विश्व कप 2019 से पहले इन 5 खिलाड़ियों की नंबर 4 पर बल्लेबाज़ी का आंकलन होना चाहिए

5 players India should try at No. 4 before World Cup 2019

बल्लेबाज़ी, सीमित ओवरों के खेल में भारतीय टीम की ताकत रही है। खेल के इस बदलते प्रारूप में प्रत्येक टीम ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ की तलाश में है। भारत के पास भी आक्रामक बल्लेबाज़ हैं। भारतीय टीम इस समय अच्छी लय में है और प्रत्येक बल्लेबाज़ अपनी बल्लेबाज़ी क्रम के अनुसार बेहतरीन प्रदर्शन कर रहा है।

हाल ही में भारतीय टीम ने कई खिलाड़ियों को मौके दिए और खेल के अनुसार आक्रामक टीम तैयार की। बल्लेबाज़ी का ऊपरी क्रम और निचला तथा मध्य क्रम पूरी तरह मज़बूत है किंतु नंबर 4 टीम प्रबंधन के लिये अभी भी चिंता का विषय बना हुआ है।

नंबर 4 पर मनीष पाण्डेय और के एल राहुल को मौका दिया गया लेकिन वह इस मौके को भुना नहीं सके। दोनों को अच्छी शुरुआत मिली लेकिन उसे बड़ी पारी में नहीं बदल पाए।

विराट कोहली ने कहा 2019 विश्व कप के लिये तैयार है टीम

कुछ युवा खिलाड़ी जो कि घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं उन्हें भी इस क्रम पर बल्लेबाज़ी का मौका मिलना चाहिए। ये खिलाड़ी हैं-

करुण नायर
करुण नायर

करुण नायर

करुण नायर आसानी से रन बनाते हैं और दिलकश शॉट लगाते हैं। वह बड़ी आसानी से जगह ढूँढ़ कर चौका लगाते हैं।

नंबर 4 के बल्लेबाज को सही तकनीक से खेलने तथा छोर बदलने की कला ज्ञात होनी चाहिए। नायर के पास बेहतरीन तकनीक है और नंबर 4 के लिये वह बेहद उपयोगी खिलाड़ी हैं। वह आसानी से छोर बदलते हैं और रन बनाते हैं।

ऊपरी क्रम द्वारा बनाई गई पारी को आगे ले जाने में या ऊपरी क्रम के फेल होने पर टिक कर रह बनाने में वह सक्षम हैं। उन्होंने अब तक 53 श्रेणी A मुकाबले खेले हैं जिसमें 35.43 की स्ट्राइक रेट से 1453 रन बनाए हैं।

मंदीप सिंह
मंदीप सिंह

मंदीप सिंह

मंदीप सिंह पंजाब की तरफ से रणजी खेलने वाले आकर्षक खिलाड़ी हैं। क्रिकेट पंडित उन्हें उच्च कोटि का क्रिकेटर मानते हैं। वह कई तरह के शॉट लगाते हैं और शार्ट गेंदों पर काफी उपयोगी साबित होते हैं।

घरेलू क्रिकेट में उन्होंने लगातार रन बनाए हैं और मध्यक्रम के उपयोगी बल्लेबाज़ साबित हुए हैं। 2010 अंडर19 विश्व कप उन्होंने अपनी शैली से लोगों का ध्यान आकर्षित किया। उसके बाद से उन्होंने काफी कुछ सीखा है और मानसिक रूप से मज़बूत हुए हैं।

माइकल क्लार्क ने कहा एमएस धोनी 2023 विश्व कप तक खेल सकते हैं

A श्रेणी के मैचों में वह 3 शतक लगा चुके हैं लेकिन एकदिवसीय मुकाबलों में भारतीय टीम में उन्हें स्थान अब तक नही मिला है। उनकी क्षमता और कुशलता के मद्देनजर उन्हें भारतीय टीम में नंबर 4 पर मौका मिलना चाहिए।

संजू सैमसन
संजू सैमसन

संजू सैमसन

संजू सैमसन काफी समय से चर्चा में रहे हैं। वह आई पी एल और अंडर 19 विश्व कप खेल चुके हैं। सिर्फ 18 वर्ष की अवस्था में 2013 उन्होंने राजस्थान रॉयल्स की तरफ से आई पी एल में पदार्पण किया।

आई पी एल के अपने शुरुआती दो संस्करणों में उन्होंने प्रभावशाली प्रदर्शन किया।

कुछ कारणों से वह अपनी क्षमता के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर सके हैं और भारत के लिये मात्र एक टी20 मैच खेल सके हैं। लेकिन इसमें कोई संदेह नहीं है कि वह एक कुशल खिलाड़ी हैं।

वह बड़ी आसानी से बड़े शॉट खेल सकते हैं। यदि वह अपने शॉट चयन और निरंतरता पर ध्यान दें तो वह भारत के लिये नम्बर 4 के उपयोगी बल्लेबाज़ साबित हो सकते हैं। बल्लेबाज़ी के अतिरिक्त वह विकेटकीपिंग भी कर सकते हैं।

श्रेयस अय्यर
श्रेयस अय्यर

श्रेयस अय्यर

श्रेयस अय्यर अच्छी फॉर्म में हैं। मुम्बई के इस बल्लेबाज़ ने नाबाद शतक के जरिये भारत A को दक्षिण अफ्रीका A पर जीत दिलाई। वह एक प्रभावशाली बल्लेबाज़ हैं जो किसी भी गेंदबाज़ी क्रम का सामना करने में सक्षम हैं।

2019 विश्व कप में अपने चयन के लिये कड़ी मेहनत कर रहा हूँ: वृद्धिमान साहा

प्रथम श्रेणी क्रिकेट में उनका औसत 54.33 और सर्वाधिक स्कोर 202* है। A श्रेणी मैचों में उनके नाम दो शतक दर्ज हैं।

घरेलू क्रिकेट में वह निरंतर रन बनाते हैं और यदि भारतीय टीम में उन्हें नंबर 4 पर बल्लेबाजी का मौका मिलता है तो यह देखना दिलचस्प होगा कि वह किस तरह प्रदर्शन करते हैं।

आई पी एल में श्रेयस अय्यर दिल्ली डेयरडेविल्स की ओर से खेलते हैं और टीम की बल्लेबाजी में महत्वपूर्ण रोल अदा करते हैं। आई पी एल 2017 में उन्होंने 139 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए। उनके प्रदर्शन के आधार पर उन्हें भारतीय टीम में नंबर 4 पर बल्लेबाज़ी का मौका मिलना चाहिए।

बाबा अपराजित
बाबा अपराजित

बाबा अपराजित

रणजी ट्रॉफी में बाबा अपराजित तमिलनाडु की ओर से खेलते हैं। वह एक बेहतरीन और शांत स्वभाव के बल्लेबाज हैं। नंबर 4 के लिये वह आदर्श बल्लेबाज़ हैं क्योंकि उनके खेल में आक्रामकता और रक्षात्मक्ता दोनों है। जब भी वह लय में होते हैं, बड़ा स्कोर बनाते हैं।

घरेलू सत्र में उन्होंने निरंतर अच्छा प्रदर्शन किया है और इसीलिये उन्हें भारतीय टीम के मध्यक्रम में मौका मिलना चाहिए। वह खेल को बेहतर तरीके से समझते हैं और परिस्थिति के अनुसार बल्लेबाज़ी करते हैं।

A श्रेणी के मुकाबलों में उन्होंने 40 से अधिक औसत से 1713 रन बनाए हैं जिसमें चार शतक शामिल हैं। भारतीय टीम में कई आक्रामक बल्लेबाज़ हैं और ऐसे में अपने शांत स्वभाव और खेल के जरिये वह नंबर 4 के उपयोगी बल्लेबाज़ साबित हो सकते हैं।

Source: 5 players India should try at No. 4 before World Cup 2019

Summary
Review Date
Reviewed Item
5 players India should try at No. 4 before World Cup 2019
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: