स्टार इंडिया को मिले आईपीएल मीडिया अधिकारों के बारे में जानने योग्य 5 बातें

5 things to know about Star India winning IPL media rights

2018 से 2022 के बीच पाँच साल के लिए सभी इंडियन प्रीमियर लीग मैचों के मीडिया अधिकारों के लिए बोली लगाने हेतु 24 से ज्यादा कंपनियां मैदान में थीं। इनके लिए तैयार की गई बोलियां दो श्रेणियों: टेलीविजन और डिजिटल धाराओं में विभाजित की गई थीं।

सोशल मीडिया के अग्रणी फेसबुक, ई-कॉमर्स प्रमुख अमेज़ॅन, माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर, सर्च इंजन याहू, नई 4जी कंपनी रिलायंस जियो, सोनी पिक्चर्स, तकनीकी चैनल डिस्कवरी, समाचार मीडिया स्काई, ब्रिटिश टेलीकॉम और ईएसपीएन डिजिटल मीडिया के रूप में कई बड़ी कंपनियों ने बोली खरीदने में रुचि दिखाई या नीलामी में भाग लिया।

स्टार इंडिया ने अन्य कंपनियों को दौड़ में मात दे दी क्योंकि रूपर्ट मर्डोक की स्वामित्व वाली कंपनी की भारतीय शाखा ने अपनी जेब को ढीला किया और प्रत्येक सेगमेंट के लिए अलग-अलग बोली लगाने के बजाय सभी चीजों के लिए एक समेकित बोली लगाई। अन्य कंपनियों ने एक बोली में ही रूचि दिखाई और वे या तो डिजिटल अधिकारों के लिए या तो टीवी अधिकारों के लिए बोली लगाने को तैयार हुए।
आई पी एल मीडिया अधिकार: प्रतियोगिता में फेंकी गयी प्रत्येक गेंद से ₹23 लाख कमाएगी बी सी सी आई

उद्योग निरीक्षकों का कहना है कि मौजूदा नीलामी की प्रक्रिया और इसके परिणाम निश्चित रूप से आईपीएल मैचों के दौरान टेलीविज़न विज्ञापनों को और महँगा कर देंगे। वर्तमान में 10 सेकंड की अवधि के विज्ञापन में कंपनी की लागत 4-6 लाख रुपये के बीच होती है।

स्टार द्वारा लगायी गयी बड़ी सकल बोली के कारण यह राशि निश्चित रूप से ऊपर जा रही है। काफी संभावना है कि स्टार इंडिया आईपीएल मैचों के दौरान 10 सेकंड की अवधि के विज्ञापन चलाने के लिए 13-16 लाख रुपये के बीच किसी कंपनी से ले सकती है।

यहां पांच चीजें हैं जो आपको इस समझौते के बारे में जाननी चाहिए कि आखिर क्यों इतनी बड़ी कंपनियाँ बड़ी बोली लगाने के बावजूद स्टार इंडिया से मात खा गयीं

1.स्टार इंडिया के लिए आईपीएल मीडिया अधिकारों के लिए बोली लगाने का काम करो या मरो की स्थिति जैसा था क्योंकि यह किसी भी कीमत पर अधिकार चाहते थे। स्टार इंडिया के सीईओ उदय शंकर के मुताबिक यह रूपर्ट मर्डोक के स्वामित्व वाले टीवी नेटवर्क के लिए “सब कुछ हासिल करने या सब कुछ खोने” जैसा था।

2.यही वजह है कि स्टार ने 2018 से 2022 तक पांच साल के लिए टेलीविजन और डिजिटल मीडिया अधिकारों को प्राप्त करने के लिए 16,347.4 करोड़ रुपये या 2.55 अरब डॉलर की समेकित बोली लगाने में कोई संकोच नहीं किया। शंकर ने बाद में इस सौदे को काफी सोच समझ कर लिया गया फैसला करार दिया।

3. यह जानना जरुरी है कि स्टार इंडिया ने टीवी अधिकारों के अधिग्रहण के लिए सोनी नेटवर्क को पछाड़ा। जबकि सोनी ने 11,050 करोड़ रुपये की एकत्र बोली लगाई थी, जो स्टार इंडिया की 6,196 करोड़ रुपये की अकेली बोली से 4,850 करोड़ रुपये अधिक है। हालाँकि स्टार की सामूहिक बोली ने नेटवर्क को अधिकार हासिल करने में मदद की।

आई पी एल के अगले संस्करण में 150 करोड़ की कमाई करेंगी टीमें

4. गणना के बाद पता चलता है कि एक आईपीएल मैच के लिए प्रति मैच 54.5 करोड़ रुपये का भुगतान होगा और यह उस राशि से 11 करोड़ रुपये ज़्यादा है जितना स्टार इंडिया भारतीय क्रिकेट टीम के एक एकदिवसीय मैच के लिए भुगतान कर रही है। पाँच वर्षों में कुल 250 आईपीएल मैच होंगे। वर्तमान में कंपनी एक एकदिवसीय मैच के लिए भारतीय क्रिकेट टीम को 43 करोड़ रुपये का भुगतान करती है।

5. इस बार सोशल मीडिया के बादशाह फेसबुक ने भी दिलेरी दिखाई और वह भी आईपीएल नीलामी प्रक्रिया का हिस्सा था। फेसबुक अपने भारतीय उपयोगकर्ताओं के डिजिटल अधिकार के लिए 3,900 करोड़ रुपये की भारी बोली के साथ आया था। यहां भी स्टार ने प्रतिद्वंद्वी बोलीकर्ता से अधिक की बोली लगाई क्योंकि उसने 16,347.4 करोड़ रुपये की कुल बोली लगाई थी।

Source: 5 things to know about Star India winning IPL media rights

Summary
Review Date
Reviewed Item
5 things to know about Star India winning IPL media rights | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: