कोहली, जाधव के शतकों ने भारत को इंग्लैंड से पहला मैच जिताया (Kohli Jadhav hundreds help India beat England in first ODI)

Kohli is delighted as India beat England in first ODI in Pune

भारत 356-7 (कोहली 122, जाधव 120)ने इंग्लैंड 350-7 (रूट 78, रॉय 73, स्टोक्स 62) को 3 विकट से 11 गेंद शेष रहते हराया

इंग्लैंड पुणे के मैदान में पहले एकदिवसीय मुक़ाबले के लिए अपनी पूरी शक्ति के साथ खेला लेकिन फिर भी घुटने झुकाने पड़ गए. पहले बल्लेबाज़ी करते हुए इंग्लैंड ने 350 रन का विहल स्कोर बनाया और फिर भारत के 4 विकेट सिर्फ़ 63 रन पर गिरा दिए, किंतु फिर भी जीत तक नहीं पहुँच पाए. उन्होने लक्ष्य का पीछा करने में माहिर विराट कोहली को 122 रन पर आउट कर दिया, लेकिन बाकियों ने मोर्चा संभाला. फिर उन्होने केदार जाधव जिन्होने मात्र 65 गेंद में शतक जड़ दिया को भी 120 रन पर आउट कर दिया, लेकिन हार्दिक पांड्या ने भारत की जीत अंत तक अविजीत रह कर निश्चित की. जिस मैच में कुल 700 रन बने हों उसका फ़ैसला भारत के हक में आज के 23वें छक्के से हुआ, निश्चित ही यह बहुत रोमांचित सीरीज़ होने वाली है.

कोहली ने अपना वही निरंकुश फॉर्म जिसने उन्हे 2016 में क्रिकेट के सभी प्रारूपों में राज कराया, को जारी रखते हुए अपने एकदिवसीय करियर का 27वा शतक बनाया, और उनका बखूबी साथ दिया 31 वर्षीय केदार जाधव ने, जिन्होने अपने 13वा एकदिवसीय मैच खेलते हुए करियर का दूसरा शतक बनाया, और कोहली के साथ सही 200 रन की साझेदारी करते हुए भारत को उसके इतिहास की लक्ष्य का पीछा करते हुए दूसरी सबसे बड़ी जीत दिलाई. जीत 11 गेंद शेष रहते मिल गयी जब हार्दिक पांड्या ने अपनी अच्छी गेंदबाज़ी प्रदर्शन के बाद ठंडे दिमाग़ से बल्लेबाज़ी करते हुए नाबाद 40 रन बनाकर भारत को विजय के पार पहुँचाया.

    विराट कोहली – भारत – रिकौर्ड़स (Virat Kohli Records)

कोहली जब आउट हुए तब भारत को जीत के लिए 88 रनों की आवश्यकता थी और वे अपने पतन से ख़ासे निराश थे. इसके कुछ देर बाद ही मांसपेशियों में खिचाव से झूंझ रहे जाधव भी आउट हो अगये और इंग्लैंड को जीत की उम्मीद मिली. लेकिन अंत में 7 रन प्रति ओवर से कम को बचा पाना इस छोटे मैदान पर मुश्किल साबित हुआ और केवल जेक बाल (67 रन पर 3 विकेट) और क्रिस वॉक्स ही सात रन प्रति ओवर से कम ख़र्चीले रहे.

Virat Kohli and Kedar Jadhav added 200 runs for 5th wicket against England in first ODI
Virat Kohli and Kedar Jadhav added 200 runs for 5th wicket against England in first ODI

पहले बल्लेबाज़ी करते हुए इंग्लैंड ने जेसन रॉय, जो रूट और बेन स्टोक्स के अर्धशतकों की बदौलत 350 रन का विशाल स्कोर बनाया, ऐसे उन्होने 2015 से अब तक 7वीं बार किया है, लेकिन इंग्लैंड के लिए दुर्भाग्यवश जल्दी मिलने वाले विकेटों में से कोहली नही रहे. स्टोक्स ने अंत में कोहली से एक ग़लती कराकर आउट करवा दिया, लेकिन तब तक वे केदार जाधव के साथ मिल कर 200 रन की साझेदारी कर चुके थे. इसके बाद जाधव केवल खड़े रहकर शॉट मारने पर मजबूर हो गए क्योंकि मांसपेशियों में खिचाव के कारण उनसे दौड़ा नहीं जा रहा था.

स्टोक्स ने ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी करते हुए इंग्लैंड के तरफ से भारत के खिलाफ दूसरा सबसे तेज़ अर्धशतक बनाते हुए इंग्लैंड को एक विशाल स्कोर तक पहुँचा दिया था. इंग्लैंग की पारी रूट के आउट होने के बाद लड़खड़ाती सी नज़र आ रही थी लेकिन स्टोक्स ने आक्रामक रवैया अपनाते हुए हुए केवल 33 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया, और अंतिम 8 ओवेरो में 105 रन बनाकर इंग्लैंड ने 2011 विश्व कप में भारत के खिलाफ बनाए 338 रनों के अपने कीर्तिमान को ध्वस्त कर दिया. भारत ने इससे पहले केवल दो बार और ज़्यादा रनों के लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा किया है (दोनो बार ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2013-14 की सीरीज़ में).

महेंद्र सिंह धोनी के बाद अपने पहले मैच में कप्तानी कर रहे विराट कोहली भले ही मैच की पहली पारी के बाद अपने गेंदबाज़ों से निराश दिखे लेकिन उसकी भरपाई उन्होने अपने बल्ले से कर दी. वे दूसरी पारी में बल्लेबाज़ी करना चाहते थे और लक्ष्य का पीछा करने के प्रति अपने स्नेह को दर्शित करते हुए उन्होनेअपनी पारी की चौथी गेंद ही स्टेडियम के बाहर पहुँचा दी और हर उस मौके काफयडा उठाया जो इंग्लैंड ने उन्हें विकेट की तलाश में प्रदान किया. उन्होने 5 छक्के जड़े और अनगिनत मौकों पर उनके बल्ले ने फील्ड का विच्च्छेदन किया.

केदार जाधव – भारत – रिकॉर्ड्स

जाधन ने पिछले साल ज़िंबाब्वे के खिलाफ शतक ज़रूर बनाया था कितनउ तब से वे टीम के साथ समय ही बिता रहे थे. आज कोहली जिस फॉर्म में थे जाधव को बस उनके साथ टिके रहना था लेकिन उन्होने उससे कहीं ज़्यादा किया. उन्होने साझेदारी में विराट से भी ज़्यादा योगदान दिया और इंग्लैंग के सबसे अच्छे गेंदबाज़ आदिल रशीद की जमकर पिटाई करते हुए उन्हे दो बार अटॅक से बाहर करवाया. भारत का स्कोर 262-4 था और 14 ओवर शेष थे, इसके बाद स्टोक्स और बॉल ने कुछ विकेट ज़रूर लिए लेकिन भारत को रोक नहीं पाए.

भारत को अपनी पारी की शुरुआत में बहुत मुश्किल हुई जब डेविड विली ने दोनो ओपेनेरॉं को सस्ते में आउट कर दिया. इसके बाद 3 साल बाद अपना पहला एकदिवसीय खेल रहे युवराज भी कुछ अच्छे शॉट खेलकर 15 रन पर स्टोक्स का शिकार बन गए. लेकिन भारत की उम्मीदों को सबसे बड़ा झटका तब लगा जब धोनी भी अगले ओवर में बॉल की एक छोटी उठती हुई गेंद पर कॅच आउट हो गए.

इंग्लैंड के ये एकदिवसीय टीम एक जिगयासा और ख़तरे के साथ भारत आई है. 2015 के निराशाजनक विश्व कप के बाद से इंग्लैंड विश्व की सबसे तेज़ गति से रन बनाए वाली एकदिवसीय टीम रही है – यह इंग्लैंड की हमेशा से कमज़ोरी मानी जाती थी. ईयन मॉर्गन की यह इंग्लैंड टीम कई कीर्तिमान तोड़ती आई है लेकिंग आज इन्होने अपने सबसे बड़े हार में बने स्कोर का कीर्तिमान बना दिया.

इंग्लैंग की इस नयी उत्तेजना का कुछ अंदाज़ा टी२० विश्व कप में लग गया था जब जेसन रॉय एक सितारे के रूप में उभरे थे और इंग्लैंड फाइनल के अंतिम ओवर तक जीत का प्रबल दावेदार नज़र आ रहा था. रॉय ने आज भी आक्रामक त्वार दिखाते हुए 73 रन बनाए, और केवल 36 गेंदों में अपना अर्धशतक बनाया.

पहले विकेट के लिए हेल्स के साथ मिलकर रॉय ने 39 रन जोड़े लेकिन जसप्रीत बूम्राह ने इस साझेदारी को शानदार रन आउट कर के तोड़ा. रॉय ने लेकिन अपना आक्रमण जारी रखते हुए पहले पावर प्ले में इंग्लैंग का स्कोर एक विकट पर 67 रन तक पहुँचा दिया.

रूट ने अपना समय लेकर बल्लेबाज़ी की और 72 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया. इंग्लैंड ने स्पिन के खिलाफ संभलकर बल्लेबाज़ी की और केवल रवीन्द्र जडेजा को एक विकट मिला. उन्होने रॉय को धोनी द्वारा स्टंप आउट कराया.

मॉर्गन जिन्होने बांग्लादेश में जाने से इनकार कर दिया था ने अपना आख़िरी मैच सितंबर में पाकिस्तान के खिलाफ कारडिफ में खेला था जिसमे इंग्लैंड को हार का सामना करना पड़ा था. भारत में भी दो अभ्यास मैचों में वे केवल 0 और 3 का स्कोर बना पाए थे. उन्होने आज संभाल कर बल्लेबाज़ी करी और पहले 12 गेंदों को खेलने के बाद अपना पहला छक्का जड़ा, इसके बाद उन्होने कुछ खूबसूरत शॉट ज़रूर खेले लेकिन 28 के निजी स्कोर पर हार्दिक पांड्या के शिकार बन गए.

Leave a Response

share on: