आंकड़े: कप्तान जिन्होंने अपने समकक्ष को एक ही टेस्ट मैच में दो बार आउट किया है

Captains to dismiss opposite Captains twice in a Test

इस समय केवल विंडीज और ज़िम्बाब्वे के पास ही जेसन होल्डर और ग्रीम क्रीमर के रूप में ऐसे कप्तान है जो कि नियमित रूप से गेंदबाज़ी करते है |

एक कप्तान का अपने प्रतिद्वंद्वी कप्तान को आउट करना आज के समय में आम बात नहीं है क्योंकि टीम प्रबंधन आज कल टीम को नेतृत्व करने का ज़िम्मा किसी बल्लेबाज़ या विकेटकीपर को देना पसंद करता है | इसीलिए, टेस्ट क्रिकेट में यह बहुत ही नायब उदाहरण है जब कोई कप्तान अपने प्रतिद्वंद्वी कप्तान को एक ही टेस्ट की दोनों पारियों में चलता करे | इस समय केवल विंडीज और ज़िम्बाब्वे के पास ही जेसन होल्डर और ग्रीम क्रीमर के रूप में ऐसे कप्तान है जो कि नियमित रूप से गेंदबाज़ी करते है | जहां होल्डर को क्रिकेट के लम्बे प्रारूप में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है, क्रीमर ने अपने प्रतिद्वंद्वी कप्तान को टेस्ट की दोनों पारियों में आउट करने का कारनामा श्रीलंका के विरुद्ध एक टेस्ट मैच में किया है |

    टेस्ट में सर्वाधिक 10 विकेट वाले शीर्ष 10 गेंदबाज

दिनेश चांदीमल, जो कि कप्तान के रूप में अपना पहला मैच खेल रहे थे, अपने विरोधी कप्तान के हाथों दोनों पारियों में क्रमशः 55 और 15 रनों पर आउट हुए | एक कप्तान के दूसरे कप्तान को दोनों पारियों में आउट करने का यह केवल 15वां मौका था और 2010 के बाद से ऐसा पहली बार हुआ था | इसलिए, चांदीमल श्रीलंका के दूसरे ऐसे कप्तान बन गए जो दोनों पारियों में अपने समकक्ष का शिकार बने हो, क्योंकि महेला जयवर्धने भी 2006 के लॉर्ड्स टेस्ट की दोनों पारियों में एंड्रू फ़्लिंटॉफ़ का शिकार बन चुके है |

ऐसे 15 मौकों में से, सर गैरी सोबर्स और रिची बेनॉ ही ऐसे कप्तान है जिन्होंने विरोधी कप्तान को एक टेस्ट की दोनों पारियों में आउट करने का कारनामा दो बार किया है | लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड 15 में से 4 बार ऐसी उपलब्धि का साक्षी बना है |

(आंकड़े 23 जुलाई 2017 तक के है)

Summary
Review Date
Reviewed Item
Captains to dismiss opposite Captains twice in a Test | CricketinHindi.com
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Response

share on: