चार्ल्स कोवेंट्री – ज़िम्बाब्वे – रिकॉर्ड

Charles Coventry Records in Hindi

पूरा नाम – चार्ल्स केविन कोवेन्ट्री

जन्म – 8 मार्च 1983, क्वेंवे, मिडलैंड्स

प्रमुख टीमें – जिम्बाब्वे, माटेबेलेलैंड, माटेबेलेलैंड टस्कर्स, वेस्टर्न, ज़िम्बाब्वे क्रिकेट अकादमी

उपनाम – चोपपा

भूमिका – शीर्ष क्रम के बल्लेबाज

बल्लेबाज़ी शैली – दाएं हाथ के बल्लेबाज़

गेंदबाजी शैली – लेगब्रेक

क्षेत्ररक्षण की स्थिति – विकेटकीपर

टेस्ट पदार्पण (कैप 72) – 13 सितंबर 2005 बनाम भारत
अंतिम टेस्ट – 20 सितंबर 2005 बनाम भारत

एकदिवसीय पदार्पण (कैप 74) – 6 जुलाई 2003 बनाम इंग्लैंड
अंतिम एकदिवसीय – 26 मई 2015 बनाम पाकिस्तान

बल्लेबाजी और क्षेत्ररक्षण का औसत
मॅच रन सर्वाधिक स्कोर औसत स्ट्राइक रेट शतक अर्धशतक चौके छ्क्के कॅच
टेस्ट 2 88 37 22 94.62 0 0 14 1 3
एकदिवसीय 39 831 194* 24.44 88.68 1 3 62 29 19
टी२० 13 127 30 12.7 141.11 0 0 14 6 2
प्रथम श्रेणी 64 3018 116 27.43 5 14 99
लिस्ट ए 113 2601 194* 27.96 2 13 65
ट्वेंटी२० 58 994 67* 21.6 142.81 0 3 83 61 25
गेंदबाज़ी औसत
मॅच विकेट बेस्ट/पारी बेस्ट/मॅच औसत रन प्रति ओवर स्ट्राइक रेट 4 विकेट 5 विकेट 10 विकेट
टेस्ट 2
एकदिवसीय 39
टी२० 13
प्रथम श्रेणी 64 2 1/26 77.5 4.42 105 0 0
लिस्ट ए 113 0 7.5 0 0 0
ट्वेंटी२० 58

करियर की जानकारी

टेस्ट पदार्पण – 13 सितम्बर 2005, क्वींस स्पोर्ट्स क्लब बनाम भारत
अंतिम टेस्ट – 20 सितम्बर 2005, हरारे स्पोर्ट्स क्लब बनाम भारत
एकदिवसीय पदार्पण – 06 जुलाई 2003, काउंटी ग्राउंड बनाम इंग्लैंड
अंतिम एकदिवसीय – 31 मई 2015, गद्दाफी स्टेडियम बनाम पाकिस्तान
टी-20 पदार्पण – 03 मई 2010, प्रोविडेंस स्टेडियम बनाम श्री लंका
अंतिम टी-20 – 19 जुलाई 2015, हरारे स्पोर्ट्स क्लब बनाम भारत

चार्ल्स कोवेंट्री ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सिर्फ एक शतक लगाया | उस मैच में ज़िम्बाब्वे बांग्लादेश से हार गया था | फिर भी, कोवेंट्री का यह शतक कई क्रिकेट प्रेमियों के लिए काफी महत्त्व रखता है | कोवेंट्री इस शतक के बाद सुर्खियों में आ गये | 2009 में बुलावायो में बांग्लादेश के खिलाफ उनकी नाबाद 194 रनो की पारी एकदिवसीय क्रिकेट में संयुक्त रूप से सबसे बड़ी पारी थी, जब तक सचिन तेंदुलकर ने 200 रन बना कर उस कीर्तिमान को ध्वस्त नहीं किया |

यह अब तक कोवेंट्री की सबसे लोकप्रिय पारी रही है | वो उसके बाद अपने पुराने कीर्तिमान के नजदीक भी नहीं पहुंचे लेकिन वो काफी आक्रामक बल्लेबाज है | वो उन बल्लेबाजों में शामिल है जो बल्लेबाजी के दौरान भी चश्मे का उपयोग करते है | सिर्फ 15 वर्ष की उम्र में पदार्पण करने वाले कोवेंट्री ज़िम्बाब्वे के सबसे युवा प्रथम श्रेणी के बल्लेबाज भी है |

उन्होंने अपना पहला एकदिवसीय मैच काफी पहले 2003 में खेला था, लेकिन वो टीम में जगह बनाने के लिए संघर्ष करते रहे | उन्होंने 2005 में भारत के खिलाफ दो टेस्ट मैच खेले थे, इससे बाद ज़िम्बाब्वे ने स्वयं पर प्रतिबंध लगा दिया था लेकिन उन दो मौकों में उन्होंने कुछ भी उल्लेखनीय नहीं किया।2006 में उनको अनुशासनात्मक कारणों से वेस्टइंडीज के दौरे से वापस भेज दिया गया | उसके बाद कोवेंट्री दो साल से ज्यादा समय तक टीम में शामिल नहीं थे |

उन्होंने 2009 में बांग्लादेश के खिलाफ एकदिवसीय क्रिकेट में वापसी की और उसी शृंखला में धमाकेदार शतक बनाया और कई कीर्तिमानों को ध्वस्त किया |

कोवेंट्री ने सईद अनवर के साथ एकदिवसीय मैचों में सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर का कीर्तिमान साझा किया | फरवरी 2010 में सचिन तेंदुलकर ने 200 रन बना कर उनके इस कीर्तिमान को ध्वस्त कर दिया | 2011 विश्व कप में कोवेंट्री को शीर्ष क्रम में बल्लेबाजी करने भेजा गया, लेकिन उनका प्रदर्शन बहुत ख़राब रहा | इस वजह से उनको टीम से निकाल दिया गया | उन्होंने अपना अंतिम एकदिवसीय मैच न्यूज़ीलैंड के खिलाफ खेला, जहा वो शुन्य (0) रन बना कर आउट हो गये | कोवेंट्री घरेलु क्रिकेट में इस उम्मीद में संघर्ष करते रहे की उनको टीम में वापस बुलाया जायेगा |

Summary
Review Date
Reviewed Item
Charles Coventry Records | Zimbabwe | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: