रिकेट टीम के खिलाफ 12 गेंदों में सबसे तेज टी20 अर्धशतक का रिकार्ड बनाया।

वह विश्व कप में 300 से अधिक रन बनाने वाले पहले ऑलराउंडर बने और 15 विकेट लेने वाले भी।

वह आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2011 में मैन ऑफ द टूर्नामेंट भी बने।

उन्हें भारत के राष्ट्रपति द्वारा 2012 में अर्जुन पुरस्कार (भारत का दूसरा सबसे बड़ा स्पोर्टिंग अवार्ड) से सम्मानित किया गया था।

2014 में उन्हें पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

फरवरी 2014 में उन्हें फिक्की के द्वारा सबसे प्रेरणादायक स्पोर्ट्समैन ऑफ द ईयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

खेल की शैली –

युवराज बाएं हाथ के बल्लेबाज़ के तौर पर जाने जाते हैं लेकिन साथ ही साथ पार्ट टाइम गेंदबाज़ के रूप में बाएं हाथ से स्पिन गेंदबाजी भी करते हैं। अपने कैरियर के अंतिम दिनों में उन्होंने अपनी गेंदबाज़ी में सुधार किया। वह तेज़ गेंदबाज़ों के खिलाफ स्पिन गेंदबाजों की तुलना में ज़्यादा बेहतर बल्लेबाज़ी करने के लिए जाने जाते हैं। युवराज 2005 के इंडियन ऑयल कप को अपने कैरियर का टर्निंग प्वाइंट मानते हैं। युवराज एक शानदार फील्डर भी हैं जो पॉइंट और कवर्स से स्टंप पर सटीक निशाना साधते हैं। युवराज एक आक्रामक बल्लेबाज़ हैं। अंतर्राष्ट्रीय टी 20 में उनका स्ट्राइक रेट 150 और एकदिवसीय मैचों में 90 के करीब है। लोग उन्हें ठीक ढंग से गेंद पर प्रहार करने वाले सबसे बेहतर खिलाड़ियों में से एक मानते हैं। युवराज जब लय में होते हैं तो बड़ी ही आसानी से गेंद को सीमारेखा के पार पहुँचा देते हैं। 2005 के अंत मे क्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार 1999 से लेकर 2005 तक वह सबसे अधिक बल्लेबाज़ों को रन आउट करने वाले फील्डरों में चौथे स्थान पर थे। कुशल फील्डरों की सूची में इस मामले में वह दूसरे स्थान पर थे। आरम्भ में उन्हें एक घमंडी खिलाड़ी समझा जाता था लेकिन राहुल द्रविड़ के समय मे उन्होंने अपने नेतृत्व की क्षमता भी प्रदर्शित की। पुल शॉट उनका पसंदीदा शॉट है। इसके अतिरिक्त वह फ्लिक, कवर ड्राइव और कट शॉट भी लगाते हैं।

क्रिकेट के अतिरिक्त

चैरिटी और व्यापारिक रुचि –

2006 में युवराज को माइक्रोसॉफ्ट ने उनके वीडियो गेम एक्स बॉक्स 360 के लांच के लिए ब्रांड एंबेसडर बनाया। बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार के साथ वह कंसोल के विज्ञापन में नज़र आए। कोडमास्टर का क्रिकेट वीडियो गेम ‘ब्रायन लारा इंटरनेशनल क्रिकेट 2007’ भारत मे युवराज के नाम पर लांच हुआ जिसका शीर्षक ‘युवराज सिंह इंटरनेशनल क्रिकेट 2007’ रखा गया। बॉलीवुड की एनिमेटेड फ़िल्म जम्बो में युवराज सिंह ने अपनी आवाज़ दी और बॉलीवुड में पदार्पण किया। आने वाली एनिमेटेड फ़िल्म ‘कैप्टन इंडिया’ युवराज सिंह पर आधारित होगी।

युवराज खेल से जुड़ी ई कॉमर्स कंपनियों का हिस्सा भी रहे हैं। वह sport365.in के ब्रांड एंबेसडर हैं जो खेल और फिटनेस के सामान ऑनलाइन बेचती है। युवराज ‘प्यूमा’ के भी ब्रांड एंबेसडर हैं। 2013 में उन्हें उलीस नारदिन वॉच कम्पनी ने भी अपना ब्रांड एंबेसडर बनाया था।

युवराज की संस्था ‘यूवी कैन’ अब तक सैकड़ों कैंसर रोगियों का इलाज कर चुकी है। उन्होंने इस संस्था के विस्तार के लिए 40-50 करोड़ रुपये के निवेश की इच्छा जाहिर की और संस्था के लिए राशि एकत्र करने के लिए उन्होंने ‘सेलिब्रिटी क्लासिको 2016’ में भाग लिया।

युवराज सिंह का आईपीएल प्रदर्शन:

Batting and Fielding Mat Runs HS Ave SR 100 50 4s 6s
Career 120 2587 83 25.61 131.18 0 12 204 141
2017 12 252 70* 28 142.37 0 2 30 8
2016 10 236 44 26.22 131.84 0 0 22 13
2015 14 248 57 19.07 118.09 0 2 23 10
2014 14 376 83 34.18 135.25 0 3 22 28
2013 13 238 34 19.83 125.26 0 0 14 15
2011 14 343 66* 34.3 131.41 0 2 24 18
2010 14 255 43 21.25 128.14 0 0 20 14
2009 14 340 58* 28.33 115.64 0 2 25 16
2008 15 299 57 23 162.5 0 1 24 19
Bowling Mat WKTS BBM Ave Econ SR 4W 5W
Career 120 36 4/29 29.27 7.37 23.8 2 0
2017 12 1 1/6 22 11 12 0 0
2016 10 0 0/0 8.43 0 0
2015 14 1 1/14 72 8 54 0 0
2014 14 5 4/35 37.4 8.25 27.2 1 0
2013 13 6 2/27 25.33 6.9 22 0 0
2011 14 9 4/29 21.33 6.62 19.33 1 0
2010 14 5 2/21 30.4 6.6 27.6 0 0
2009 14 6 3/13 23.66 7.1 20 0 0
2008 15 3 2/12 27.66 9.22 18 0 0

युवराज सिंह के टेस्ट शतक:

Test centuries of Yuvraj Singh
No Runs Against City/Country Venue Start date Result
[1] 112 Pakistan Lahore, Pakistan Gaddafi Stadium 5 April 2004 Lost
[2] 122 Pakistan Karachi, Pakistan National Stadium 29 January 2006 Lost
[3] 169 Pakistan Bangalore, India M Chinnaswamy Stadium 8 December 2007 Drawn

युवराज सिंह के एकदिवसीय शतक:

One Day International centuries of Yuvraj Singh
No Runs Match Against City/Country Venue Date Result
[1] 102* 71 Bangladesh Dhaka, Bangladesh Bangabandhu National Stadium 11 April 2003 Won
[2] 139 85 Australia Sydney, Australia Sydney Cricket Ground 22 January 2004 Lost
[3] 110 120 West Indies Colombo, Sri Lanka R Premadasa Stadium 7 August 2005 Won
[4] 120 125 Zimbabwe Harare, Zimbabwe Harare Sports Club 4 September 2005 Won
[5] 103 134 South Africa Hyderabad, India Rajiv Gandhi International Stadium 16 November 2005 Lost
[6] 107* 142 Pakistan Karachi, Pakistan National Stadium 19 February 2006 Won
[7] 103 145 England Margao, India Fatorda Stadium 3 April 2006 Won
[8] 121 186 Australia Hyderabad, India Rajiv Gandhi International Stadium 5 October 2007 Lost
[9] 138* 218 England Rajkot, India Madhavrao Scindia Cricket Ground 14 November 2008 Won
[10] 118 219 England Indore, India Holkar Cricket Stadium 17 November 2008 Won
[11] 117 225 Sri Lanka Colombo, Sri Lanka R Premadasa Stadium 3 February 2009 Won
[12] 131 233 West Indies Kingston, Jamaica Sabina Park 26 June 2009 Won
[13] 113 271 West Indies Chennai, India MA Chidambaram Stadium 20 March 2011 Won
[14] 150 295 England Cuttack, India Barabati Stadium 19 January 2017 Won

युवराज सिंह के एकदिवसीय क्रिकेट में मैन ऑफ़ द मैच अवार्ड:

S No Opponent Venue Date Match Performance Result
1 Australia Gymkhana Club Ground, Nairobi 7 October 2000 84 (80 balls, 12×4); 1 Ct.
India won by 20 runs
2 Sri Lanka Sinhalese Sports Club Ground, Colombo 1 August 2001 98* (110 balls, 6×4, 1×6)
India won by 46 runs
3 Zimbabwe Lal Bahadur Shastri Stadium, Hyderabad 16 March 2002 80* (60 balls, 8×4, 1×6)
India won by 5 wickets
4 England Lord’s, London 29 June 2002 7–0–39–3 ; 64* (65 balls, 7×4)
India won by 6 wickets
5 Bangladesh Bangabandhu National Stadium, Dhaka 11 April 2003 102* (85 balls, 9×4, 4×6)
India won by 200 runs
6 Zimbabwe The Gabba, Brisbane 20 January 2004 69 (76 balls, 3×4) ; 1 Ct.
India won by 24 runs
7 Australia Sydney Cricket Ground, Sydney 22 January 2004 139 (122 balls, 16×4, 2×6)
Australia won by 2 wickets
8 West Indies R Premadasa Stadium, Colombo 7 August 2005 110 (114 balls, 11×4, 1×6) ; 3–0–22–0
India won by 7 runs
9 Zimbabwe Harare Sports Club, Harare 4 September 2005 120 (124 balls, 12×4, 1×6)
India won by 4 wickets
10 South Africa Rajiv Gandhi Stadium, Hyderabad 16 November 2005 103 (122 balls, 10×4, 3×6) ; 5–0–27–0
South Africa won by 5 wickets
11 Pakistan Karachi National Stadium, Karachi 19 February 2006 107* (93 balls, 14×4)
India won by 8 wickets
12 England Jawarharlal Nehru Stadium, Margao 3 April 2006 103 (76 balls, 10×4, 3×6) ; 3–0–19–0, 2 Ct.
India won by 49 runs
13 England Kochi Nehru Stadium, Kochi 6 April 2006 8–1–34–2, 2 Ct. ; 48 (55 balls, 6×4)
India won by 4 wickets
14 South Africa Stormont, Belfast 1 July 2007 2–0–17–0 ; 61* (82 balls, 6×4, 1×6)
India won by 6 wickets
15 Pakistan Green Park Stadium, Kanpur 11 November 2007 77 (95 balls, 4×4, 3×6) ; 5–0–18–1
India won by 46 runs
16 England Madhavrao Scindia Cricket Ground, Rajkot 14 November 2008 138* (78 balls, 16×4, 6×6)
India won by 158 runs
17 England Holkar Stadium, Indore 17 November 2008 118 (122 balls, 15×4, 2×6) ; 10–0–28–4
India won by 54 runs
18 Sri Lanka R Premadasa Stadium, Colombo 3 February 2009 117 (95 balls, 17×4, 1×6) ; 3.4–0–14–1, 2 Ct.
India won by 147 runs
19 West Indies Sabina Park, Kingston 26 June 2009 131 (102 balls, 10×4, 7×6) ; 4–0–34–0
India won by 20 runs
20 Australia Feroz Shah Kotla, Delhi 31 October 2009 8–0–30–0 ; 78 (96 balls, 8×4, 2×6)
India won by 6 wickets
21 New Zealand MA Chidambaram Stadium, Chennai 10 December 2010 2–0–5–2, 2 Ct. ; 42* (46 balls, 6×4, 2×6)
India won by 8 wickets
22 Ireland M Chinnaswamy Stadium, Bangalore 6 March 2011 10–0–31–5, 1 Ct. ; 50* (75 balls, 3×4)
India won by 5 wickets
23 Netherlands Feroz Shah Kotla, Delhi 9 March 2011 9–1–43–2 ; 51* (73 balls, 7×4)
India won by 5 wickets
24 West Indies MA Chidambaram Stadium, Chennai 20 March 2011 113 (123 balls, 10×4, 2×6) ; 4–0–18–2
India won by 80 runs
25 Australia Sardar Patel Stadium, Ahmedabad 24 March 2011 10–0–44–2 ; 57* (65 balls, 8×4)
India won by 5 wickets
26 England Barabati Stadium, Cuttack 19 January 2017 150 (127 balls, 21×4, 3×6)
India won by 15 runs
27 Pakistan Edgbaston Cricket Ground, Birmingham 4 June 2017 53 (32 balls, 8×4, 1×6) ; DNB
India won by 124 runs (D/L)

युवराज सिंह के एकदिवसीय क्रिकेट में मैन ऑफ़ द सीरीज़ अवार्ड:

# Series Season Match Performance Result
1 South Africa in India 2005/06 209 Runs with avg. 69.66, 1 wicket ; 1×100, 1×50. (4 matches)
Series drawn 2–2
2 India in Pakistan 2005/06 344 Runs with avg. 172.00 ; 1×100, 2×50. (5 matches)
India won the series 4–1
3 England in India 2005/06 237 Runs with avg. 47.40, 6 wickets ; 1×100, 1×50. (6 matches)
India won the series 5–1
4 Pakistan in India 2007/08 272 Runs with avg. 68.00, 3 wickets ; 4×50. (5 matches)
India won the series 3–2
5 England in India 2008/09 325 Runs with avg. 108.33, 5 wickets ; 2×100. (5 matches)
India won the series 5–0
6 India in Sri Lanka 2008/09 284 Runs with avg. 56.80, 4 wickets ; 1×100, 2×50. (5 matches)
India won the series 4–1
7 2011 ICC Cricket World Cup 2010/11 362 Runs with avg. 90.50, 15 wickets ; 1×100, 4×50. (9 matches)
India won the World Cup

युवराज सिंह के टी 20 क्रिकेट में मैन ऑफ़ द मैच अवार्ड:

# Series Date Opponent Match Performance Result
1 2007 ICC World Twenty20 19 September 2007 England 58 (16 balls: 3×4, 7×6); 1 run out.
India won by 18 runs
2 2007 ICC World Twenty20 22 September 2007 Australia 70 (30 balls: 5×4, 5×6); 1 ct.
India won by 15 runs
3 Sri Lanka in India 12 December 2009 Sri Lanka 3–0–23–3 ; 60* (25 balls: 3×4, 5×6)
India won by 6 wickets
4 2012 ICC World Twenty20 2 October 2012 South Africa 21 (15 balls: 1×4, 2×6) ; 4–0–23–2
India won by 1 run
5 England in India 20 December 2012 England 4–0–19–3 ; 38 (21 balls: 2×4, 3×6)
India won by 5 wickets
6 Pakistan in India 28 December 2012 Pakistan 72 (36 balls: 4×4, 7×6) ; 2–0–23–1
India won by 11 runs
7 Australia in India 10 October 2013 Australia DNB, 1 Ct. 77* (35 balls: 8×4, 5×6)
India won by 6 wickets

युवराज सिंह से जुड़ी अन्य खबरें:

युवराज सिंह ने ट्विटर पर उड़ाया शोएब अख्तर का जमकर मज़ाक

युवराज सिंह से जुड़े 30 तथ्य

Leave a Response

share on: