आईपीएल 2018: खिलाड़ियों को बरक़रार रखने की नीति जारी रहेगी लेकिन फ्रैंचाइज़ी खिलाड़ी की इच्छा के खिलाफ नहीं जा सकते

IPL 2018 - Retention to continue only if players agree

खिलाड़ियों को संबंधित फ्रैंचाइजी के साथ बने रहने या नीलामी पूल में शामिल होने का निर्णय करने का विकल्प दिया जाएगा।

इंडियन प्रीमियर लीग साल दर साल भव्य बनता जा रहा है। पैसों की चकाचौंध से भरे इस टूर्नामेंट का 2018 संस्करण भी जाहिर तौर पर एक बड़ा आयोजन साबित होने जा रहा है। एक बार फिर कई खिलाड़ियों को नीलामी पूल में जाने का मौका भी मिलेगा। लेकिन मुंबई इंडियंस और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर जैसी फ्रैंचाइजी के प्रशंसकों को विराट कोहली या रोहित शर्मा की नीलामी के बारे में चिंतित नहीं होना चाहिए क्योंकि खिलाड़ी को टीम में बरकरार रखने की नीति अगले वर्ष भी जारी रहेगी।

21 नवंबर को आयोजित होने वाली मीटिंग में फ्रैंचाइज़ी मालिकों द्वारा इस बात का अंतिम निर्णय लिया जायेगा कि प्रत्येक टीम द्वारा कितने खिलाड़ियों को बरक़रार रखा जा सकता है।

आई पी एल कार्यकारी संस्था द्वारा खिलाड़ियों की रिटेंशन नीति के प्रस्ताव पर बंटी आई पी एल टीमें

“काफी संभावनाएं हैं कि अवधारण नीति इस बार की नीलामी के दौरान बरक़रार रहेगी। यही बहुसंख्य फ्रैंचाइजी भी चाहते हैं। एकमात्र मुद्दा जिसका हमें समाधान निकालने की जरूरत है, वह यह है कि कितने खिलाड़ियों को टीम में बरक़रार रखा जा सकता है। हमें यह पता करने की आवश्यकता है कि यह संख्या तीन खिलाड़ियों की होगी या पांच खिलाड़ियों की। इस उद्देश्य के लिए हमने मुंबई में 21 नवंबर को फ्रैंचाइजी मालिकों की बैठक भी बुलाई है, “बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा।

गुजरात लायंस और राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स की मौजूदा अभियान से विदाई हो रही है, जबकि राजस्थान रॉयल्स (आरआर) और चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) दो साल के स्पॉट फिक्सिंग प्रतिबंध के बाद वापस लौट रहे हैं और उन्हें उनके पुराने खिलाड़ियों को बनाए रखने का अधिकार होगा।

“पहली वरीयता हमेशा आरआर और सीएसके को ही मिलेगी। आईपीएल जीसी ने इसके बारे में शुरुआत में ही स्पष्ट कर दिया था। लेकिन अगर इनके खिलाड़ी नीलामी पूल में जाना चाहते हैं तो ये दोनों फ्रैंचाइजी इसके बारे में कुछ नहीं कर सकते हैं।”

आई पी एल टीमों को 3 खिलाड़ियों को रिटेन करने की मिल सकती है अनुमति

इससे पहले कई ऐसी अफवाहें भी उड़ी थीं कि मुंबई इंडियंस फ्रैंचाइज़ी के स्टार हार्दिक पंड्या तीन बार की चैंपियन टीम को छोड़ने का मन बना रहे हैं और इसलिए कई टीमें उनपर बड़ा दांव खेलने के लिए भी तैयार बैठी हैं। और यह बात सच भी साबित हो सकती है क्योंकि फ्रैंचाइज़ी के द्वारा पेश की जाने वाली बड़ी राशि को ले लेना या ठुकरा देना भी खिलाड़ी की इच्छा पर ही निर्भर करता है।

“खिलाड़ियों को संबंधित फ्रैंचाइजी के साथ जारी रखने या नीलामी पूल में शामिल होने का निर्णय करने का विकल्प दिया जाएगा। यह केवल उन पर ही निर्भर करेगा। यहाँ तक ​​कि अगर कोई फ्रैंचाइजी किसी विशेष खिलाड़ी के लिए अपना बटुआ खोलने का फैसला कर भी लेती है, तो उसकी इच्छा के खिलाफ वे ऐसा नहीं कर सकते हैं। यदि कोई खिलाड़ी पूल में शामिल होने का मन बना लेता है, तो कोई उसे रोक नहीं सकता। वह टीम में तभी रुकेगा, अगर वह अपनी फ्रैंचाइज़ी की पेशकश के नए प्रस्ताव से संतुष्ट हो जाए,” उन्होंने कहा।

Source: IPL 2018: Retentions to continue but franchisees can’t go against player’s wishes

Summary
Review Date
Reviewed Item
IPL 2018 - Retention to continue only if players agree
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: