धोनी को हटा स्मिथ बने पुणे सुपरजायन्ट्स के कप्तान (Steve Smith Replaces Dhoni as Pune Supergiants captain)

Steve Smith Replaces Dhoni as Pune Supergiants captain

राइज़िंग पुणे सुपरजायन्ट्स ने एम० एस० धोनी को हटा कर स्टीव स्मिथ को आई०पी०एल० के दसवें सत्र के लिए कप्तान बनाया है जो कि 5 अप्रैल से शुरू होगा।

यह बदलाव आई०पी०एल० खिलाड़ियों की नीलामी, जो कि 20 फ़रवरी को बंगलूरु में होनी है, की पूर्व संध्या और धोनी द्वारा इंग्लैण्ड के खिलाफ घरेलू श्रंखला से पहले भारतीय एकदिवसीय एवं टी20 कप्तानी छोड़ने के दो माह बाद आया है।

” मैं धोनी का एक नायक एवं एक इंसान के रूप में बहुत सम्मान करता हूँ। धोनी टीम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बने रहेंगे।” संजीव गोयनका,राइज़िंग पुणे सुपरजायन्ट्स के मालिक, ने एक बयान में कहा। ” वह(धोनी) फ्रैंचाइज़ी के अच्छे हितों को ध्यान में रखते हुए इस निर्णय का समर्थन करते हैं।”
कप्तान के तौर पर उनका आख़िरी मॅच कहे जाने वाले मुकाबले में- जब उन्होने जनवरी में इंग्लैण्ड के खिलाफ इंडिया ए की कप्तानी की थी- धोनी ने टॉस के वक्त कहा था कि कप्तानी से उनका मन अभी भरा नहीं है और वह आई०पी०एल० एवम् घरेलू क्रिकेट में कप्तानी करते रहेंगे। भारतीय कप्तानी छोड़ने के बाद धोनी ने चार वर्षों में अपना पहला शतक और टी20 अंतरराष्ट्रीय में अपना पहला अर्धशतक लगाकरअच्छी फार्म दिखाई थी।

धोनी के अंडर सुपरजायन्ट्स 2016 में अपने पहले आई०पी०एल सत्र में आख़िर से दूसरे स्थान पर रही थी। अपने पहले अभियान- जो कि महत्वपूर्ण खिलाड़ियों की चोटों से बुरी तरह प्रभावित था- में सुपरजायन्ट्स ने 5 जीत और 9 हार अर्जित की थी। यह पहली बार था जब कोई आई०पी०एल० टीम धोनी की कप्तानी में प्ले-आफ में ना पहुँची हो। धोनी ने 12 पारियों में 135 के स्ट्राइक रेट के साथ 284 रन बनाए थे जबकि स्मिथ, जो कि आस्ट्रेलिया की कप्तानी करते हैं, ने 7 पारियों में 153 के स्ट्राइक रेट के साथ 270 रन बनाए थे।

बाद में दिन में, हर्ष गोयनका-संजीव गोयनका के भाई एवं सुपरजायन्ट्स के मालिक बिजनेस ग्रुप के चेयरमैन- ने एक ट्वीट के ज़रिए कहा-” राइज़िंग पुणे सुपरजायन्ट्स को एक ऐसे कप्तान की आवश्यकता है जो और अधिक संलग्न हो, जो अपने अतीत की छाया मात्र ना हो। स्टीव स्मिथ एक कप्तान के रूप में अच्छा कार्य करेंगे।”

धोनी, 2016 से पहले हुए प्लेयर ड्राफ्ट में फ्रैंचाइज़ी की पहली पसंद थे। वह पुणे का आई०पी०एल० में पहला सत्र था,जोकि 2013 आई०पी०एल० भ्रष्टाचार मामले में बर्खास्त हुई चेन्नई सूपर किंग्स व राजस्थान रॉयल्स के स्थान पर लाई गयी दो टीमों में से एक थी- दूसरी टीम गुजरात लायंस थी। यह सुपरजायन्ट्स द्वारा आई०पी०एल० के साथ हस्ताक्षर किए गये दो साल के अनुबंध का आख़िरी साल है।

इससे पहले धोनी नेआई०पी०एल० की 2008 में शुरुआत से ही सूपर किंग्स की कप्तानी की थी। वह खिलाड़ियों की पहली नीलामी में 6 करोड़ रुपये में खरीदे गये थे जो उस समय किसी भी खिलाड़ी को मिलने वाली सबसे बड़ी राशि थी और सूपर किंग्स को 2010 एवं 2011 में आई०पी०एल० और 2010 एवं 2014 में चैंपियंस लीग के खिताब तक ले कर गये। उनके तहत, सूपर किंग्स चार बार आई०पी०एल० में उपविजेता भी रही थी।

Leave a Response

share on: