एमएस धोनी आईपीएल 2018 की नीलामी में प्रवेश करेंगे तो टीमें बड़े पैमाने पर बोली लगायेंगी

Bidding War in IPL 2018 if MS Dhoni enters auction

विशेषज्ञों ने भविष्यवाणी की है कि अगर एमएस धोनी आईपीएल 2018 की नीलामी में प्रवेश करेंगे तो टीमें बड़े पैमाने पर बोली लगायेंगी।

जब 2015 में फ्रेंचाइजी को दो साल के लिए निलंबित कर दिया गया था, उससे पहले महेंद्र सिंह धोनी ने चेन्नई सुपरकिंग्स का नेतृत्व आठ साल तक किया था।

क्या हम 2018 आईपीएल सीजन में महेंद्र सिंह धोनी के लिए बड़ी बोली लगाने वालों के बीच होड़ मचते देखेंगे?

दोबारा वही टीम पाने के लिए आई पी एल 2018 में ड्राफ्ट सिस्टम चाहती है सी एस के

चेन्नई में इंडिया सीमेंट्स के कार्यालय में धोनी का जाना और बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन के साथ उनकी मुलाकात सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बन गया है। जबकि धोनी इंडिया सीमेंट्स के उपाध्यक्ष भी हैं, वहीं आने वाले सीजन में माही सीएसके के प्रसिद्ध पीले रंग की पोशाक पहन रहे हैं या नहीं, यह कौतुहल का विषय बना हुआ है। हालांकि अभी माही चेन्नई सुपर किंग्स फ्रैंचाइजी का हिस्सा नहीं हैं और उन्हें 2016 के सीजन में चेन्नई और राजस्थान रॉयल्स के निलंबन के बाद पुणे टीम ने खरीदा था। ब्रांड गुरु हरीश बिजूर और पूर्व क्रिकेटर निखिल चोपड़ा ने भविष्यवाणी की है कि अगले सीजन की आईपीएल नीलामी में एमएस धोनी के लिए बोली लगाने के लिए टीमों के बीच होड़ मचना लाज़मी है।

“मुझे लगता है कि एमएस धोनी भारतीय खेल के परिपेक्ष्य में सबसे ज्यादा बहुमूल्य खिलाड़ियों में से एक हैं। हाल के दौर में धोनी के कद का कोई और क्रिकेटर नहीं है और वह एक आइकन हैं। धोनी ने पिछले कई वर्षों से चेन्नई सुपर किंग्स का नेतृत्व किया है। निरंतर नए खिलाड़ियों का आगमन भारतीय क्रिकेट की अनोखी बात है, लेकिन उनमें से कुछ ही एमएस धोनी जैसा कद बरकरार रख पाते हैं। वर्तमान भारतीय टीम में केवल विराट कोहली की ही एमएस धोनी के साथ तुलना की जा सकती है। ब्रांड वैल्यू के संदर्भ में कोहली महेंद्र सिंह धोनी से आगे हैं लेकिन एक क्रिकेटर के रूप में धोनी जिस भी टीम का हिस्सा हों, उसकी जान बन जाते हैं”, ब्रांड गुरु हरीश बिजूर ने कहा।

चेन्नई सुपरकिंग्स के सहायक के रूप में दिखेंगे माइक हसी

निखिल भी इससे सहमत दिखाई देते हैं, “धोनी आईपीएल में ऐसे खिलाड़ी के रूप में आते हैं जिसकी सबसे ज्यादा माँग हो। उनके पास नेतृत्व क्षमता है और वह किसी भी टीम के लिए मैच विजेता खिलाड़ी हैं। वह एक नेता हैं। विशेष रूप से आईपीएल में ज्यादातर टीमों में अधिकांश भारतीय खिलाड़ी हैं और इस तरह आपको कोई ऐसा भारतीय खिलाड़ी चाहिए जो टीम की अगुवाई कर सके।

बड़ा सवाल यह है कि क्या टीमों को नीलामी से पहले कुछ खिलाड़ियों को बरक़रार रखने की अनुमति दी जाएगी या नहीं। वर्तमान में सभी खिलाड़ी नीलामी पूल में जाने के लिए तैयार हैं लेकिन नीलामी के कुछ दिन पहले यह नियम बदल भी सकता है और टीमें आइकन खिलाड़ियों को बनाए रखने की कोशिश कर सकती हैं। प्रशंसक खिलाड़ियों से ही आईपीएल टीमों की पहचान करते हैं; विराट कोहली के बिना आरसीबी के बारे में सोचना मुश्किल होगा, या रोहित के बिना मुंबई इंडियंस और गंभीर के बिना नाइटराइडर्स। इन खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी में इन टीमों की कल्पना करना भी मुश्किल होगा।

हालांकि सीएसके के लिए, जो 2 साल के निलंबन के बाद वापस आ रही है, माही की सेवाएं हासिल करना महत्वपूर्ण होगा।

आई पी एल की अधिकतर टीमें डूबी हुई हैं कर्ज में

निखिल कहते हैं, “मुझे लगता है कि 2 साल के निलंबन का ब्रांड सीएसके पर असर पड़ेगा। वे अपने जादू को फिर से बरकरार रखना चाहेंगे और इसलिए सीएसके कुछ बड़ी बोलियाँ लगा सकती है। चेन्नई के लिए अन्य टीमों की तुलना में अपने फैनबेस को बनाए रखना अधिक महत्वपूर्ण है क्योंकि वे 2 साल के अंतराल के बाद लौट रहे हैं। हरीश बैजूर कहते हैं “मुझे लगता है कि प्रशंसक आधार का बहुत ज्यादा फर्क पड़ता है और फ्रैंचाइजी को अपनी मार्केटिंग और व्यावसायिक गतिविधियों का ध्यान रखना पड़ता है। टीमों के लिए राजस्व निर्माण करना महत्वपूर्ण है। वे अपने पहचाने जाने योग्य मैच विजेता खिलाड़ियों को बनाए रखने की कोशिश करती हैं ताकि उनके चारों ओर टीम का निर्माण कर सकें।”

चेन्नई के लिए माही का जादू

सीएसके के लिए धोनी का कप्तानी रिकॉर्ड

सीज़न विजेता जब टीम शीर्ष 4 में रही

8 2 बार (2010, 2011) 6 बार

8 साल तक सीएसके के कप्तान के रूप में धोनी का रिकॉर्ड बेजोड़ रहा है। उन आठ वर्षों में चेन्नई ने 6 मौकों पर फाइनल में प्रवेश किया और दो बार खिताब जीती। बैजूर का कहना है कि जब धोनी नीलामी में प्रवेश करेंगे तब निश्चित है कि उनपर बड़ी बोली लगेगी। “टीमें 2-3 खिलाड़ियों को बरकरार रखना चाहती हैं। वास्तविकता यह है कि यदि उन 2-3 खिलाडिय़ों को खो भी दिया जाता है तो इसके बाद टीमें उनके समान स्तर के किसी खिलाड़ी को हासिल करना चाहेंगी और इस तरह धोनी की मांग काफी बढ़ जायेगी। अच्छे खिलाड़ियों को अच्छे पैसे भी मिलेंगे और ऐसे खिलाड़ियों की संख्या भी ज्यादा नहीं है,” हरीश ने कहा।

चेन्नई सुपरकिंग्स के मालिक एन श्रीनिवासन से मिले एम एस धोनी

आईपीएल में सबसे ऊंची कीमतों पर खरीदे गए टॉप 5 खिलाड़ी

खिलाड़ी राशि टीम साल

युवराज सिंह 16 करोड़ रुपये दिल्ली 2015

विराट कोहली 15 करोड़ रुपये बेंगलुरु 2017

बेन स्टोक्स 14.5 करोड़ रुपये पुणे 2017

युवराज सिंह 14 करोड़ रुपये बेंगलुरु 2014

महेंद्र सिंह धोनी 12.5 करोड़ रुपये पुणे 2016

यह कोई रहस्य नहीं है कि सीएसके महेंद्र सिंह धोनी को अपनी टीम में फिर से खेलते देखना चाहती है। इंडिया सीमेंट्स के प्रबंध निदेशक एन श्रीनिवासन ने इस साल के शुरूआती दौर में मीडिया को संबोधित करते हुए कहा था, “यदि आप सीएसके के प्रशंसक हैं और क्रिकेट प्रेमी हैं, तो आप दिल से चाहेंगे कि 2018 में एमएस धोनी फिर से सीएसके में खेलें और टीम का नेतृत्व करें। आप जरूर चाहेंगे कि वह पीली टीम ड्रेस पहन कर बाहर आएं। ऐसा होने की संभावना है और अगले साल हम आप सब को अचंभित करेंगे।”

क्या आईपीएल 2018 टीमों के राजस्व में बढ़ोतरी को सुनिश्चित करेगा?

धोनी ने भी रिपोर्टों को आराम नहीं दिया क्योंकि उन्होंने उस दिन पीली जर्सी में एक तस्वीर पोस्ट की जिसमें ‘थाला’ लिखा हुआ था, जब सीएसके ने अपने निलंबन के अंत की घोषणा की और आईपीएल में वापसी का शंखनाद किया।

अब यह देखना बाकी है कि क्या सीएसके को नीलामी में पहला मौका दिया जाता है या नहीं और क्या वे महेंद्र सिंह धोनी को चुन पाते हैं या नहीं। लेकिन यह तो तय है कि अगर माही नीलामी में प्रवेश करते हैं, तो वह उन प्रथम खिलाड़ियों में से एक होंगे जिन्हें टीमें साइन करना चाहेंगी.

Source: Experts predict massive bidding war if MS Dhoni enters IPL 2018 auction

Summary
Review Date
Reviewed Item
Bidding War in IPL 2018 if MS Dhoni enters auction | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: