आईपीएल 2017 की नीलामी फरवरी अंत तक रूकी (IPL 2017 auction postponed till February end)

ipl-2017-auction-postponed-till-february-end

डेविड वार्नर और हैदराबाद सनराइजर्स अपना आईपीएल 2016 खिताब बचाने की कोशिश करेंगे।

आईपीएल 2017 में खिलाड़ियों की नीलामी प्रस्तावित 4 फरवरी की जगह फरवरी के तीसरे सप्ताह में होने की संभावना है। हालांकि बीसीसीआई ने अभी तक कोई अंतिम तिथि जारी नहीं की है, पर फ्रेंचाइजियों का मानना है कि यह 20 फरवरी और 25 के बीच कभी भी हो सकती है। पिछले साल नवंबर में आईपीएल संचालन परिषद ने 5 अप्रैल और 21 मई के बीच आईपीएल 2017 टूर्नामेंट आयोजित करने का निर्णय लिया था।

उस वक्त, खिलाड़ियों की नीलामी को 4 फरवरी के लिए अंतरिम रूप में रखा गया था, पर यह बर्खास्त कर दिया गया क्यूंकि भारतीय सुप्रीम कोर्ट ने साल की शुरुआत में अध्यक्ष अनुराग ठाकुर और सचिव अजय शिर्के को हटा कर और बोर्ड के शेष पात्र पदाधिकारियों पर विभिन्न प्रतिबंध लगा कर बीसीसीआई समिति को खारिज कर दिया था। हालांकि बीसीसीआई प्रबंधन अपने मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी के तहत तय समय सीमा जो की पिछले साल नवंबर थी, पर कायम रहने को तैयार थे, अदालत के प्रशासकों की समिति की नियुक्ति में देरी की वजह से आईपीएल के निर्णय ठंडे बस्ते में चले गए।

हालांकि, एक चार सदस्यीय समिति के सोमवार को कार्यभार संभालने के साथ आईपीएल प्राथमिकता सूची पर वापस आ गया है। इस समिति ने बीसीसीआई के टीम प्रबंधन के साथ मुलाकात कर आईपीएल के विषय में उठाए जाने वाले तत्काल निर्णयों की चर्चा की।

बीसीसीआई के मीडिया विज्ञप्ति में कहा गया, “व्यवस्थापकों की समिति (सीओए) ने आज चिंतित बीसीसीआई अधिकारियों से मुख्य रूप से आईपीएल 2017 के सफल आयोजन के विषय में जरूरी और महत्वपूर्ण मामलों का जायजा लेने के लिए मुलाकात की।” प्रशासकों की समिति ने फ्रेंचाइजियों को यह आश्वासन दिया कि वह आईपीएल तैयारी की देखरेख कर रही थी और शीघ्र ही ‘परिचालन समय सीमा’ उन्हें भेज दी जाएगी।

उधर, फ्रेंचाइजियों ने इस देरी के दौरान अपना सब्र बनाए यखा। कई फ्रेंचाइजियों के अधिकारियों ने कहा कि उनके आत्मविश्वास के पीछे मुख्य कारण यह था कि अदालत ने हमेशा क्रिकेट प्रभावित कभी न हो यह सुनिश्चित कर दिया था, चाहे वह घरेलू और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट दोनों हो। इसके अलावा, नीलामी में देरी के कारण, एक फ्रेंचाइजी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने कहा, टीमों में चल रहा इंटर स्टेट टी-20 टूर्नामेंट जो 18 फरवरी को खत्म होगा, में घरेलू प्रतिभाओं को ढूंढने में फायदा होगा।

वह एक चीज जिसमें फ्रेंचाइजियां अपने हाथ डालने के लिए उत्सुक हैं वह है खिलाड़ियों का रोस्टर, अंतिम खिलाड़ियों का पूल जिसमें खिलाड़ी नीलामी में प्रवेश करेंगे। आम तौर पर फ्रेंचाइजियों को दो सप्ताह पहले नीलामी का रोस्टर प्राप्त होता है।

“अगर हमें रोस्टर मिलता है तो हम खिलाड़ियों की एक छोटी सूची, जिन्हें हम चाहते हैं, तैयार कर लेंगे जिससे हमें उनकी उपलब्धता का पता चल सके जो हमेशा एक बड़ा निर्णायक कारण है जिस पर कौनसे खिलाड़ियों को टीम में लेना है यह सुनिश्चित हो सके”, एक मताधिकार सीईओ ने कहा।

यह आईपीएल का अंतिम वर्ष है जिसमें टीमें 2018 सत्र के लिए अपने रोस्टरों में फेरबदल कर सकेंगी। सभी मौजूदा खिलाड़ियों का कांट्रेक्ट आईपीएल 2017 के बाद समाप्त हो जाएगा और यह उम्मीद है कि ज्यादातर खिलाड़ियों पर 2018 सत्र की बड़ी नीलामी से पहले गाज गिर सकती है। हालांकि, खिलाड़ियों के प्रतिधारण नियमों पर अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

प्रसारण अधिकारों का वर्तमान चक्र, जो की वर्तमान में सोनी पिक्चर्स नेटवर्क इंडिया (SPNI) के अंतर्गत है, आईपीएल 2017 के बाद समाप्त हो जाएगा। पिछले साल सितंबर में बीसीसीआई ने घोषणा की थी कि आईपीएल अधिकार के अगले चक्र एक खुली निविदा प्रक्रिया के जरिए बेचे जाएंगे। फेसबुक और ट्विटर सहित अठारह कंपनियों ने टीवी और डिजिटल अधिकारों के लिए दस्तावेज़ निविदा के लिए खरीदे थे। बोलियों को 24 अक्टूबर को खोला जाना चाहिए था, लेकिन लोढ़ा समिति ने यह प्रक्रिया, जब तक बीसीसीआई पिछले साल 18 जुलाई के अदालत के आदेश का पालन कर ले, इसे टाल दी।

Leave a Response

share on: