एकदिवसीय विश्व कप के इतिहास के 5 सर्वश्रेष्ठ ऑल राउंडर

Top 5 all-rounders in Cricket World Cup

क्रिकेट के सबसे अधिक लोकप्रिय इस टूर्नामेंट में कई रोमांचक मैच और अद्भुत खिलाड़ी देखने को मिले हैं। 1975 में वेस्ट इंडीज के पहले विश्व कप ख़िताब जीतने के बाद से लेकर अब तक 11 विश्व कप हो चुके हैं जिसमें से ऑस्ट्रेलिया ने सर्वाधिक 5 बार यह ख़िताब अपने नाम किया।

विश्व कप में एक से बढ़ कर एक खिलाड़ी देखने को मिले। 2278 रनों के साथ सचिन तेंदुलकर विश्व कप के महानतम बल्लेबाज़ थे तो ग्लेन मैकग्राथ 71 विकेट लेकर सबसे सफल गेंदबाज़ रहे।

इस टूर्नामेंट में महानतम ऑल राउंडर जैसे सर इयान बॉथम, सर रिचर्ड हेडली, एंड्रू फ्लिंटॉफ और शेन वाटसन भी देखने को मिले।

आइए नज़र डालते हैं विश्व कप के इतिहास के सर्वश्रेष्ठ ऑल राउंडरों पर-

इमरान खान
इमरान खान

5. इमरान खान(पाकिस्तान)

इमरान खान पाकिस्तान के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटरों में से एक थे जिन्होंने पाकिस्तान में क्रिकेट का अर्थ बदल दिया। पाकिस्तान की तरफ से वह अब तक के सफलतम कप्तान हैं।

1992 में उनकी ही कप्तानी में पाकिस्तान ने इंग्लैंड को फाइनल में हरा कर पहली बार विश्व कप ख़िताब अपने नाम किया। यह वह मौका था जिसे कोई पाकिस्तानी कभी भी भूल नहीं सकता।

आई सी सी ने 2019 विश्व कप के बाद टेस्ट चैंपियनशिप और एकदिवसीय लीग शुरू करने का निर्णय लिया

इमरान खान ने पाकिस्तान की ओर से 88 टेस्ट और 175 एकदिवसीय मैच खेले जिसमे उन्होंने 7516 रन बनाए और 544 विकेट झटके। पाकिस्तान की ओर से उन्होंने 48 टेस्ट और 139 एकदिवसीय मैचों में कप्तानी की और टीम के लिए 5 विश्व कप खेले। जिसमे उन्होंने 666 रन बनाए और 34 विकेट लिए।

1992 की ऐतिहासिक जीत के 6 माह बाद उन्होंने सन्यास ले लिया।

स्टीव वॉ
स्टीव वॉ

4. स्टीव वॉ(ऑस्ट्रेलिया)

दाएं हाथ के बल्लेबाज और मध्यम गति के गेंदबाज़ ऑस्ट्रेलिया के महानतम क्रिकटरों में से एक हैं। 2004 में उन्हें ‘ऑस्ट्रेलियन ऑफ द ईयर’ का पुरस्कार दिया गया और 2010 में ‘आई सी सी क्रिकेट हॉल ऑफ़ फेम’ के लिए चयनित हुए।

स्टीव वॉ – ऑस्ट्रेलिया – रिकॉर्ड

स्टीव ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 168 टेस्ट और 325 एकदिवसीय मैच खेले जिसमे उन्होंने 35 शतकों सहित 18496 रन बनाए और 287 विकेट लिए।
1987- 1999 तक स्टीव ने ऑस्ट्रेलिया के लिए चार विश्व कप खेले जिसमे उन्होंने 978 रन बनाए और महत्वपूर्ण विकेटों समेत 27 विकेट लिए। स्टीव ने अपनी कप्तानी में 1999 में इंग्लैंड में खेले गए विश्व कप में पाकिस्तान को फाइनल में हरा कर ऑस्ट्रेलिया को दूसरा विश्व कप ख़िताब जिताया।

जैक कालिस
जैक कालिस

3. जैक कालिस(दक्षिण अफ्रीका)

जैक कालिस इस पीढ़ी के सर्वश्रेष्ठ ऑल राउंडर और महानतम खिलाड़ियो में से एक माने जाते हैं। वह एकमात्र ऐसे क्रिकेटर हैं जिसने टेस्ट मैचों और एकदिवसीय मैचों दोनों में 10000 रन बनाए और 250 विकेट लिए।

कालिस ने दक्षिण अफ्रीका के लिए पांच विश्व कप खेले जिसमे उन्होंने 1148 रन बनाने के अलावा 21 विकेट लिए। कालिस के पास बल्लेबाज़ी की सटीक तकनीक थी जिसके कारण वह नंबर 3 या 4 पर बल्लेबाजी करते हुए खेल के किसी भी प्रारूप में विश्व के किसी भी मैदान पर रन बना सकते थे।
कुछ लोग उनकी गेंदबाज़ी को उतना प्रभावशाली नहीं मानते लेकिन कालिस एक बेहतरीन तेज़ गेंदबाज़ थे। वह पूरे दिन अच्छी गति और स्विंग के साथ गेंदबाज़ी कर सकते थे। सन्यास लेने से पूर्व वह 25534 अंतर्राष्ट्रीय रन बना चुके थे और 577 विकेट ले चुके थे जो कि अपने आप में अद्भुत आंकड़े हैं।

कपिल देव
कपिल देव

2. कपिल देव(भारत)

भारत के दिग्गज क्रिकेटर कपिल देव सार्वकालिक श्रेष्ठ ऑल राउंडरों में से एक माने जाते हैं। 1983 में उनकी कप्तानी ने भारतीय टीम ने इंग्लैंड में खेले गए फाइनल मुकाबले में खतरनाक वेस्ट इंडीज टीम को हरा पहली बार विश्व कप ख़िताब जीता।

दाएं हाथ के सर्वश्रेष्ठ तेज़ गेंदबाज़ों में से एक कपिल देव अपने समय के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ों में से एक थे। उन्होंने अपने कैरियर में 131 टेस्ट और 225 एकदिवसीय मैच खेले जिसमे उन्होंने 9031 रन बनाए और 686 विकेट लिए।

क्रिकेट विश्व कप से जुड़े रोचक आंकड़े

1979 से 1992 तक कपिल देव ने भारत की ओर से चार विश्व कप खेले जिसमे उन्होंने 699 रन बनाए और 28 विकेट चटकाए। वर्ष 2002 में विस्डन ने उन्हें ‘इंडियन क्रिकेटर ऑफ़ द सेंचुरी’ अवार्ड से सम्मानित किया और 2010 में ‘आई सी सी क्रिकेट हॉल ऑफ़ फेम’ में उनका नाम सम्मिलित किया गया।

सनथ जयसूर्या
सनथ जयसूर्या

1. सनथ जयसूर्या(श्रीलंका)

अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी से इन्होंने एकदिवसीय क्रिकेट में क्रांति ला दी। बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज के रूप में कैरियर शुरू करने वाले जयसूर्या, कुछ ही समय में श्रीलंका के सलामी बल्लेबाज बन गए।

1996 में श्रीलंका की विश्व कप जीत में उन्होंने मुख्य भूमिका निभाई जिसके कारण उन्हें उनके ऑल राउंड प्रदर्शन के लिए ‘मैन ऑफ द टूर्नामेंट’ चुना गया। जयसूर्या ने श्रीलंका के लिए 445 एकदिवसीय और 110 टेस्ट मैच खेले जिसमें उन्होंने 20403 रन बनाए और 421 विकेट लिए।

अपने विश्व कप कैरियर में उन्होंने 1165 रन बनाए(विश्व कप में छठा सर्वाधिक) और 27 विकेट अपने नाम किए। 1997 में जयसूर्या को ‘विस्डन क्रिकेटर ऑफ द ईयर’ चुना गया। उन्होंने 38 टेस्ट मैचों और 117 एकदिवसीय मैचों में श्रीलंका की कप्तानी की।

Source: Top 5 all-rounders in ODI World Cup history

Summary
Review Date
Reviewed Item
Top 5 all-rounders in Cricket World Cup | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: