कोच्चि टस्कर्स को भारी हर्जाना देगी बी सी सी आई

IPL 2018 - BCCI to pay huge compensation to Kochi Tuskers

2011 में कोच्चि टस्कर्स को आई पी एल से बाहर किए जाने के कारण बी सी सी आई अब इस फ्रेंचाइजी को 800 करोड़ से अधिक का हर्जाना देगी।
एक मीटिंग के बाद आई पी एल चेयरमैन राजीव शुक्ला ने कहा “कोच्चि टस्कर्स ने हर्जाने के रूप में 850 करोड़ की मांग की है। हमने कार्यकारी समिति की बैठक में इस पर चर्चा की है और अब इस मुद्दे को मुख्य संस्था के समक्ष प्रस्तुत करेंगे। इसका निर्णय वही लेंगे लेकिन निश्चित रूप से इस राशि में कुछ कमी होनी चाहिए।”

आई पी एल प्रसारण अधिकार न मिलने से सोनी को परेशानी नही

2015 में कोच्चि टस्कर्स ने बी सी सी आई के खिलाफ उस मुकदमे में जीत हासिल की जिसमें बी सी सी आई ने कोच्चि टस्कर्स पर सहमति के उल्लंघन का आरोप लगाकर उनकी बैंक गारंटी जब्त कर ली थी।

आर सी लाहोटी पैनल ने बी सी सी आई को 550 करोड़ हर्जाना अदा करने का आदेश दिया था और ऐसा न करने पर 18% वार्षिक दर से दंड देने का आदेश जारी किया।

पिछले दो वर्षों से बी सी सी आई ने फ्रेंचाइजी को न तो हर्जाना दिया और न ही आई पी एल में खेलने की अनुमति दी।

आई पी एल कार्यकारी समिति के एक सदस्य ने बताया “हमे कोच्चि को हर्जाना देना होगा। सभी वैध कानूनी प्रक्रिया पूरी हो गई है। जब फैसला आपके खिलाफ हो तो सुप्रीम कोर्ट में अपील करना मूर्खता है। हमारे पास कोई विकल्प नहीं है। बस हर्जाने की राशि पर प्रश्न बाकी है।”

मिचेल मार्श का आईपीएल 2018 में खेलना संदिग्ध

कोच्चि को निलंबित करने का फैसला तत्कालीन बी सी सी आई अध्यक्ष शशांक मनोहर ने लिया था। अधिकतर सदस्य इस फैसले के खिलाफ थे। बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया “यह एक व्यक्ति की ज़िद थी जिसका हमें इतना बड़ा मूल्य चुकाना पड़ रहा है। हम आपस में मामले को सुलझा सकते थे। कोर्ट जाने से पहले कोच्चि ने 300 करोड़ का हर्जाना माँगा था लेकिन उस समय भी हमारे अधिकारियों ने उद्दंडता दिखाई और अब हमें उसकी दुगनी से भी अधिक कीमत चुकानी पड़ रही है।”

बी सी सी आई इस राशि को कम करवाने का प्रयास करेगी। अधिकारी ने कहा कि इसके बावजूद हम इसे 600 करोड़ से कम नहीं करवा सकेंगे।

दूसरी तरफ बी सी सी आई, चेन्नई सुपरकिंग्स से 5 लाख की राशि टोकन राशि के रूप में अर्जित करेगी जो कि टीम के स्वामित्व में परिवर्तन होने पर कुल मूल्य का 5% है।

चेन्नई सुपरकिंग्स अब इंडिया सीमेंट्स के स्थान पर चेन्नई सुपरकिंग्स कंपनी लिमिटेड के स्वामित्व वाली टीम होगी। आई पी एल के नियमानुसार, स्वामित्व में स्थानांतरण होने पर बी सी सी आई को फ्रेंचाइजी की कुल लागत की 5% राशि अर्जित होती है।

इसके अनुसार बी सी सी आई को 5 लाख की राशि प्राप्त होगी। अधिकारी ने बताया “यह एक विचित्र सत्य है। हमें 5 लाख मिलेंगे लेकिन हम वैध प्रक्रिया का पालन करेंगे।”

Source: IPL: BCCI SET TO PAY HUGE COMPENSATION TO KOCHI TUSKERS

Summary
Review Date
Reviewed Item
IPL 2018: BCCI to pay huge compensation to Kochi Tuskers
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: