एकदिवसीय मैचों में सबसे खराब गेंदबाज़ी के आंकड़े

Worst Bowling stats in ODI cricket

नुवान प्रदीप, रोहित शर्मा के निशाने पर आए और एक अनचाहा रिकॉर्ड बना डाला

कोई भी खिलाड़ी अपनी गेंदबाज़ी के आंकड़े खराब कर अपनी टीम को परेशानी में डालना पसंद नहीं करता। लेकिन एकदिवसीय मैचों में कितना भी अच्छा गेंदबाज़ क्यों न हो, खराब दिन होने पर खूब रन लुटाता है। एकदिवसीय मैचों में सपाट पिच होने के कारण गेंदबाज़ों का काम और भी मुश्किल हो जाता है।

मोहाली में रोहित शर्मा की तीसरी दोहरी शतकीय पारी के दौरान कुछ ऐसा ही देखने को मिला। पहले मैच में भारत की बल्लेबाजी क्रम को झकझोरने वाले श्रीलंकाई गेंदबाज़ों की उन्होंने जम कर खबर मिली। इस मैच में सबसे अधिक रन नुवान प्रदीप ने लुटाए और इस अनचाही सूची में अपना नाम दर्ज किया। उन्होंने बिना विकेट लिए 106 रन दे डाले। यह एकदिवसीय मैचों में तीसरा सबसे खराब प्रदर्शन है। एक मैच में भुवनेश्वर कुमार के आंकड़े भी यही रहे थे।

ऐसे अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर जिन पर लगा थ्रोइंग का आरोप

ऑस्ट्रेलियाई तेज़ गेंदबाज़ मिक लेविस का कैरियर बेहद छोटा रहा। जोहान्सबर्ग में जहां दक्षिण अफ्रीका ने 435 रनों के लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा किया था, उस मैच में लेविस ने 10 ओवरों में 113 रन लुटाए और पिछले 11 वर्षों से इस सूची में शीर्ष पर बने हुए हैं।

इनके अलावा वहाब रियाज और टिम साउदी के नाम भी इस सूची में शामिल हैं जो कि साधारणतया अपनी टीम के लिए बेहतरीन गेंदबाज़ी करते हैं।

वेस्टइंडीज के टेस्ट कप्तान जेसन होल्डर को सिडनी में ए बी डिविलियर्स ने निशाने पर लिया और उन्होंने 10 ओवर में 104 रन दे डाले। भुवनेश्वर कुमार के अलावा इस सूची में भारतीय गेंदबाज़ों में विनय कुमार भी शामिल हैं जिन्होंने 2013 में बैंगलोर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 102 रन दिए थे। इसी मैच में रोहित ने अपना पहला दोहरा शतक भी बनाया था।

इस सूची में उन सभी गेंदबाज़ों के नाम दिए गए हैं जिन्होंने 10 ओवर या उससे कम में 100 या अधिक रन लुटाए:

इस सूची में उन सभी गेंदबाज़ों के नाम दिए गए हैं जिन्होंने 10 ओवर या उससे कम में 100 या अधिक रन लुटाए
इस सूची में उन सभी गेंदबाज़ों के नाम दिए गए हैं जिन्होंने 10 ओवर या उससे कम में 100 या अधिक रन लुटाए

Source: Stats: Worst bowling figures registered in an ODI game

Summary
Review Date
Reviewed Item
Worst Bowling stats in ODI cricket | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: